नामांक से भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर का चुनाव

नामांक से भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर का चुनाव  

नामांक से भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर का चुनाव जय निरंजन अंक ज्योतिष भीे भविष्य जानने की प्रमुख विधा है- इस विधा का प्रयोग विशेष रूप से वहां पर अत्यधिक महत्वपूर्ण हो जाता है जब किसी व्यक्ति का जन्म-विवरण निश्चित रूप से ज्ञात न हो। अंक ज्योतिष में भविष्यकथन के व्यवहार में दो तरीके विशेष रूप से प्रचलित हैं। 1. जन्मतिथि के मूलांक से 2. नामांक से। यहां पर हम नामांक के आधार पर यह बताने का प्रयास कर रहे हैं कि जन्म विवरण की अनुपलब्धता होने पर नामांक के माध्यम से उपयुक्त जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर का चुनाव कैसे किया जा सकता है। इसके लिए सर्वप्रथम व्यक्ति को अपने तथा अपने भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर के नाम को अंग्रेजी भाषा में लिख लेना चाहिए। तत्पश्चात् उसमें अंकित सभी वर्णों के अंकों को निम्नलिखित तालिका नं. 1 से देखकर लिखें और उनका योग इकाई अंक तक ज्ञात करके नामांक लिख लें। फिर तालिका नं. 2 से अपने तथा भावी जीवन साथी या बिजनेस पार्टनर के नामांक के मध्य शुभाशुभ संबंधों को जान लें। उदारण-1 अमृता प्रीतम : प्रखयात लेखिका अमृता प्रीतम, जिनका मूल नाम अमृता है, का वैवाहिक संबंध इनके जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी है। इन्हें किशोरावस्था में ही मशहूर शायर साहिर लुधियानवी से प्रेम हो गया था लेकिन ये साहिर से विवाह न कर पायीं। इनका विवाह 16 वर्ष की अवस्था में प्रीतम सिंह से हो गया। विवाह के बाद भी अमृता साहिर को भुला नहीं सकी, परिणामतः इनका विवाह-संबंध कभी भी स्थायी न हो सका, न कभी ताजगी और विश्वास ही कायम कर पाया। 40 वर्ष की अवस्था में पति से इनका तलाक हो गया। बाद में ये चित्रकार इमरोज के साथ रहने लगीं। इमरोज का साथ इन्हें जीवन के अंतिम पल तक मिला जो करीब 45 वर्षों की लंबी अवधि का रहा। आइए, नामांक के आधार पर अमृता के इमरोज के साथ शुभाशुभ संबंधों का विश्लेषण करते हैं। यहां पर यह स्पष्ट करना आवश्यक है कि विवाह और तलाक के बाद अमृता का नाम अमृता नहीं अमृता प्रीतम से ही जाना गया है इसलिए इमरोज के साथ इनके अमृता प्रीतम नाम का ही अंक विश्लेषण करना उचित होगा। AMRITA =1+4+2+1+4+1=1+3=4 SAHIR LUDHIYANAWI=3+1+5 +1+2+3+6+4+5+1+1+1+5+1+6 +1=46=4+6=10=1+0=1 PREETAM SINGH = 8+5+5+4+ 1+4+3+1+5+3+5=46=4+6=0= 1+0=0 AMRITA PREETAM=1+4+2+1+4+ 1+8+2+5+5+4+1+4 ==42=4=2=6 IMAROJ=1+4+1+2+7+1=16= 1+6=7 उपर्युक्त विश्लेषण से पता चलता है कि अमृता का नामांक 4 तथा साहिर लुधियानवी एवं प्रीतम सिंह के नामांक 1 हैं जिनके मध्य तालिका नं. 2 के अनुसार शत्रुवत संबंध हैं तथा अमृता प्रीतम और इमरोज के नामांक क्रमशः 6 और 7 हैं जिनके मध्य सम संबंध हैं। इसी आधार पर अनुकूल बिजनेस पार्टनर का चुनाव भी किया जा सकता है।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.