अध्यात्म, धर्म आदि


ईश्वर प्राप्ति का सहज मार्ग कौन - ज्ञान मार्ग या भक्ति मार्ग

अप्रैल 2013

व्यूस: 9133

वृन्दावन में एक स्थान ऐसा है, जहाँ ज्ञान हारा और भक्ति जीती। इस प्रसंग ने लोक मानस में यह बैठाया की ज्ञानार्जन स अधिक ज्ञानानुभव महत्वपूर्ण होता है। बुद्धि से ज्यादा भावनाएं प्रमुख होती है।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

गर्भाधान संस्कार

अप्रैल 2014

व्यूस: 8963

भारतीय संस्कृति में कलिकाल में मनुष्य के सोलह संस्कारों का वर्णन किया है उसमें प्रथम संस्कार है। हमारे घर में उत्तम संतान का जन्म हो यही सभी चाहते हैं। हर मनुष्य की इच्छा होती है उसकी संतान उत्तम गुणयुक्त, संस्कारी, बलवान, आरोग्यव... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदिविविध

विशिष्ट महत्व है काशी के कालभैरव का

जून 2013

व्यूस: 8940

भारत देश की सांस्कृतिक राजधानी और मंदिरों की महानगरी वाराणसी में मंदिरों की कोई कमी नहीं। काशी तीर्थ में उत्तर से लेकर दक्षिण तक और पूरब से लेकर पश्चिम तक एक से बढ़कर एक मान्यता प्राप्त पौराणिक देवालय हैं पर इनकी कुल संख्या कितनी ह... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिविविधमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

क्या है पितृ दोष अथवा पितृ ऋण?

सितम्बर 2014

व्यूस: 8822

लोगों की मृत्यु उपरांत विभिन्न कारणों से अथवा मोह माया वश जब उनकी आत्मा बंधन मुक्त न होकर मृत्यु लोक में ही घूमती रहती है और स्वयं मुक्त न होने के कारण इन पूर्वजों का अपने परिवार पर नकारात्मक अथवा किसी न किसी रूप में... और पढ़ें

ज्योतिषउपायअध्यात्म, धर्म आदिभविष्यवाणी तकनीक

भगवान श्री गणेश और उनका मूलमंत्र

जुलाई 2013

व्यूस: 8765

हिंदुओं के सभी कार्यों का श्रीगणेश अर्थात शुभारंभ भगवान गणपति के स्मरण एवं पूजन से किया जाता है। भगवान श्री गणेश की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि उनके पूजन एवं स्मरण का यह क्रम जीवन भर लगातार चलता रहता है। चाहे कोई व्रत, पर्व, उत्सव,... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्रयंत्र

ज्योतिष विज्ञान है, या अंध्विश्वास?

अप्रैल 2004

व्यूस: 8434

अभी तक परिचर्चा हुआ करती थीं कि विज्ञान वरदान है, या अभिशाप ? लेकिन समय के बदलते परिवेश में आज परिचर्चा का विषय भी बदला है और आजकल परिचर्चा का सबसे ज्वलंत विषय है - ज्योतिष विज्ञान है, या महज एक अंधविश्वास। यह बात इससे और भी साबित... और पढ़ें

ज्योतिषअध्यात्म, धर्म आदि

शीघ्र विवाहार्थ व क्रोध शमन हेतु शावर मंत्र

अकतूबर 2014

व्यूस: 8421

भारतीय संस्कृति अनुसार जो विवाहादि कार्य सोलह वर्ष की अवस्था तक निश्चित रूप से संपन्न कर दिए जाते थे, आज भारत, भारत सरकार व स्व विचारधारा के अनुसार वह शुभ कार्य विलंब से पूर्ण किए जाते हैं। ऐसी स्थिति में वर व कन्या में हठधर्म... और पढ़ें

देवी और देवअन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदिमंत्र

गुरु का माहात्म्य

जुलाई 2013

व्यूस: 8100

गुरु ही ब्रह्मा हैं, गुरु ही विष्णु हैं, गुरुदेव ही महेश भी हैं अर्थात् गुरु साक्षात् परम बह्म हैं। अतः हे गुरुदेव ! आपको शत्-शत् नमन। गुरु का माहात्म्य आदिकाल से ही स्थापित है। गुरु के माहात्म्य का बखान करना सूर्य को दीया दिखाने ... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदि

संत देवरहा बाबा

अप्रैल 2013

व्यूस: 7891

वह बबूल का पेड़ नहीं मेरा शिष्य है, न कटेगा, न छांटा जाएगा। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम टल गया, मगर पेड़ को आंच न आने दी। न उम्र का पता, न इतिहास का, लेकिन हरदिल अजीज रहा दिगंबर।... और पढ़ें

प्रसिद्ध लोगअध्यात्म, धर्म आदिविविध

अश्वत्थ व्रत एवं महिमा

मई 2010

व्यूस: 7823

अश्वत्थ पीपल के वृक्ष का ही एक नाम है। पंचदेव वृक्षों में अश्वत्थ का स्थान सर्वोपरि है। प्रस्तुत है ब्रह्मांड पुराण में ब्रह्माजी द्वारा अश्वत्थ व्रत पूजा की महिमा का बखान का वर्णन..... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)