रुद्राक्ष धारण के नियम और विधि

मई 2010

व्यूस: 67544

रूद्राक्ष को प्रकृति की दिव्य औषधि कहा गया है यह शरीर में सकारात्मक और प्राणवान ऊर्जा का संचार करने में सक्षम है। अतः धारण करते समय इन नियमों का पालन करें तो मनोवांछित लाभ की प्राप्त होती है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

रुद्राक्ष: एक वरदान

मई 2014

व्यूस: 22757

रुद्राक्ष एक ऐसा फल फल जिसके अंदर लगभग सभी देवी-देवता निवास करते हैं। रूद्राक्ष को धारण करने से हर प्रकार के दुःखां का शमन होता है। इस लेख में एक मुखी रुद्राक्ष से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही ह... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्ररूद्राक्षराशि

राशि के अनुसार रुद्राक्ष धारण करने से आयु-आरोग्य तथा धन, यश की प्राप्ति

मई 2010

व्यूस: 16646

एक मुखी रुद्राक्ष: इस रुद्राक्ष को कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है यह साक्षात् भगवान शिव का स्वरूप माना गया है। इसे धारण करने से यश, मान, प्रतिष्ठा, धन, ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपाययशरूद्राक्षसंपत्तिराशि

राशि -ग्रह-नक्षत्र के अनुसार रुद्राक्ष धारण

मई 2010

व्यूस: 15897

वर्तमान समय में शुद्ध एवं दोषमुक्त रत्न बहुत कीमती हो चले हैं, जिससे वे जनसाधारण की पहुंच से बाहर है। अतः विकल्प के रूप में रूद्राक्ष धारण एक सरल एवं सस्ता उपाय है। ग्रह राशि नक्षत्र के अनुसार रूद्राक्ष धारण का संक्षिप्त विवरण यहा... और पढ़ें

ज्योतिषअंक ज्योतिषउपायनक्षत्रव्यवसायरूद्राक्षराशि

रुद्राक्ष धारण करने के नियम

मई 2014

व्यूस: 13959

रुद्राक्ष मानवजाति को भगवान के द्वारा एक अमूल्य देन है। रुद्राक्ष भगवान षिव का अंष है। रुद्राक्ष धारण करना भगवान षिव के दिव्य ज्ञान को प्राप्त करने का साधन है। सभी मनुष्य रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं । हिन्दू धर्म ग्रंथो... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

कहां से और कैसे प्राप्त होता है रुद्राक्ष

मई 2010

व्यूस: 10472

रूद्राक्ष मूलतः एक जंगली फल है। रूद्राक्ष कहां से और कैसे प्राप्त होता है इस विषय से संबंधित जानकारी इस आलेख में दी जा रही है...... और पढ़ें

स्थानरूद्राक्ष

रुद्राक्ष के मुख और प्रकार

मई 2010

व्यूस: 8157

रूद्राक्षों में साधारणतः एक से सताइस धारियां होती हैं। इन्हीं मुखों के आधार पर इनका वर्गीकरण किया गया है और इन्हीं के अनुरूप इनके फल होते हैं। यहां अलग-अलग मुखों के रूद्राक्षों का विशद विवरण प्रस्तुत है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

विभिन्न लग्नों के लिए रत्न / रूद्राक्ष चयन

मई 2014

व्यूस: 7000

प्रत्येक लग्न के लिए एक ग्रह ऐसा होता है जो योगकारक होने के कारण शुभ फलदाई होता है। यदि ऐसा ग्रह कुण्डली में बलवान अर्थात् उच्चराषिस्थ, स्वराषि का या वर्गोत्तमी होकर केन्द्र या त्रिकोण भाव में शुभ ग्रह के प्रभाव में स्थित हो व इस ... और पढ़ें

ज्योतिषउपायरत्नरूद्राक्षराशि

रुद्राक्ष जिज्ञासा और समाधान

मई 2010

व्यूस: 6952

रूद्राक्ष कैसे धारण करे? कितने मुखी रूद्राक्ष पहनें? क्या सावधानियां बरतें? भगवान शिव को ही रूद्र कहा जाता है प्रस्तुत लेख में पाठकों की रूद्राक्ष से संबंधित समस्त जिज्ञासाओं और उनका समाधान करने की कोशिश की गई है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

विविध वैवाहिक समस्याएं व समाधान

मई 2013

व्यूस: 4925

प्रश्न: विवाह न होना या देरी से होना, विवाह के पश्चात जीवन सुखी न रहना, तलाक हो जाना या बिना तलाक के अलग हो जाना, वैवाहिक जीवन नित्य प्रति क्लेशपूर्ण रहना जैसी समस्याओं हेतु क्या वैदिक, तांत्रिक, आध्यात्मिक, लाल किताब के उपाय ... और पढ़ें

उपायरत्नलाल किताबमंत्रविवाहरूद्राक्ष

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)