अंक शास्त्र की नजर में तलाक

जून 2015

व्यूस: 2848

आज के युग में शादी और तलाक एक दूसरे के पूरक हो गये हैं। शादी होने के कुछ समय बाद ही तलाक की नौबत आ जाती है। तलाक होने के कई कारण होते हैं। लेकिन यदि हम इसे अंकशास्त्र की नजर से देखें तो पता चलता है कि इसमंे अंकशास्त्र की भूमिका ... और पढ़ें

अंक ज्योतिषज्योतिषीय विश्लेषणकुंडली मिलानभविष्यवाणी तकनीक

अपना भाग्यांक जानें - अंक ज्योतिष का प्रमाण

जुलाई 2010

व्यूस: 2794

जन्म तिथि के अनुसार अंक प्राप्त कर मूलांक या नामांक बता देना बहुत आसान है, लेकिन क्या हमारा जीवन सत्य में इन अंकों से प्रभावित है - कहना कठिन है।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

पाइथागोरियन अंक ज्योतिष

जनवरी 2013

व्यूस: 2741

पाइथागोरियस का विश्वास था की प्रत्येक व्यक्ति के जन्म के समय ब्रह्माण्ड में एक अनोखा तरंग उत्पन्न होता हैं। जो जीवन में उसके चरित्र एवं भाग्य को प्रभावित करता हैं।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीकसफलता

अंकशास्त्र के अनुसार कैसा रहेगा जीवन साथी से आपका संबंध?

अप्रैल 2016

व्यूस: 2602

जिस तरह नामांक के मेल से वैवाहिक जीवन में अनुकूलता लाई जा सकती है, उसी तरह मूलांक व भाग्यांक के आधार पर भी अनुकूल जीवन साथी चुनकर दाम्पत्य जीवन में अधिक स्थिरता और सुख-सौहार्द ला सकते हैं...।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषज्योतिषीय विश्लेषणविवाहभविष्यवाणी तकनीक

कर्मफल हेतुर्भू

जून 2015

व्यूस: 2485

‘प्रत्येक क्रिया की एक समान एवं विपरीत प्रतिक्रिया होती है।’ न्यूटन की इसी सर्वकालिक अवधारणा से कर्म का सिद्धांत भी ओत-प्रोत है। हमारे हर कृत्य एवं हर सोच से कारण अथवा हेतु का निर्माण होता है और कुछ समय उपरांत उस कारण अथवा हेतु ... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

नाम बदलकर भाग्य बदलिए

जून 2015

व्यूस: 2407

हम ‘कीरो’ द्वारा वर्णित अंक विज्ञान के आधार पर किसी भी वर्ष के किसी भी महीने का भाग्यशाली दिन या कहा जाए कि व्यक्ति के लिए लाभकारी दिन खोज निकालने के लिए नाम के अक्षरों के आंकिक मान निकालते हैं। संयुक्त अंक को हम व्यक्ति की... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

नव वर्ष अंकशास्त्र के आईने से

जनवरी 2010

व्यूस: 2400

भविष्यकथन में अंकशास्त्र की भूमिका भी अहम होती है। प्रस्तुत आलेख में ग्रहों की स्थिति और अंकशास्त्र के मिले जुले प्रभावों के आधार पर नव वर्ष का फलित प्रस्तुत है।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषविविधसफलता

अंक विद्या द्वारा जन्मकुंडली का विश्लेषण

अप्रैल 2006

व्यूस: 2392

जन्मकुंडली की तरह ही 1 से 9 तक के सभी अंकों का ब्रह्मांड के सभी 9 ग्रहों से संबंध होता है और हर अंक का अपना एक अधिपति ग्रह होता है। कुंडली के 12 भावों पर अंकों और ग्रहों के पड़ने वाले प्रभावों का विश्लेषण कर किसी व्यक्ति के ब... और पढ़ें

अंक ज्योतिषकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीक

हिंदी के नामाक्षरों द्वारा व्यवसाय का चयन

अप्रैल 2006

व्यूस: 2300

कुछ जातकों के पास न तो जन्म तिथि होती है और न ही जन्म का समय। तो ऐसे जातक अपने व्यवसाय का चयन कैसे करें? अधिकांश व्यक्ति इन सूचनाओं के अभाव में बिना सोचे समझे व्यवसाय शुरू कर देते हैं और सफलता न मिलने पर निराश हो जाते हैं औ... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

स्तूपांक में छिपे हैं आपके प्रश्नोत्तर

जुलाई 2010

व्यूस: 2249

स्तूप पद्धति एक महत्ववपूर्ण पद्धति है तथा वर्तमान में भारत में यह तेजी से लोकप्रिय हो रही है। प्रस्तुत लेख में हम अंक शास्त्र की इसी पद्धति की चर्चा करेंगे।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषप्रश्न कुंडलीभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)