अप्रैल 2020 विशेषांक

अप्रैल 2020 विशेषांक

फ्यूचर समाचार के इस विशेषांक में - कोरोना, विवाह के शुभाशुभ योग एवं शुभ मुहूर्त, उच्च, नीच एवं अस्त गृह, वास्तु और स्टडी रूम आदि सम्मिलित हैं ।

ऑनलाइन पढ़ें
लाइक करें

लेख

लाल किताब ( दृष्टियां)

मई 2011

व्यूस: 3133

लाल-किताब पद्धति में ग्रहों या भाव की दृष्टि प्राचीन ज्योतिष के दृष्टि सिद्धान्तों से कुछ भिन्न हैं। जैसे- एक-सात घर, चौथे दसवें, पूर्ण दृष्टि होती है।...और पढ़ें

2015 नववर्ष मंगलकारी कैसे हो

जनवरी 2015

व्यूस: 3180

नववर्ष 2015 हमारे लिये कैसा होगा, ग्रहों व नक्षत्रों का प्रभाव हम पर किस प्रकार का होगा, हम क्या उपाय करें कि नववर्ष हमारे लिये मंगलकारी हो - यह उत्सुकता जनमानस में, नववर्ष आने से पहले ही जन्म ले ले...और पढ़ें

कष्टहर्ता नवदुर्गा कवच (लाॅकेट)

अकतूबर 2010

व्यूस: 3205

मार्कण्डेय पुराण में नवदुर्गा के बारे में अनेक चमत्कारिक प्रयोग बताये गये हैं जिनमें से एक नव दुर्गा कवच है। इस कवच की श्रद्धा पूर्वक पूजा प्रतिष्ठा करने से मानव कल्याण एवं अनेक परेशानियों से छुटकारा...और पढ़ें

त्रिशक्ति लाॅकेट

जनवरी 2005

व्यूस: 3217

रत्नों का इतिहास बहुत प्राचीन है। हमारे वेद, पुराण, स्मृति आदि ग्रंथों में इनके बारे में विस्तृत वर्णन मिलता है। प्राचीन काल में राजा, महाराजा संपूर्ण रत्नों के महत्व से भली-भांति परिचित थे। तथा वे रत...और पढ़ें

नये जीवन की ओर

जनवरी 2011

व्यूस: 1654

प्रत्येक मनुष्य जीवन में अनेक प्रकार के नए सपने देखता है और नई उमंगों, आकांक्षाओं और आशाओं के साथ जीवन पथ पर खुशियां हासिल करने के लिए प्रयास करता है...और पढ़ें

ग्रह स्थिति एवं व्यापार

जनवरी 2017

व्यूस: 1678

मासारंभ में सूर्य धनु में, चंद्र मकर में, मंगल कुंभ में, बुध धनु में, गुरु कन्या में, शुक्र कुंभ में, शनि वृश्चिक में, राहु सिंह में, केतु कुंभ में, यूरेनस मीन में, नेप्च्यून कुंभ में, प्लूटो धन...और पढ़ें

संतान योग: कितने फलदायक

अकतूबर 2016

व्यूस: 1681

संतान सुख यानि गृहस्थ जीवन का उत्तम सुख ! गृहस्थ जीवन की फुलवारी में बच्चे रूपी फूलों की महक से जीवन की बगिया में बहार सी आ जाती है। जीवन सुख के रस से लवरेज हो जाता है। लेकिन क्या संतान सुख सभी के भ...और पढ़ें

शनि उपाय

फ़रवरी 2017

व्यूस: 1686

शनि शुभ होने पर निम्न उपाय करें: - नीलम रत्न चांदी की अंगूठी बनवाकर मध्यमा अंगुली में शनिवार के दिन प्रातःकाल धारण करें। - नीले रंग की वस्तुओं का उपयोग करें, जैसे-नीले वस्त्र, चादर, पर्दे आदि। ...और पढ़ें

और लेख पढ़ें