वर्ग कुंडलियाँ


जन्मकुंडली में व्यवसाय या नौकरी योग

अप्रैल 2010

व्यूस: 11667

जन्मकुंडली में व्यवसाय या नौकरी योग : वाणिज्यं नृपमान्यताश्व गमनं मल्लत्वराज्यक्रिया, दासत्वं कृषि वैद्यकीर्ति निधि निक्षेपाश्चयज्ञादयः। श्रेष्ठत्वं गुरुयंत्र मंत्र जननी विस्तार पुण्यौषधो रूस्थानाभर मंत्र सिद्धिविभवाः स्याददत्तपुत... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगवर्ग कुंडलियाँभविष्यवाणी तकनीक

त्रिशांश कुंडली एवं अरिष्ट काल

अप्रैल 2011

व्यूस: 8456

पाराशर मुनि ने जीवन के विभिन्न पहलुओं पर शुभाशुभ विचार करने हेतु वर्ग कुंडलियों की उपयोगिता बताई है। जन्मपत्रिका से किसी घटना का संकेत मिलता है तो उसकी पुष्टि संबंधित वर्ग कुंडली से होती है। ऐसी वर्ग कुंडली है त्रिशांश अर्थात क्ध्... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगवर्ग कुंडलियाँभविष्यवाणी तकनीक

तबादला: एक ज्योतिषीय विश्लेषण

जून 2013

व्यूस: 5122

नौकरी में तबादला एक नियमित प्रक्रिया है। कुछ वर्ष एक ही स्थान पर कार्यरत रहने के उपरांत नियोजित व्यक्ति का स्थानांतरण होना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। कई बार यह तबादला अथवा स्थानांतरण अपनी ईच्छा के अनुरूप होता है तो कई बार लोगों को... और पढ़ें

ज्योतिषदशावर्ग कुंडलियाँगोचर

द्वादशांश से अनिष्ट का सटीक निर्धारण

अप्रैल 2013

व्यूस: 2837

आधुनिक भौतिकवादी विश्व में प्रत्येक मनुष्य धनी, सुखी एवं हर प्रकार से संपन्न जीवन जीने की कल्पना करता है तथा उसकी यह आकांक्षा होती है की उसे वे सभी विलासितापूर्ण सुख-सुविधाएँ प्राप्त हो।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगवर्ग कुंडलियाँभविष्यवाणी तकनीकगोचर

षोडश वर्ग: फलित ज्योतिष की सूक्ष्मता

जुलाई 2008

व्यूस: 2674

जातक के जीवन के जिस पहलू के बारे में हम जानना चाहते हैं उस पहलू के वर्ग का जब तक हम अध्ययन न करें तो विश्लेषण अधूरा ही रहता है।... और पढ़ें

ज्योतिषवर्ग कुंडलियाँकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीक

द्वादशांश से अनिष्ट का सटीक निर्धारण

जुलाई 2013

व्यूस: 2307

सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा जी ने जब से इस संसार की रचना की है तभी से जीवन में प्रत्येक नश्वर आगमों को चाहे वे सजीव हों अथवा निर्जीव, उन्हें विभिन्न अवस्थाओं से गुजरना पड़ता है। जीवन की इस यात्रा में सबों को अच्छे एवं बुरे समय का स्व... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगवर्ग कुंडलियाँभविष्यवाणी तकनीक

मंगलीक-दोष की पूर्ववर्ती एवं परवर्ती कारिकायें !

मार्च 2014

व्यूस: 1953

आज ही नहीं वर्षों-वर्षों से लोगों के दिलों में - ‘मंगली या मांगलिक दोष के भय का भूत - घर कर गया है। वे किसी भी ज्योतिषी से या मंदिर के किसी पुजारी से, कन्या की कुंडली में मंगली दोष’ सुनकर घबरा जाते हैं। विवाह तो करना ही है, कब तक ... और पढ़ें

ज्योतिषवर्ग कुंडलियाँ

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)