राहु-केतु का राशि परिवर्तन

राहु-केतु का राशि परिवर्तन  

मेष राशि मेष राशि के जातकों के लिये राहु-केतु का राशि परिवर्तन बीते डेढ़ वर्ष के मुकाबले शुभकारक रहेगा। लंबे समय से चल रहे अनचाहे खर्च, धन हानि या धन की अस्थिरता में कमी आयेगी, छोटे भाई-बहनों और संतान पक्ष को लेकर कुछ समस्याएं रह सकती हैं अतः छोटी - छोटी बातों को विवाद का रूप न दें। उपाय: 1. प्रतिदिन सरसों तेल का परांठा कुत्ते को खिलायें। 2. पक्षियों को दाना डालें। 3. हनुमान चालीसा का पाठ करें। वृष राशि वृष राशि के जातकों के लिये चतुर्थ होने से राहु समस्या कारक है अतः गृह क्लेश और आपसी मतभेद की स्थिति या संपत्ति को लेकर कुछ समस्याएं रहेंगी। साथ ही आर्थिक पक्ष में बहुत सावधानी रखनी होगी और कुटुंब के विवादों को ज्यादा हवा देने की कोशिश न करें। उपाय: 1. माह में एक बार सतनाजा अवश्य दान करें। 2. सफेद चंदन की माला गले में धारण करें। 3. दुर्गा चालीसा का प्रतिदिन पाठ करें। मिथुन राशि मिथुन राशि के जातकों के लिये राहु-केतु का परिवर्तन सामान्य है। लंबे समय से चल रहे पारिवारिक मनमुटाव समाप्त होंगे। संपत्ति के झगड़े सामान्य होंगे। हां यह सावधानी अवश्य बरतें कि अपने व अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और आपसी छोटी-छोटी तकरार को इग्नोर करें। उपाय: 1. प्रतिदिन गाय को हरा चारा खिलायें। 2. गणेश जी की आराधना करें। 3. पक्षियों को भोजन दें। कर्क राशि कर्क राशि के जातकों को आने वाले वर्ष में स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा, शारीरिक पक्ष के प्रति सावधानी बरतनी होगी और आर्थिक उतार-चढ़ाव भी पूर्णतः संभव है। अतः लेन-देन में सतर्कता बरतें। उपाय: 1. शनिवार को पांच कंबल गरीब व्यक्तियों को दान करें। 2. ऊँ कें केतवे नमः का जाप करें। 3. चांदी का स्वास्तिक गले में धारण करें या पास में रखें। सिंह राशि सिंह राशि के जातकों को चल रही स्वास्थ्य समस्याएं समाप्त होंगी। इस दृष्टि से तो यह शुभ परिवर्तन है परंतु राशि में राहु आने से मानसिक अशांति बनी रहेगी अतः मन को एकाग्र करने का प्रयास करें और वैवाहिक जीवन में विवादों को न बढ़ने दें। उपाय: 1. शनिवार को काली उड़द का दान करें। 2. पीपल के वृक्ष में जल दें। 3. सूर्य के दर्शन प्रतिदिन प्रातः काल अवश्य करें। कन्या राशि कन्या राशि के जातकों के लिए अनचाहे खर्च बढ़ेंगे, धन हानि की संभावना होगी तथा व्यावसायिक पक्ष में भी संघर्ष बढ़ सकता है। अतः विशेषकर आर्थिक पक्ष या लेन-देन के मामलों में बहुत सावधानी बरतें और माता पिता का ध्यान रखें। उपाय: 1. ऊँ रां राहवे नमः का जाप करें। 2. शनिवार को सतनाजा दान करें। 3. प्रतिदिन कुत्तों को भोजन दें। तुला राशि तुला राशि के लिये यह परिवर्तन शुभकारक है। काफी समय से चल रही धनहानि की समस्या में कमी आयेगी। आकस्मिक लाभ के योग बनेंगे। सावधानी के तौर पर यह ध्यान रखें कि छोटे भाई-बहनों से विवाद को ज्यादा न बढ़ायें और अपने उत्साह को बनाये रखें। उपाय: 1. हनुमान चालीसा का पाठ करें। 2. शनिवार को गरीबों या कुष्ठाश्रम में भोजन दें। 3. पक्षियों को दाना डालें। वृश्चिक राशि वृश्चिक राशि के जातकों के लिये मानसिक तनाव और संघर्ष की स्थिति बनी रहेगी तथा गृह क्लेश के प्रति सचेत रहना होगा। आगे के समय में यह बढ़ सकता है। संपत्ति को लेकर कोई इन्वेस्टमेंट बहुत सावधानी पूर्वक करें। उपाय: 1. शनिवार को पांच कंबल गरीबों में बांटें। 2. बुधवार को गणेश जी को बूंदी के लडडू चढ़ायें। 3. प्रतिदिन तेल का परांठा कुत्ते को खिलायें।

नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2016

नववर्ष 2016 का आगमन शीघ्र ही हो रहा है। हर व्यक्ति नये साल की शुरुआत शुभत्व के साथ करना चाहता है तथा उसकी यह कोशिश होती है कि आने वाला साल यादगार साबित हो। फ्यूचर समाचार के नववर्ष विशेषांक में बहुविध एवं बहुआयामी आलेखों का संग्रह है जिसमें सम्मिलित हैंः उत्तरायण और मकर संक्रान्ति की भ्रान्ति, आमिर खान के विवादित बोल, राहु-केतु का राशि परिवर्तन, 2016 में मौसम का हाल, नववर्ष 2016 मंगलकारी कैसे हो, 2016 में भारत की राजनीति, अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार, वार्षिक राशिफल 2016 आदि। इसके अतिरिक्त इस विशेषांक में सभी स्थाई स्तम्भों का समावेश भी पूर्व की भांति किया गया है जिसमें विविध आयामी आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

.