अंक शास्त्र में मूलांक, नामांक व् भाग्यांक का महत्व

सितम्बर 2008

व्यूस: 139498

समय का पहला मापदंड अंक है, क्योकि जीवन में जो कुछ भी घटित हुआ है, हो रहा है, या होगा, उसे व्यक्त करने के लिए हमें अंकों का सहारा लेना पडता है किसी भी परिणाम का प्रारंभ और अंत अंक ही है। जीवन का प्रत्येक क्षेत्र अंक शास्त्र से बंधा... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

मूलांक से जानी भाग्योद्य का समय

अप्रैल 2006

व्यूस: 53002

मोटे तौर पर भाग्योदय का संबंध आजीविका से है। यह प्रश्न वह भी करता है, जो करोडपति है और वह भी जो निर्धन है, नौकरी नहीं लगी है तो कब लगेगी। लग चुकी है तो पदोन्नति कब होगी वांछित स्थानांतरण कब होगा, व्यवसाय कब आरम्भ हो सकेगा, व्यवसाय... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

कैसे करें अंक ज्योतिष का प्रयोग?

जुलाई 2010

व्यूस: 36902

अंक विज्ञान ज्योतिष की ही एक शाखा है। क्योंकि प्रत्येक अंक किसी न किसी ग्रह से अभिभूत होता है। बड़े फिल्मी सितारे और सफलतम हस्तियां भी अंक विज्ञान के प्रभाव से अछूती नहीं है। ज्योतिष एवं अंक शास्त्र को संयुक्त कर किस तरह से लाभ प्र... और पढ़ें

अंक ज्योतिषउपायभविष्यवाणी तकनीक

नाम बदलो भाग्य बदलेगा

जुलाई 2011

व्यूस: 26980

मूलांक एवं भाग्यांक को बदला नहीं जा सकता लेकिन योजनाबद्ध ढंग से यदि नामांक, मूलांक और मूलांक का मेल हो जाए तो व्यक्ति का भाग्य बदलने में देर नहीं लगती। आइए जानें किस प्रकार ...... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

अंक ज्योतिष एवं हस्तरेखा

जुलाई 2011

व्यूस: 16814

वैसे तो अंक ज्योतिष एवं हस्तरेखा ज्योतिष की दो एकदम अलग विद्याएं हैं लेकिन दोनों के संगम बिन्दु भी है। जो एकदूसरे के पूरक है। कैसे, आइए जानें इस लेख से ...... और पढ़ें

अंक ज्योतिषहस्तरेखा शास्रग्रह पर्वत व रेखाएंभविष्यवाणी तकनीक

राशि -ग्रह-नक्षत्र के अनुसार रुद्राक्ष धारण

मई 2010

व्यूस: 15860

वर्तमान समय में शुद्ध एवं दोषमुक्त रत्न बहुत कीमती हो चले हैं, जिससे वे जनसाधारण की पहुंच से बाहर है। अतः विकल्प के रूप में रूद्राक्ष धारण एक सरल एवं सस्ता उपाय है। ग्रह राशि नक्षत्र के अनुसार रूद्राक्ष धारण का संक्षिप्त विवरण यहा... और पढ़ें

ज्योतिषअंक ज्योतिषउपायनक्षत्रव्यवसायरूद्राक्षराशि

जन्म दिनांक से जानें गृह वास्तु दोष

जुलाई 2013

व्यूस: 12770

जन्म होते ही हमारे साथ कुछ अंक जुड़ जाते हैं। जैसे कि जन्म तिथि का अंक, जन्म समय की होरा व जन्म स्थान आदि। इन सब के आधार पर ज्योतिष व अंक ज्योतिष की गणनायें की जा सकती है। अगर हम ‘गीता में श्री कृष्ण द्वारा बताये गये कर्म-सिद्धांत... और पढ़ें

अंक ज्योतिषवास्तुभविष्यवाणी तकनीक

नामांक से भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर का चुनाव

जुलाई 2011

व्यूस: 11904

जब किसी व्यक्ति का जन्म विवरण निश्चित रूप से ज्ञात न हो तो जन्मतिथि के मूलांक एवं नामांक के आधार पर जीवन साथी एवं बिजनेस पार्टनर का चुनाव किया जा सकता है आइए जानें कैसे... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

जानें कब होगा विवाह

जुलाई 2011

व्यूस: 10493

विवाह योग्य लड़के लड़की की जन्म तारीख के आधार पर उनका मूलांक ज्ञात कीजिए फिर उस मूलांक की किस वर्ष के मूलांक के साथ समानता है देखकर विवाह का वर्ष जाना जा सकता है।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

अंक ज्योतिष व हस्त रेखा

जुलाई 2011

व्यूस: 9826

वैसे तो अंक ज्योतिष और हस्तरेखा ज्योतिष की दो एक दम अलग विधाएं हैं लेकिन दोनों के संगम बिंदु भी हैं जो एक दूसरे के पूरक हैं। कैसे, आइए, जानें इस लेख से।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषहस्तरेखा शास्रभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)