(31 लेख)
लक्ष्मी कृपा प्राप्ति के सरल प्रयोग

अकतूबर 2014

व्यूस: 24203

यह धारणा लोगों के मन में स्थायी रूप से घर कर गई है कि लक्ष्मी चंचला है, एक जगह स्थायी रूप से रूकती नहीं पर सत्यता इसके विपरीत है। ऐसा अकर्मण्य, श्रम से बचने वाले, उत्तरदायित्वों से विमुख रहने वालों ने- स्थापित करने क... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

पांव तले छिपा भविष्य

अप्रैल 2011

व्यूस: 12771

प्रसिद्ध आचार्य वराहमिहिर ने पांव के तलवे के रेखाओं के बारे में और उनसे पता चलने वाले बातों के बारे में जो कहा है उसकी संक्षिप्त जानकारी के लिए पढिए यह लेख।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंमुखाकृति विज्ञानभविष्यवाणी तकनीक

अंक ज्योतिष में प्रश्न विचार

जुलाई 2011

व्यूस: 6298

वैदिक ज्योतिष में प्रश्न विचार एक जटिल विषय है जबकि अंक शास्त्र में केरलीय पद्धति से कठिन प्रश्नों का उत्तर आसानी से दिया जा सकता है। इस विधि का संपूर्ण ज्ञान जानिए इस लेख द्वारा... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

आकृति ही मनुष्य की पहचान है !

आगस्त 2014

व्यूस: 6229

अपने दैनिक-जीवन में हम जितने व्यक्तियों के संपर्क में आते हैं उनकी आकृति देखकर अंदाज लगा लेते हैं कि इनमें से कौन किस ढंग का है, उसका स्वभाव, चाल-चलन, चरित्र कैसा है? यह अंदाज बहुत अंशों तक सही ही उतरता है। मनुष्यों को पहचान... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधभविष्यवाणी तकनीक

वक्री ग्रहों का शुभाशुभ प्रभाव

अप्रैल 2015

व्यूस: 4191

आकाश में जब कोई ग्रह वक्री होता है तो उस काल में जन्मे सभी प्राणियों मनुष्य, पशु, पक्षी, जलचर, कीट, वृक्षादि पर एवं संपूर्ण भूमंडल (मेदनीय ज्योतिष) पर समान रूप से प्रभाव पड़ता है। यहां तक कि गोचरीय स्थिति में ग्रहांे की वक्रत... और पढ़ें

ज्योतिषखगोल-विज्ञानग्रहभविष्यवाणी तकनीक

हाथों की रेखाओं में भी राहु

जुलाई 2014

व्यूस: 3632

सामान्यतः मंगल से निकलकर जीवन व भाग्य रेखा को काटकर मस्तिष्क रेखा को छूने या उसे भी काटकर हृदय रेखा तक जाने वाली रेखाएं, ‘राहु रेखा’ कहलाती है। हाथों में इनकी संख्या एक से लेकर तीन या चार तक होती हैं। मोटी ‘राहु रेखाएं... और पढ़ें

हस्तरेखा शास्रग्रह पर्वत व रेखाएंग्रह

अंक ज्योतिष के अनुसार वर्ष 2015

जनवरी 2015

व्यूस: 3538

प्रत्येक मानव के जीवन में कुछ भी नया हो, जैसे-नये भौतिक साधन, नवीन भोजन, घर, भ्रमण, नया दिन, त्योहार, नव वर्ष आदि सभी एक नई स्फूर्ति- उत्साह एवं कार्य करने का संकल्प, प्रत्येक मनुष्य बड़ी अधीरता से नये के आगमन की प्रतीक्षा करते ... और पढ़ें

अंक ज्योतिषज्योतिषीय विश्लेषणभविष्यवाणी तकनीक

विवाह मेलापक में प्रमुख दोष

जून 2011

व्यूस: 3407

विवाह का शुभ मुहूर्त निकालने के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए क्या-क्या वर्जित है और विहित है ? अशुभ समय में किए गए कार्यों के कठिन परिणाम एवं अभिजित और गोधूलि लग्न की विशेषताओं का मुहूर्त में महत्व जानिए इस लेख द्वारा... और पढ़ें

ज्योतिषकुंडली मिलानविवाहमुहूर्तभविष्यवाणी तकनीक

रत्नों का महत्व और स्वास्थ्य

मई 2014

व्यूस: 3154

भारत में रत्नों को धारण करने की प्रथा बहुत ही प्राचीन है, रत्नों के विषय में धारणा है कि रत्नों में दैवी-शक्तियों का समावेश है। ज्योतिष का यह सिद्धांत है कि अनिष्ट ग्रहों के शत्रु ग्रह का रत्न पहनें तो वह अनिष्ट करना बंद कर देता... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायरत्न

आध्यात्मिक दृष्टि से अंकों का विश्लेषण

जुलाई 2011

व्यूस: 2486

प्रस्तुत लेख में अंक १ से लेकर ९ अंक हमारे जीवन में आध्यात्मिकता को किस प्रकार से प्रभावित करते हैं। इसको अपने जीवन में अपनाकर आप लाभ उठा सकते हैं।... और पढ़ें

अंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)