नववर्ष विशेषांक

नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2016

अंक के और लेख | व्यूस : 15932 |
नववर्ष 2016 का आगमन शीघ्र ही हो रहा है। हर व्यक्ति नये साल की शुरुआत शुभत्व के साथ करना चाहता है तथा उसकी यह कोशिश होती है कि आने वाला साल यादगार साबित हो। फ्यूचर समाचार के नववर्ष विशेषांक में बहुविध एवं बहुआयामी आलेखों का संग्रह है जिसमें सम्मिलित हैंः उत्तरायण और मकर संक्रान्ति की भ्रान्ति, आमिर खान के विवादित बोल, राहु-केतु का राशि परिवर्तन, 2016 में मौसम का हाल, नववर्ष 2016 मंगलकारी कैसे हो, 2016 में भारत की राजनीति, अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार, वार्षिक राशिफल 2016 आदि। इसके अतिरिक्त इस विशेषांक में सभी स्थाई स्तम्भों का समावेश भी पूर्व की भांति किया गया है जिसमें विविध आयामी आलेख सम्मिलित हैं।
navavarsh 2016 ka agaman shighra hi ho raha hai. har vyakti naye sal ki shuruat shubhatva ke sath karna chahta hai tatha uski yah koshish hoti hai ki ane vala sal yadgar sabit ho. fyuchar samachar ke navavarsh visheshank men bahuvidh evan bahuayami alekhon ka sangrah hai jismen sammilit hainah uttarayan aur makar sankranti ki bhranti, amir khan ke vivadit bol, rahu-ketu ka rashi parivartan, 2016 men mausam ka hal, navavarsh 2016 manglkari kaise ho, 2016 men bharat ki rajniti, arthavyavastha aur sheyar bajar, varshik rashifal 2016 adi. iske atirikt is visheshank men sabhi sthai stambhon ka samavesh bhi purva ki bhanti kiya gaya hai jismen vividh ayami alekh sammilit hain.



नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2016

नववर्ष 2016 का आगमन शीघ्र ही हो रहा है। हर व्यक्ति नये साल की शुरुआत शुभत्व के साथ करना चाहता है तथा उसकी यह कोशिश होती है कि आने वाला साल यादगार साबित हो। फ्यूचर समाचार के नववर्ष विशेषांक में बहुविध एवं बहुआयामी आलेखों का संग्रह है जिसमें सम्मिलित हैंः उत्तरायण और मकर संक्रान्ति की भ्रान्ति, आमिर खान के विवादित बोल, राहु-केतु का राशि परिवर्तन, 2016 में मौसम का हाल, नववर्ष 2016 मंगलकारी कैसे हो, 2016 में भारत की राजनीति, अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार, वार्षिक राशिफल 2016 आदि। इसके अतिरिक्त इस विशेषांक में सभी स्थाई स्तम्भों का समावेश भी पूर्व की भांति किया गया है जिसमें विविध आयामी आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.