(16 लेख)
राहु: शुभ अथवा अशुभ

मार्च 2013

व्यूस: 14021

ज्योतिष की दृष्टि से हमारे जीवन में घटित होने वाली शुभ या अशुभ प्रत्येक घटना नव ग्रहों पर ही आधारित होती है और नवग्रहों में ही राहु का नाम विशेष चर्चा में रहता है। जन्मकुंडली में राहु का नाम सुनते ही व्यक्ति अनिष्ट की आशंका करने ल... और पढ़ें

ज्योतिषउपायदशाघरग्रहभविष्यवाणी तकनीकटोटके

मानसिक वेदना

जुलाई 2013

व्यूस: 4036

ज्योतिषीय दृष्टिकोण में हमारे मन की प्रत्येक अवस्था या स्थिति जन्मकुंडली में स्थित चंद्रमा पर निर्भर करती है। कुंडली में चंद्रमा बली होने पर व्यक्ति मानसिक रूप से प्रसन्न व स्थिर होता है और चंद्रमा कमजोर होने पर उसकी मानसिक शक्ति ... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपाय

राहु-केतु का राशि परिवर्तन

जनवरी 2016

व्यूस: 3771

ज्योतिष में नव ग्रह ही फलित ज्योतिष का मुख्य आधार है जो बारह राशियों में सदा भ्रमणशील रहते हैं। इन ग्रहों के गोचरीय भ्रमण से ही प्रत्येक प्राणी के जीवन में विभिन्न उतार-चढ़ाव या शुभ-अशुभ घटनायें समय-समय पर घटती हंै। नव ग्रहो... और पढ़ें

ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीक

क्या करें की नववर्ष हो मंगलमय

जनवरी 2013

व्यूस: 2316

नववर्ष २०१३ का शुभारम्भ होने जा रहा हैं। इस नए वर्ष में हर व्यक्ति को उत्साह एवं उल्लास के साथ नवीन शुभ संकल्प लेना चाहिए। और नकारात्मक विचारों को त्यागकर सत्कर्म के मार्ग पर चलने का दृढ निश्चय करना चाहिए।... और पढ़ें

ज्योतिषउपायटोटकेराशि

शुभफल कारक राहु

जुलाई 2014

व्यूस: 1977

अपनी जन्मकुंडली में स्थित राहु को लेकर जहां हम शंकाओं और भय से व्याप्त रहते हैं वहीं कुछ ऐसी स्थिति भी होती है जिनमें राहु हमारे लिये शुभ फल देने वाला बन जाता है क्योंकि राहु तो अपनी स्थिति के अनुसार ही फल करता है। राह... और पढ़ें

ज्योतिषग्रह

शनि कहां शुभ कहां अशुभ

अकतूबर 2014

व्यूस: 1928

आज ज्योतिष जगत में किसी अन्य विषय पर शायद ही इतनी चर्चा होती हो जितनी शनि को लेकर होती है। जहां एक ओर साढ़ेसाती को लेकर लोग भय से व्याप्त होते हैं तो दूसरी ओर शनि को श्रद्धा से पूजते हैं ज्योतिष में शनि की बहुत बड़ी महत्वपूर्ण भू... और पढ़ें

ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीक

सन्तति योग

मई 2013

व्यूस: 1863

संतान मनुष्य के जीवन की एक बड़ी ईच्छा है। प्रत्येक दम्पत्ति को संतान प्राप्ति व माता-पिता कहलाने के सौभाग्य की ईच्छा होती है परंतु सभी व्यक्तियों को यह सौभाग्य समान रूप से प्राप्त नहीं होता।... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगबाल-बच्चे

दाम्पत्य सुख

मार्च 2014

व्यूस: 1783

जन्म पत्रिका में संयम और बौद्धिकता से यदि तलाशा जाये तो ग्रह-नक्षत्रों के ऐसे अनेक संयोग मिल जाएंगे जो लड़कियों का विवाह करवाने, न करवाने अथवा विलंब आदि से करवाने के संकेत देते हैं। ग्रह-गोचर आदि की सूक्ष्म गणनाओं से विवाह की समयाव... और पढ़ें

ज्योतिषविवाह

इन्फर्टिलिटी

सितम्बर 2014

व्यूस: 1286

‘‘फर्टिलिटी अर्थात प्रजनन क्षमता से जुड़ी समस्यायें स्त्री और पुरूष दोनों में ही पायी जाती हैं। हमारी कुंडली जीवन के प्रत्येक पक्ष को स्पष्ट रूप से दर्शाती है। पुरूष की कुंडली में शुक्र और सूर्य तथा स्त्री की कुंडली में... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगबाल-बच्चेभविष्यवाणी तकनीक

स्वास्थ्य एवं वास्तु शास्त्र

अकतूबर 2004

व्यूस: 1278

आज के इस मशीनी युग एवं एक दूसरे से आगे निकलने की अंधी प्रतिस्पर्धा ने न केवल हमारे जीवन, रहन-सहन और कार्यप्रणाली को ही असंतुलित किया है, बल्कि स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक शुद्ध वातावरण तथा पर्यावरण को भी दूषित कर दिया है। परिणामस्वर... और पढ़ें

स्वास्थ्यवास्तुवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)