Sorry, your browser does not support JavaScript!

नवीनतम

क्यों नहीं ले पाते हम दीर्घ जीवन का आनंद

मानवी प्रगति के लिए इन दिनों पहले की अपेक्षा कहीं अधिक गुंजाइश है । साधनों में कमी नहीं, वृद्धि हुई है । पूर्वजों के पास भोजन के घटिया साधन थे, उनसे अधिक प्रकार के शाक, भाजी, फल, मेवे हम प्राप्त कर लेते हैं । चिकनाई की मात्रा भी अपेक्षाकृत अधिक हिस्से में आती है । जरा भी बीमारी होने पर पड़ोस में ही हकीम-डाॅक्टर मिल जाते हैं । नित नई औषधियों के अविष्कार होते चलते हैं । अस्पताल से लेकर प्रयोगशालाओं और शोधशालाओं की धूम है । जिससे किसी को बीमारी का कष्ट न सहना पड़े । औसत आदमी के भोजन में पौष्टिक तत्वों की मात्रा पूर्वजों की अपेक्षा हल्की नहीं भारी ही पड़ती है । ऐसी दशा में हम सबका स्वास्थ्य अच्छा ही होना चाहिए, किन्तु देखने में स्थिति इसके विपरीत ही आती है ।

विटामिन से दीजिए सौन्दर्य को कुन्दन सी दमक

विटामिन की खोज ने हमारे भोजन की पौष्टिकता में क्रांति ला दी। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक व्यक्ति इनका उपयोग करते है, ताकि ये उन्हें शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रख सकें। विटामिन के पौष्टिक तत्वों से सभी लोग परिचित हैं, परन्तु उनके दूसरे घटकों को कम ही लोग जानते हैं। हाल ही के वर्षों में हुए कुछ अनुसंधानों ने यह सिद्ध कर दिया हैं कि त्वचा और बालों को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन का उपयोग आवश्यक हैं। त्वचा रोग विशेषज्ञों के अनुसार विटामिन ए और इ सौन्दर्य वृद्धि में सहायक होते है। मुंहासे, धूप से प्रभावित त्वचा व उम्र से पहले बढ़ती आयु का अहसास कराती त्वचा के लिए विटामिन का उपयोग लाभदायक हो सकता हैं।

तैराकी से बनाइए शरीर को सुन्दर व सुडौल

तैराकी शरीर को सुन्दर एवं सुडौल बनानेवाला एक अत्यंत लाभप्रद व्यायाम हैं। इस व्यायाम से शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। तैराकी से विशेषकर बांह, पांव, गला, टांग तथा पेट की मांसपेशियों को बल मिलता है। इसके साथ ही श्वसन क्रिया में सुधार आता हैं तथा हृदय स्पंदन के दर में तीव्रता जा जाती हैं। निष्कर्ष यह हैं कि तैराकी से शरीर चुस्त-दुरूस्त और स्वस्थ बनता हैं और इसकी कामना सभी व्यक्ति करते हैं।

जब आप हो कोलेस्ट्रोल से परेशान

पीले रंग का चर्बीदार तत्व कोलेस्ट्रोल शरीर का एक आवश्यक पदार्थ हैं। मजे की बात यह हैं कि आवश्यक होते हुए भी इसके बारे में लोगों की राय अच्छी नहीं हैं। उसका एक कारण हैं, यह हृदय रोगों का जनक हैं। प्रत्येक वह व्यक्त् िजिसके खून में कोलेस्ट्रोल की मात्रा अधिक हो, वह कभी भी हृदयाघात या उच्च रक्तचाप का शिकार हो सकता हैं। कोशिकाओं की बाहरी झिल्ली को बनानेवाला यहीं होता हैं तथा पित्त के पाचक रसों के मिश्रणों में भी यह मुख्य तत्व के रूप में होता हैं। यह चर्बी के आवरण में रहता हैं और एस्ट्रोजन तथा एंड्रोजन नामक सेक्स हारमोनों को पृथक करता हैं। इसके अतिरिक्त यह चर्बी को आवश्यक स्थानों पर पहुंचाना, शरीर को सुरक्षात्मक कवच प्रदान करना, लाल रक्त कणों तथा मांसपेशियों की झिल्लियों की सुरक्षा करना, जैसे महत्वपूर्ण काम करता हैं।

सुन्दर व स्वस्थ रहने के लिए टहलना ज़रूरी

लगभग तीन दशक पहले जब मैं काॅलेज जा रही थी, तभी एक दिन रास्ते में, एक वृद्ध व्यक्ति से मेरी मुलाकात हुई, जो लहलहाते धान के खेतों के बीच संकरे रास्ते पर बड़ी तेजी से चला जा रहा था। उसके सिर के बाल रूई के समान सफेद व मुलायम थे। आंखें चमकदार थीं और वह अत्यंत सुडौल एवं स्वस्थ दिखलायी दे रहा था। चलते हुए हमने एक दूसरे का परिचय पूछा, हमने तमाम विषयों पर बातचीत की जैसे उनकी आयु, उनके विचार, विज्ञान और तकनीक इत्यादि।

विडियोजऔर देखें

सनातन धर्म और अध्यात्म

सनातन धर्म और अध्यात्म

ज्योतिष पूर्णत: वैज्ञानिक हैं। ज्योतिष मानव कल्याण का एक बहुत बड़ा साधन हैं। इसका प्रयोग कर व्यक्ति स्वयं को श्रेष्ठ बना सकता है। ज्योतिष न केवल भविष्य को समझने का साधन हैं बल्कि यह मन को समझने का सबसे महत्वपूर्ण साधन हैं। जो व्यक्ति अपने मन पर नियंत्रण रखने लगता है वह अपने जीवन की सभी गतिविधियों पर नियंत्रण कर लेता है।

रुद्राक्ष

रुद्राक्ष

रुद्राक्ष को भगवान शिव का अश्रु कहा गया है। शास्त्रों में रुद्राक्ष सिद्धिदायकए पापनाशकए पुण्यवर्धकए रोगनाशकए तथा मोक्ष प्रदान करने वाला कहा गया हैद्य रुद्राक्ष तन.मन की बहुत सी बीमारियों में राहत पहुँचाता है।

प्रारंभिक ज्योतिष

प्रारंभिक ज्योतिष

आप ज्योतिष क्षेत्र में रूचि रखते हैं लेकिन सीखने का माध्यम अभी तक प्राप्त नहीं हुआ था या ज्योतिष में ज्ञान था लेकिन क्रमबद्ध नहीं था प्रारंभिक ज्योतिष की यह सीडी आपकी आवश्यकता को समझकर ही तैयार की गई है। अवश्य देखिए -

ज्योतिष उपाय

ज्योतिष उपाय

ज्योतिष में संपूर्ण ज्ञान होते हुए भी तबतक वह अधूरा है जबतक कि उसके उपाय न मालूम हो। यह ठीक उसी तरह है जैसे डाॅक्टर बीमारी को समझे लेकिन दवा न बता पाए। इस सीडी के द्वारा आप जान पाएंगे कि किस कुंडली के लिए तथा किस समस्या के लिए क्या उपाय किया जाना चाहिए। अवश्य जानिए -

पुस्तकेंऔर देखें

सरल ज्योतिष

सरल ज्योतिष

सरल ज्योतिष पुस्तक की रचना ज्योतिष के प्रारंभिक छात्रों की रूचि, योग्यता, अवस्था और देश काल पात्र को ध्यान में रखते हुए की गयी हैं। सरल ज्योतिष पुस्तक में ज्योतिष से सम्बंधित खगोल ज्ञान, गणित, ज्योतिष फलित, गोचर, पंचांग के अध्ययन तथा कुंडली मिलान के प्रारंभिक ज्ञान के विषयों को लिखा गया हैं।

फेंगशुई

फेंगशुई

फेंगशुई पुस्तक हमें यह बताती है की घर की सजावट, फर्नीचर, पर्दों के रंग, कमरों के रंग किस किस तरह से यह सब चीजें हमारे जीवन को प्रभावित करती हैं। फेंगशुई आतंरिक वातावरण को नियंत्रित करने, घर में जीवन को शांतिपूर्ण एवं सरस बनाने में बेजोड़ सहायक हैं।

कुंडली  मिलान किताब

कुंडली मिलान किताब

सरल अष्टकूट मिलान पुस्तक कुंडली मिलान की आवश्यकता कब, क्यों और कैसे, तथा विवाह की असफलता के कारणों पर प्रकाश डालती हैं। कुंडली मिलान द्वारा हम यह जानने की कोशिश करते है की लडके व् लड़की की प्रकृति, मनोवृति एवं अभिरुचि क्या है।

सरल हस्तरेखा शास्त्र

सरल हस्तरेखा शास्त्र

हस्तरेखा विज्ञान भारतीय समाज और परिवेश में तो युगों पहले से ही प्रचलित है। माना जाता है की समुद्र ऋषि ऐसे पहले भारतीय ऋषि थे, जिन्होंने क्रमबद्ध रूप से ज्योतिष विज्ञान की रचना की।

नवीनतम रिसर्च जर्नल कलेक्शंसऔर देखें

लेख

क्यों नहीं ले पाते हम दीर्घ जीवन का आनंद

जून 2016

व्यूस: 843

मानवी प्रगति के लिए इन दिनों पहले की अपेक्षा कहीं अधिक गुंजाइश है । साधनों में कमी नहीं, वृद्धि हुई है । पूर्वजों के पास भोजन के घटिया साधन थे, उनसे अधिक प्रकार के शाक, भाजी, फल, मेवे हम प्राप्त कर ले...और पढ़ें

विटामिन से दीजिए सौन्दर्य को कुन्दन सी दमक

जून 2016

व्यूस: 1330

विटामिन की खोज ने हमारे भोजन की पौष्टिकता में क्रांति ला दी। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक व्यक्ति इनका उपयोग करते है, ताकि ये उन्हें शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रख सकें। विटामिन के पौष्टिक तत्वों ...और पढ़ें

तैराकी से बनाइए शरीर को सुन्दर व सुडौल

जून 2016

व्यूस: 805

तैराकी शरीर को सुन्दर एवं सुडौल बनानेवाला एक अत्यंत लाभप्रद व्यायाम हैं। इस व्यायाम से शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। तैराकी से विशेषकर बांह, पांव, गला, टांग तथा पेट की मांसपेशियों को बल मिलता है...और पढ़ें

जब आप हो कोलेस्ट्रोल से परेशान

जून 2016

व्यूस: 1159

पीले रंग का चर्बीदार तत्व कोलेस्ट्रोल शरीर का एक आवश्यक पदार्थ हैं। मजे की बात यह हैं कि आवश्यक होते हुए भी इसके बारे में लोगों की राय अच्छी नहीं हैं। उसका एक कारण हैं, यह हृदय रोगों का जनक हैं। प्रत्...और पढ़ें

सुन्दर व स्वस्थ रहने के लिए टहलना ज़रूरी

जून 2016

व्यूस: 839

लगभग तीन दशक पहले जब मैं काॅलेज जा रही थी, तभी एक दिन रास्ते में, एक वृद्ध व्यक्ति से मेरी मुलाकात हुई, जो लहलहाते धान के खेतों के बीच संकरे रास्ते पर बड़ी तेजी से चला जा रहा था। उसके सिर के बाल रूई के...और पढ़ें

शेयर बाजार में मंदी-तेजी

नवेम्बर 2017

व्यूस: 898

ग्रहों की गोचर स्थिति सूर्य 16 नवंबर को 12 बजकर 22 मिनट पर तुला राशि से वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। मंगल 30 नवंबर को 5 बजकर 21 मिनट पर कन्या राशि से तुला राशि में प्रवेश करेगा। बुध 2 नवंबर को...और पढ़ें

टैरो कार्ड द्वारा फलादेश

नवेम्बर 2017

व्यूस: 892

प्र.1. क्या मेरी बेटी को उसकी इच्छानुसार विश्वविद्यालय में दाखिला मिलेगा? उ.1. ऊपर दी गई तस्वीर के अनुसार हम देख सकते हैं कि एक महिला बैठी हुई है एक सिंहासन पर और आसमान एकदम पीला चमकदार है। आस-...और पढ़ें

और लेख पढ़ें