Sorry, your browser does not support JavaScript!

नवीनतम

अपराधियों की हस्त रेखाएं

अपराध उन कुकृत्यों को कहा जाता है, जो समाज द्वारा निर्धारित किये गये मर्यादा, नियमों, कानूनों और रीति-रिवाजों का उल्लंघन करते हुए किये जाते हों; चाहे उनके पीछे कोई भी कारण रहे हों। व्यक्तिगत स्वार्थ, दूसरों को पीड़ा पहुंचाना, समाज के नियम-कानूनों का माखौल उड़ाना आदि इनकी वजह हो सकते हैं।

स्वस्थ तथा अस्वस्थ हाथ के लक्षण

किसी पहलू को उजागर करने में केवल एक पहलू विशेष पर ध्यान देने से ही परिणाम संतोषजनक नहीं मिलेंगे। इसके लिए संयम से सामुद्रिक शास्त्र का स्वाध्याय तथा मनन कर, अनेक पहलू टटोलने होंगे। तबही इस शास्त्र की असीम गहराइयों तक पहुंच कर संतोषजनक परिणाम पा सकेंगे।

अंगूठे का रहस्य

- अगर अंगूठा पीछे की ओर ज्यादा मुड़ता है, तो वह व्यक्ति अपनी शक्ति को व्यर्थ गंवाता है। ऐसे लोगों को अपने किसी भी कार्य में स्थिरता को महत्व देना चाहिए; वर्ना समय अनुसार वे सब बंदरगाह के व्यापारी बन जाते हैं।

हस्त रेखाएं एवं स्वास्थ्य

आजकल बहुत से पति-पत्नी यह प्रश्न अक्सर करते हैं कि उनमें से पहले कौन स्वर्ग सिधारेगा। इस संबंध में जीवन रेखा का सूक्ष्म परीक्षण करें तथा साथ में विवाह रेखा, जो अनामिका (छोटी उंगली) के नीचे आड़ी रेखा के रूप में पायी जाती है, का भी परीक्षण करें।

मणिबंध रेखाओं का विचार

मणिबंध हाथ का प्रारंभिक हिस्सा है। इसे केतु ग्रह का स्थान भी कहते हैं। वस्तुतः हाथ में मणिबंध ही मूल स्थान है, जो 3 अथवा 3 से अधिक रेखाओं से सुशोभित हो। ‘कलाई’ के नाम से भी यह प्रसिद्ध है।

विडियोजऔर देखें

सनातन धर्म और अध्यात्म

सनातन धर्म और अध्यात्म

ज्योतिष पूर्णत: वैज्ञानिक हैं। ज्योतिष मानव कल्याण का एक बहुत बड़ा साधन हैं। इसका प्रयोग कर व्यक्ति स्वयं को श्रेष्ठ बना सकता है। ज्योतिष न केवल भविष्य को समझने का साधन हैं बल्कि यह मन को समझने का सबसे महत्वपूर्ण साधन हैं। जो व्यक्ति अपने मन पर नियंत्रण रखने लगता है वह अपने जीवन की सभी गतिविधियों पर नियंत्रण कर लेता है।

रुद्राक्ष

रुद्राक्ष

रुद्राक्ष को भगवान शिव का अश्रु कहा गया है। शास्त्रों में रुद्राक्ष सिद्धिदायकए पापनाशकए पुण्यवर्धकए रोगनाशकए तथा मोक्ष प्रदान करने वाला कहा गया हैद्य रुद्राक्ष तन.मन की बहुत सी बीमारियों में राहत पहुँचाता है।

प्रारंभिक ज्योतिष

प्रारंभिक ज्योतिष

आप ज्योतिष क्षेत्र में रूचि रखते हैं लेकिन सीखने का माध्यम अभी तक प्राप्त नहीं हुआ था या ज्योतिष में ज्ञान था लेकिन क्रमबद्ध नहीं था प्रारंभिक ज्योतिष की यह सीडी आपकी आवश्यकता को समझकर ही तैयार की गई है। अवश्य देखिए -

ज्योतिष उपाय

ज्योतिष उपाय

ज्योतिष में संपूर्ण ज्ञान होते हुए भी तबतक वह अधूरा है जबतक कि उसके उपाय न मालूम हो। यह ठीक उसी तरह है जैसे डाॅक्टर बीमारी को समझे लेकिन दवा न बता पाए। इस सीडी के द्वारा आप जान पाएंगे कि किस कुंडली के लिए तथा किस समस्या के लिए क्या उपाय किया जाना चाहिए। अवश्य जानिए -

पुस्तकेंऔर देखें

सरल ज्योतिष

सरल ज्योतिष

सरल ज्योतिष पुस्तक की रचना ज्योतिष के प्रारंभिक छात्रों की रूचि, योग्यता, अवस्था और देश काल पात्र को ध्यान में रखते हुए की गयी हैं। सरल ज्योतिष पुस्तक में ज्योतिष से सम्बंधित खगोल ज्ञान, गणित, ज्योतिष फलित, गोचर, पंचांग के अध्ययन तथा कुंडली मिलान के प्रारंभिक ज्ञान के विषयों को लिखा गया हैं।

फेंगशुई

फेंगशुई

फेंगशुई पुस्तक हमें यह बताती है की घर की सजावट, फर्नीचर, पर्दों के रंग, कमरों के रंग किस किस तरह से यह सब चीजें हमारे जीवन को प्रभावित करती हैं। फेंगशुई आतंरिक वातावरण को नियंत्रित करने, घर में जीवन को शांतिपूर्ण एवं सरस बनाने में बेजोड़ सहायक हैं।

कुंडली  मिलान किताब

कुंडली मिलान किताब

सरल अष्टकूट मिलान पुस्तक कुंडली मिलान की आवश्यकता कब, क्यों और कैसे, तथा विवाह की असफलता के कारणों पर प्रकाश डालती हैं। कुंडली मिलान द्वारा हम यह जानने की कोशिश करते है की लडके व् लड़की की प्रकृति, मनोवृति एवं अभिरुचि क्या है।

सरल हस्तरेखा शास्त्र

सरल हस्तरेखा शास्त्र

हस्तरेखा विज्ञान भारतीय समाज और परिवेश में तो युगों पहले से ही प्रचलित है। माना जाता है की समुद्र ऋषि ऐसे पहले भारतीय ऋषि थे, जिन्होंने क्रमबद्ध रूप से ज्योतिष विज्ञान की रचना की।

नवीनतम रिसर्च जर्नल कलेक्शंसऔर देखें

लेख

अपराध उन कुकृत्यों को कहा जाता है, जो समाज द्वारा निर्धारित किये गये मर्यादा, नियमों, कानूनों और रीति-रिवाजों का उल्लंघन करते हुए किये जाते हों; चाहे उनके पीछे कोई भी कारण रहे हों। व्यक्तिगत स्वार्थ...और पढ़ें

किसी पहलू को उजागर करने में केवल एक पहलू विशेष पर ध्यान देने से ही परिणाम संतोषजनक नहीं मिलेंगे। इसके लिए संयम से सामुद्रिक शास्त्र का स्वाध्याय तथा मनन कर, अनेक पहलू टटोलने होंगे। तबही इस शास्त्र क...और पढ़ें

- अगर अंगूठा पीछे की ओर ज्यादा मुड़ता है, तो वह व्यक्ति अपनी शक्ति को व्यर्थ गंवाता है। ऐसे लोगों को अपने किसी भी कार्य में स्थिरता को महत्व देना चाहिए; वर्ना समय अनुसार वे सब बंदरगाह के व्यापारी ...और पढ़ें

आजकल बहुत से पति-पत्नी यह प्रश्न अक्सर करते हैं कि उनमें से पहले कौन स्वर्ग सिधारेगा। इस संबंध में जीवन रेखा का सूक्ष्म परीक्षण करें तथा साथ में विवाह रेखा, जो अनामिका (छोटी उंगली) के नीचे आड़ी रेखा ...और पढ़ें

मणिबंध हाथ का प्रारंभिक हिस्सा है। इसे केतु ग्रह का स्थान भी कहते हैं। वस्तुतः हाथ में मणिबंध ही मूल स्थान है, जो 3 अथवा 3 से अधिक रेखाओं से सुशोभित हो। ‘कलाई’ के नाम से भी यह प्रसिद्ध है।...और पढ़ें

विधाता ने हथेली पर जो रेखाएं बनायी हैं, वे मनुष्य को गहन रूप से प्रभावित करती हंै। विभिन्न रेखाएं अपनी-अपनी तरह से जीवन में घटने वाली घटनाओं को मोड़ देती हैं। प्रस्तुत है इन रेखाओं द्वारा होने वाले अ...और पढ़ें

हस्त परीक्षण के समय तक मनुष्य के जीवन में कितनी घटनाएं घटित हो चुकी हैं और कितनी आने वाले समय में घटित होंगी, इसका सटीक कथन करने के लिए उसकी वर्तमान आयु की गणना कार्य में प्रवीण् ाता प्राप्त कर ...और पढ़ें

जीवन में एक ऐसा पड़ाव भी आता है कि हमंे अपने करियर का या व्यवसाय का चुनाव करना पडता है। करियर का चुनाव करते समय अपनी रूचि को अधिक प्राथमिकता दी जाती है। हस्त रेखाओं व ग्रहांे की सहायता लेना व्यक्ति क...और पढ़ें

और लेख पढ़ें