जन्म वार से शरीर का आकर्षण

मई 2013

व्यूस: 65790

यह सूर्य का वार है। सर्वप्रथम इसका नंबर एक है। जिसका जन्म 1, 10, 19 और 28 तारीख में हो तो उस जातक पर सूर्य का प्रभाव रहेगा। सूर्य ग्रहों का राजा है और आत्मा का कारक है। इस वार को जन्मे जातक... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगआकर्षणभविष्यवाणी तकनीक

छाया ग्रह होते हुए भी प्रभावी है राहू-केतु

आगस्त 2006

व्यूस: 32066

सौर मंडल में सभी ग्रह सूर्य के चारों और अपने-अपने अंडाकार पथ पर निरंतर परिक्रमा करते रहते है। सूर्य से बढती दूरी के क्रम में ग्रह हैं। - बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, गुरु और शनि। चूंकि हम पृथ्वी पर ग्रहों के प्रभावों के आकलन के लिए प... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय विश्लेषणकुंडली व्याख्या

लग्नानुसार विदेश यात्रा के प्रमुख योग

अप्रैल 2013

व्यूस: 20226

जन्मकुंडली के द्वादश भावों में से प्रमुखता, अष्टम भाव, नवम, सप्तम, बारहवां भाव विदेश यात्रा से सम्बंधित है। तृतीय भाव से भी लघु यात्राओं की जानकारी ली जाती है।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगभविष्यवाणी तकनीकराशि

सूर्य का नीच भंग राजयोग

जुलाई 2010

व्यूस: 19462

नवग्रहों में सूर्य राजसी ग्रह माना जाता है। मेष राशि में सूर्य उच्चस्थ होते हैं और तुला राशि में नीचस्थ। प्रस्तुत है सूर्य के नीच भंग राजयोग का कुंडलीय विश्लेषण।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगयशकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीकसफलता

यश, धन और पद की स्थिति कैसे जानें

अप्रैल 2007

व्यूस: 15165

भारतीय धर्म और संस्कृति में मनुष्य के चार पुरुषार्थों - धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष में से जीवन में अर्थ प्राप्त करना एक अनिवार्य पुरुषार्थ है, जिसके लिए हमारे पौराणिक ग्रंथों में अपनी योग्यता व क्षमता के अनुरूप निष्काम भाव से कर्म क... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगदशायशभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

पं. लेखराज शर्मा जी की विलक्षण प्रतिभा

मार्च 2013

व्यूस: 15149

जीवन में अनेक व्यक्तियों से मिलकर हम उनके चमत्कारी व्यक्तित्व से अत्यंत प्रभावित होते हैं। उनकी विशेषता गुण व् कार्य प्रणाली इस हद तक चमत्कारिक होती हैं। की उनके आगे नतमस्तक होने को मन चाहता हैं।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगकुंडली व्याख्याघरजैमिनी ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीक

राजभंग योग

आगस्त 2010

व्यूस: 11834

उच्च कोटि के राजयोग जहां फलित होते देखे गए हैं, वहीं दूसरी ओर इन्हीं राजयोगों का भंग होना भी फलीभूत हुआ है। ऐसा क्यों होता है, आइए कुछ कुंडलियों के माध्यम से इस विषय की तह तक पहुंचने का प्रयास करें।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगदशाकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीक

शारीरिक लक्षण विज्ञान के रोचक तथ्य

आगस्त 2014

व्यूस: 10264

शरीर के विभिन्न अंगों की आकृति व विशेषताओं के ज्ञान को भारत में सामुद्रिक शास्त्र के नाम से जाना जाता है। इसका प्रयोग वैदिक ज्योतिष में होता है क्योंकि इसे ज्योतिष व हस्तरेखा विज्ञान (हस्त सामुद्रिक), फ्रैनोलाॅजी (कप... और पढ़ें

प्रसिद्ध लोगविविध

गौतम बुद्ध

अप्रैल 2010

व्यूस: 9547

भगवान बुद्ध संसार के महानतम व्यक्ति हुए। हर ज्योतिर्विद यह जानने की इच्छा रखता है कि कैसी रही होगी उनकी जन्म कुंडली। आइए, जानें ...... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगदेवी और देवज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगयशकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीकसफलता

महान भविष्यवक्ता कीरो

अकतूबर 2010

व्यूस: 8197

अंक विज्ञान के क्षेत्र में कीरो का नाम बहुत ही सम्मानपूर्वक लिया जाता है। कीरो एक महान अंक विशेषज्ञ होने के साथ-साथ महान हस्तरेखा विशेषज्ञ एवं महान भविष्यवक्ता भी थे। किन ग्रहों की शुभ स्थिति एवं बल ने इस महान व्यक्तित्व को इस क्ष... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगदशाकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)