Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

अध्यात्म, धर्म आदि


भूत-प्रेत बाधा निवारण का सरल उपाय शाबर मंत्र अनुष्ठान

मार्च 2010

व्यूस: 84298

भूत-प्रेत बाधाओं, जादू-टोनों आदि के प्रभाव से भले-चंगे लोगों का जीवन भी दुखमय हो जाता है। ज्योतिष तथा शाबर ग्रंथों में इन बाधाओं से मुक्ति के अनेकानेक उपाय उपाय बताए गए हैं।... और पढ़ें

उपायअध्यात्म, धर्म आदिविविध

दाह संस्कार- अंतिम संस्कार

जून 2013

व्यूस: 47102

हिंदू धर्म में मृत्यु को जीवन का अंत नहीं माना गया है। मृत्यु होने पर यह माना जाता है कि यह वह समय है, जब आत्मा इस शरीर को छोड़कर पुनः किसी नये रूप में शरीर धारण करती है, या मोक्ष प्राप्ति की यात्रा आरंभ करती है । किसी व्यक्ति की म... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदिमुहूर्त

दक्षिणावर्ती शंख

जून 2013

व्यूस: 42081

दक्षिणावर्ती शंख जिसके घर में रहता है वहां सब मंगल होते हैं। लक्ष्मी स्वयं स्थिर होकर निवास करती है। जिस घर में उत्तम दक्षिणावर्ती शंख की पूजा होती है वह सौभाग्यशाली तथा धनपति बन जाता है क्योंकि चंद्रमा के अमृत मंडल से संचित समुद्... और पढ़ें

उपायअध्यात्म, धर्म आदिविविध

रुद्राक्ष: एक वरदान

मई 2014

व्यूस: 32133

रुद्राक्ष एक ऐसा फल फल जिसके अंदर लगभग सभी देवी-देवता निवास करते हैं। रूद्राक्ष को धारण करने से हर प्रकार के दुःखां का शमन होता है। इस लेख में एक मुखी रुद्राक्ष से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही ह... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्ररूद्राक्षराशि

श्री हरसू ब्रह्म धाम

जून 2014

व्यूस: 30910

आदि अनादि काल से धर्म, संस्कृति व आस्था भाव से परिपूर्ण भारत देश में सनातन देवी देवताओं के अलावा कितने ही लोक देवी देवताओं की पूजा की जाती है। कहीं ये डाक बाबा, कहीं ये गोलू देवता, कहीं बालाजी, कहीं डिहवार बाबा, कह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

लक्ष्मी कृपा प्राप्ति के सरल प्रयोग

अकतूबर 2014

व्यूस: 29424

यह धारणा लोगों के मन में स्थायी रूप से घर कर गई है कि लक्ष्मी चंचला है, एक जगह स्थायी रूप से रूकती नहीं पर सत्यता इसके विपरीत है। ऐसा अकर्मण्य, श्रम से बचने वाले, उत्तरदायित्वों से विमुख रहने वालों ने- स्थापित करने क... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

‘त्रिपिंडी श्राद्ध का अधिकारी एवं उसका फल’

सितम्बर 2010

व्यूस: 25904

त्रि पिंडी श्राद्ध करने का अधिकार विवाहित पति-पत्नी के जोड़े को होता है। जिसकी पत्नी जीवित नहीं है, उसे भी यह अधिकार है। अविवाहित व्यक्ति भी यह कार्य कर सकता है हिंदू धर्म में स्त्री को विवाह के पश्चात दूसरे घराने में जाना पड़ता ... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदिविविध

बृहस्पति का प्रिय केसर

जून 2013

व्यूस: 25308

हमारी प्रकृति ने हमें कई ऐसे मसाले और जड़ी-बूटियां दी हैं जो हमारे लिए कम फायदेमंद नहीं है। केसर का मसालों में विशिष्ट स्थान है। केसर सबसे कीमती मसाला है जिसे अंग्रेजी में सैफ्रोन कहते हैं। साधारणतः इसे उर्दू और अरबी में जाफरान कहत... और पढ़ें

ज्योतिषउपायअध्यात्म, धर्म आदि

त्रिकालद्रष्टा भृगु ऋषि और भृगु संहिता का सच

जनवरी 2008

व्यूस: 24416

भारतीय ऋषि भृगु की ख्याति एक ऐसे कालातीत भविष्यवक्ता के रूप में है जो भूत, भविष्य और वर्तमान पर समान दृष्टि रखते थे। वह समय की मोटी दीवार के आर-पार ऐसे देख सकते थे जैसे किसी पारदर्षी कांच में से देख रहे हांे। भृगु संहिता को भारत... और पढ़ें

उपायअध्यात्म, धर्म आदि

मुंडन संस्कार

जनवरी 2010

व्यूस: 23185

हिंदू धर्म के अनुसार 16 मुख्य संस्कारों में से एक संस्कार मुंडन भी है। शिशु जब जन्म लेता है तब उसके सिर पर गर्भ के समय से ही कुछ केष पाए जाते हैं जो अषुद्ध माने जाते हैं।... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदिविविध

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)