काॅमेडी का सचिन तेंदुलकर कपिल शर्मा

काॅमेडी का सचिन तेंदुलकर कपिल शर्मा  

कपिल शर्मा आज हर घर में जाना माना नाम है। अपने ही अंदाज में किए अपने प्रोग्राम ‘काॅमेडी नाइट विद् कपिल’ में जहां वे अपने मेहमान कलाकारों को हंसी से सराबोर कर देते हैं वहीं दर्शकों को भी हंसा-हंसाकर दोहरा कर देते हैं। कपिल शर्मा ने अपनी काॅमिक टाइमिंग से सभी को कायल कर दिया है और आज तो आलम यह है कि कपिल के प्रोग्राम की लोकप्रियता इतनी अधिक है कि टीआर. पी. में उन्होंने अमिताभ बच्चन के कौन बनेगा करोड़पति पर भी बढ़त बना ली है और बाॅलीवुड के टाइगर खान की बिग बाॅस की छवि भी फीकी पड़ गई है। कपिल के दिल से पूछा जाए तो यह सफलता उन्हें न तो विरासत में मिली और न ही अत्यंत सुगमता से, इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है। कपिल का जन्म अमृतसर में हुआ था, उनके पिता पुलिस अधिकारी थे और भाई भी पुलिस में ही थे। कपिल ने अमृतसर के हिंदू काॅलेज और जालंधर के एपीजे काॅलेज आॅफ फाइन आर्ट्स से थियेटर में ग्रेजुएशन किया। उन्होंने काॅमर्शियल आटर््स में डिप्लोमा किया है और जालंधर के हंसराज महिला महाविद्यालय और आभा बंसल, फ्यूचर पाॅइंट कपिल शर्मा बी.डी. आर्य विद्यालय में ड्रामा टीचर के तौर पर काम करने लगे। 2005में उन्होंने स्टैंडअप काॅमेडियन के तौर पर पंजाबी काॅमेडी शो ‘हंसते हंसाते रहो’ में जीत हासिल की। उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2000 में उस्तादों के उस्ताद, काॅमेडी सर्कस, छोटे मियां और 2009 में ‘हंस बलिए’ में गिन्नी के साथ काम किया। उन्होंने ‘काॅमेडी सर्कस के तानसेन’ से और ‘काॅमेडी सर्कस का नया दौर में भी जीत हासिल की। कपिल शर्मा एक बेहतरीन सिंगर भी हंै और ‘स्टार या राॅकस्टार’ नामक प्रोग्राम में द्वितीय स्थान पर रहे। 2013 में उन्होंने ‘कहानी काॅमेडी सर्कस’ में फिर से अपनी जीत का झण्डा गाड़ा और शीघ्र ही ‘काॅमेडी नाईट विद् कपिल’ की शुरुआत कर दी। कपिल के अनुसार वे नियमित चल रहे शो से कुछ अलग करना चाहते थे इसलिए उन्होंने अपने शो को पांच हिस्सों में बांटा-स्टैंडअप काॅमेडी, ड्रामा, फैमिली, सेलिब्रिटीज और दर्शकों के साथ बातचीत। इसीलिए पूरे शो में एकरसता नहीं रहती है और पार्टिसिपेशन की वजह से यह मजेदार भी बना रहता है। कपिल के साथी कलाकारों का अभिनय भी बहुत जानदार होता है और कार्यक्रम के जज सिद्धू के हर कलाकार पर बनाये शेर एवं ठहाके भी दर्शकों को बहुत पसंद आते हैं। यह कपिल के शो का ही चमत्कार है कि आजकल बड़ा से बड़ा स्टार अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए उनके शो में आने को उत्सुक रहते हैं और आकर खूब धमाल और मस्ती करते हैं। अभी कुछ महीने पहले 25 सितंबर को कपिल के सितारे कुछ गर्दिश में थे या यू कहें कि उनकी कामयाबी को किसी की नजर लग गई थी कि उनकी काॅमेडी शो के सेट पर अचानक आग लग गई और उन्हें 20 करोड़ रूपये से भी अधिक का नुकसान हुआ। लेकिन कपिल ने अपने शो को जारी रखा और प्रोड्यूसर के रूप में अपना प्रोडक्शन हाउस खोल दिया है जहां वे अभिनेता के साथ-साथ राईटर व प्रोड्यूसर की भूमिका भी बखूबी निभा रहे हैं। इसी साल कपिल शर्मा को ‘‘सी.एन. एन.आई. बी. एन.’’ ‘इंडियन आॅफ दी ईयर’ अवार्ड कार्यक्रम में ‘एंटरनेटर आॅफ दी ईयर अवार्ड फाॅर 2013’ भी दिया गया। इसके अतिरिक्त ये सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता, सर्वश्रेष्ठ हास्य शो, सबसे मनोरंजक हास्य शो आदि के अनेकों अवार्ड जीत चुके हैं। कपिल के अनुसार वे केवल हास्य अभिनेता के रूप में ही सीमित नहीं रहना चाहते, बल्कि फिल्मों में भी अपनी धाक जमाना उनका सपना था और अब यह सपना पूरा होने का समय आ गया है और उन्हें यशराज फिल्म्स ने अपनी तीन फिल्मों के लिए साईन कर लिया है और ‘बैंक चोर’ नाम की फिल्म शीघ्र ही बनने जा रही है इसीलिए अब शायद यह शो सिर्फ रविवार को ही आयेगा। हाल ही में कपिल शर्मा को अपने बर्थ डे का सबसे बेहतरीन गिफ्ट मिला। जी हां 2 अप्रैल 2014 को कपिल ने अपने बर्थ डे के दिन फिल्म के महानायक अमिताभ बच्चन जी के साथ अपना प्रोग्राम शूट किया और अपने इस दिन पर अपने जीवन के बेहतरीन तोहफे के लिए भगवान और अपनी मां का शुक्रिया अदा किया। हकीकत में दो दिन का अमिताभ बच्चन जी वाला यह शो न केवल कपिल बल्कि दर्शकों के लिए भी बेहतरीन था जिसमें अमिताभ जी ने कपिल के साथ जम कर मस्ती की और अपने गाने, डायलाॅग एवं डाँस से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। फ्यूचर पाॅइंट की ओर से भी कपिल शर्मा को जन्मदिन की लख-लख बधाइयां। कपिल शर्मा की ग्रह नक्षत्रों का आकलन हम चंद्र कुंडली से ही करेंगे क्योंकि उनकी चंद्र कुंडली बहुत बलशाली है। कपिल शर्मा का जन्म कुंभ राशि में हुआ है जो कि वायु तत्व एवं स्थिर स्वभाव की राशि है, इसी राशि में चंद्र के साथ बुध की युति बन रही है। कला का कारक शुक्र उच्चराशिस्थ है। ज्ञान का कारक गुरु स्वयं बुद्धि, अभिनय भाषण कला, वाक्पटुता, व्यंग्य शक्ति के कारक बुध की राशि में विराजमान है और शनि से युति बनाकर सूर्य, मंगल और शुक्र की दृष्टि में है। अर्थात् कन्या राशि पर पांच ग्रहों का प्रभाव पड़ रहा है जिसकी वजह से कपिल की अभिनय, कला, हास्य, व्यंग्य, विनोद पर बहुत अच्छी पकड़ है। उनकी वाक्पटुता इस बात से ही पता चल जाती है कि जब उनके शो में एक महिला ज्योतिषी ने कहा कि आप का शुक्र बलवान है तो वे तुरंत बोले मैडम शुक्र का पता नहीं शनि और रवि जरूर मेहरबान हैं क्योंकि उनका प्रोग्राम शनिवार और रविवार को कलर टी.वी. पर प्रसारित होता है और इसी प्रोग्राम से उन्हें अपार सफलता मिली है। कपिल की कुंडली में चंद्र स्थिर राशि में होने से अन्य हास्य कलाकारों की अपेक्षा वे अधिक गहराई, स्थिरता व अपने कार्य के प्रति दृढ़ दिखाई देते हैं। वाणी का स्वामी गुरु और चंद्रेश शनि वाणी के कारक बुध की राशि में अष्टम भाव में स्थित होने से इनकी सगं ीत गायन के क्षेत्र में विशेष रुचि है। भाग्येश, कर्मेश और सप्तमेश ग्रहों की युति इनके धन स्थान पर बनने से इन्हें जीवन में धन, यश, मान-सम्मान की भी प्राप्ति हो रही है। धनेश व लाभेश गुरु व लग्नेश शनि की अष्टम भाव में युति इन्हें जहां एक ओर अचानक बड़ा धन लाभ व सफलता प्रदान करेगी वहीं कभी अचानक कोई बड़ा नुकसान भी दे सकती है। इसी कारण सितंबर 2013 में अचानक इनके सेट पर आग लग गई एवं अचानक 20 करोड़ का नुकसान हो गया। परंतु अभी शनि का गोचर भाग्य भाव में अपनी उच्च राशि में चल रहा है जो निश्चित रूप से इन्हें बड़ी सफलता प्रदान करेगा। कपिल शर्मा की कुंडली में बुध और चंद्रमा की कुंभ राशि में युति बुध को बहुत सशक्त बना रही है और बुध के प्रभाव से भी कपिल अपने व्यंग्य से सेट पर आए बड़े फिल्म स्टार के साथ दर्शकों को भी मंत्रमुग्ध कर देते हैं और साथ ही उन्हें अपनी वाक्पटुता से निरुŸार भी कर देते हैं। कपिल की चंद्र कुंडली में अनेक योग बन रहे हैं - उŸाम बुद्धि, धन, कौशल योग: सूर्य से चंद्रमा 3, 6, 9, 12 भावों में हो तो यह योग बनता है। कपिल की कुंडली में यह पूर्ण रूप से बन रहा है जिससे इन्हें उŸाम बुद्धि, कला-कौशल व धन प्राप्त हो रहा है। सुनफा, अनफा व दुरधरा योग: सूर्य को छोड़कर चंद्रमा से द्वितीय भाव में ग्रह होने से सुनफा योग, उसी प्रकार सूर्य को छोड़कर बारहवें भाव में ग्रह हो तो अनफा योग एवं चंद्रमा के दोनों ओर ग्रह हों तो दुरधरा योग बनता है। इनकी कुंडली में चंद्रमा से द्वितीय भाव में ग्रह होने से सुनफा योग तथा चंद्रमा से बारहवें भाव में केतु होने से अनफा योग और चंद्रमा के दोनों ओर ग्रह होने से दुरधरा योग बन रहा है जिसके फलस्वरूप कपिल पराक्रमी, सुंदर, सुशील, बुद्धिमान व विख्यात हो गये हैं। यह अत्यंत भाग्यशाली योग है जिसके कारण एक साधारण कुल में जन्म लेकर भी ये एक विश्व विख्यात कलाकार बन गये हैं। कपिल की चंद्र कुंडली में राहु की छठे भाव में स्थिति भी शुभ है और यह इन्हें प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करने की क्षमता प्रदान करती है और अपने शो की कई बार आलोचना होने के बावजूद कपिल अपने तन मन से अपने कार्य में डटे हुए हैं और रोज नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। निश्चित रूप से गोचरस्थ शनि इन्हें अपार सफलता प्रदान करेगा। लेकिन कपिल को भी टी. वी. के शहंशाह के पद पर कायम रहने के लिए साफ सुथरी और ताजगी भरी काॅमेडी ही पेश करनी होगी और उसमें नयापन भी लाना होगा।


रत्न एवं रूद्राक्ष विशेषांक  मई 2014

फ्यूचर समाचार के रत्न एवं रूद्राक्ष विशेषांक में अनेक रोचक और ज्ञानवर्धक आलेख हैं जैसे- रूद्राक्ष की ऐतिहासिक पृष्ठ भुमि, रूद्राक्ष की उत्पत्ति, रूद्राक्ष एक वरदान, रूद्राक्ष धारण करने के नियम, ज्योतिष में रत्नों का महत्व, रत्न धारण का समुचित आधार, रत्न धारण से रोगों का निदान, उपरत्न, लग्नानुसार रत्न निर्धारण, रत्नों का महत्व और स्वास्थ्य आदि। इसके अतिरिक्त पंच पक्षी के रहस्य, वट सावित्री व्रत, अक्षय तृतिया एवं आपकी राशि, ग्रह और वकालत, एक सभ्य समाज के निर्माण की प्रक्रिया, अगला प्रधानमंत्री कौन, कुण्डली के विभिन्न भावों में केतु का फल, सत्य कथा, पुंसवन संस्कार, हैल्थ कैप्सूल, शंख थेरेपी, ज्योतिष और महिलाएं तथा वास्तु प्रश्नोत्तरी व वास्तु परामर्श जैसे अन्य रोचक आलेख भी सम्मिलित किये गये हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.