शुभ कर्म से बनायें दीपावली को मंगलमय

शुभ कर्म से बनायें दीपावली को मंगलमय  

मेष - मेष राशि के जातक दीपावली पर मंदिर में गणेश जी को बूंदी के लड्डू चढ़ायें। - किसी गरीब व्यक्ति को एक कंबल दान करें। - कुत्तों को कुछ भोजन दें। - रात्रि में घर के नैर्ऋत्य कोण में एक दीया अवश्य जलायें। वृष - मंदिर में श्रद्धानुसार गुड़ का दान करें। - हनुमान चालीसा का पाठ करें। - गरीब व्यक्तियों मंे रेवड़ियां बाँटें। - घर की दक्षिण दिशा में एक दीया अवश्य जलायें। शुभ कर्म से बनायें दीपावली को मंगलमय मिथुन - एक नारियल और ग्यारह साबुत बादाम मंदिर में दुर्गा जी को अर्पित करें। - पक्षियों को भोजन दें। - अपने दादाजी या अन्य किसी बुजूर्ग व्यक्ति को जूते भेंट करें। - घर के नैर्ऋत्य कोण में एक दीया अवश्य जलायें। कर्क - हनुमान जी को प्रसाद चढ़ायें। - सवा किलो साबुत उड़द किसी गरीब व्यक्ति को दान करें। - सरसां के तेल का पराठा कुत्ते को खिलायें। - घर की पश्चिम दिशा में एक दीया अवश्य जलायें। सिंह - ऊँ गं गणपतये नमः का जाप करें (1 माला)। - सप्तनाज का श्रद्धानुसार दान करें। पपपद्ध तिल से बनी मिठाई का दान करें। - घर के नैर्ऋत्य कोण में एक दीया अवश्य जलायें। कन्या - शनि मंदिर में सरसां तेल का दीया जलायें। पपद्ध उडद दाल की खिचड़ी कुष्ठाश्रम में बांटें। - वृद्ध व्यक्तियों को मोजे भंट करें। - घर की पश्चिम दिशा में एक दीया अवश्य जलायें। तुला - दुर्गा चालीसा का पाठ करें। - बाजरे के आटे की रोटी गाय को खिलायें। - पीपल के वृक्ष में जल अर्पित करें। - घर के पश्चिम और नैर्ऋत्य में दीये अवश्य जलायें। वृश्चिक - कंबल का दान करें। - सूर्य को अघ्र्य अवश्य दें। - हनुमान मंदिर में प्रसाद चढ़ायें। - घर में ब्रह्मस्थल पर एक दीया अवश्य जलायें। धनु - गणेश जी को बूंदी के लड्डू चढ़ायें। - गाय को गुड़ अवश्य खिलायें। - जल में काले-सफेद तिल मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करें। - घर के नैर्ऋत्य कोण में दीया जलायें। मकर - मंदिर में साबुत मसूर का दान करें। - बड़े भाई को कोई भेंट अवश्य दें। - लक्ष्मी पूजा में रेवड़ी का उपयोग करें। - घर के दक्षिण में दीये जलायें। कुंभ - दुर्गा मंदिर में 4 नारियल अर्पित करें। - पक्षियों को भोजन दें। - सफेद चंदन युक्त जल से शिवलिंग का अभिषेक करें। - घर के नैर्ऋत्य कोण में दीये जलायें। मीन - शनि मंदिर में साबुत उडद दान करें। - हनुमान चालीसा का पाठ करें। - सरसों तेल का पराठा कुत्तों को खिलायें। - पश्चिम दिशा में आठ दीये जलायें। दीपावली के सिद्ध पर्व पर यदि ये सरल उपाय किये जायें तो निश्चित ही बहुत सी बाधाओं से आपको मुक्ति मिलेगी।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.