क्या करें?

क्या करें?  

- नौकरी व व्यापार में वृद्धि पाने के लिए आपको बाधाओं का सामना करना पड़ रहा हो तो आप क्या करें? प्रत्येक मंगलवार को 11 पीपल के पत्ते लें और फिर लाल चंदन से राम-राम लिखें व उसे हनुमानजी के मंदिर में चढ़ायें व हनुमान जी के समक्ष हनुमान चालीसा का पाठ करें और प्रार्थना करें कि मेरी नौकरी व व्यापार में जो भी बाधा है वह बाधा दूर हो जाय। -अगर आपके पास नौकरी तो है किंतु स्थाई नहीं है या आपके पास स्थाई काम-धंधा नहीं है तो ऐसी परिस्थिति में आप क्या करें? हर शुक्रवार को किसी भी भूखे को खाना खिलायें व शनिवार को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलायें, स्थाई नौकरी व काम मिलने की प्रार्थना करें अवश्य लाभ मिलेगा। -नौकरी पाने के लिए साक्षात्कार व कार्य में सफलता के लिए क्या करें? - प्रातः काल सूर्य भगवान को जल चढ़ायें व नमन करते हुए एक सूते की डोरी में 7 गांठें ‘ऊँ गं गणपतये नमः’ का जप करते हुए लगायें और इस धागे को अपने पास रखकर नौकरी के इन्टरव्यू के लिए जायें या किसी भी कार्य के लिए जायें सफलता अवश्य मिलेगी। - नौकरी व व्यापार से जो कमाई हो रही है उसमें न तो वृद्धि हो रही है, न ही घर में उसकी बरकत पड़ रही हो तो क्या करें? रात को सोते समय सिरहाने की तरफ पलंग के नीचे किसी बर्तन में जौ रखें व सुबह उठकर कुछ हिस्सा चींटियों को डालंे, कुछ हिस्सा छत पर पक्षियों को व कुछ हिस्सा जानवरों को खाने के लिये दें, अवश्य लाभ मिलेगा। -कार्य स्थान पर लोहे का सामान या मशीनरी खरीदने पर नुकसान हो तो क्या करें? जब भी लोहे का सामान व मशीनरी खरीदें, साथ में उसी समय बच्चों के खिलौने भी खरीदें व बाद में वह खिलौने गरीब बच्चों में बांट दें। ऐसा करने से किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। -नौकरी व व्यापार में कुछ गलत या कुछ बुरा अनुभव हो रहा हो तो क्या करें? शनिवार के दिन बहती नदी में अखरोट व नारियल प्रवाहित करें व अंधों को खाना खिलायें।

नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2016

नववर्ष 2016 का आगमन शीघ्र ही हो रहा है। हर व्यक्ति नये साल की शुरुआत शुभत्व के साथ करना चाहता है तथा उसकी यह कोशिश होती है कि आने वाला साल यादगार साबित हो। फ्यूचर समाचार के नववर्ष विशेषांक में बहुविध एवं बहुआयामी आलेखों का संग्रह है जिसमें सम्मिलित हैंः उत्तरायण और मकर संक्रान्ति की भ्रान्ति, आमिर खान के विवादित बोल, राहु-केतु का राशि परिवर्तन, 2016 में मौसम का हाल, नववर्ष 2016 मंगलकारी कैसे हो, 2016 में भारत की राजनीति, अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार, वार्षिक राशिफल 2016 आदि। इसके अतिरिक्त इस विशेषांक में सभी स्थाई स्तम्भों का समावेश भी पूर्व की भांति किया गया है जिसमें विविध आयामी आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

.