दीपावली पर किये जाने वाले सरल टोटके

दीपावली पर किये जाने वाले सरल टोटके  

Û नौकरी चाहने रखने वाले जातक को दीपावली की शाम पीलीचने की दाल लक्ष्मीजी पर छिड़क देनी चाहिए। उन छिड़के दानों को परिवार का कोई सदस्य न उठाएं। श्रीमहालक्ष्मी पूजन के कुछ देर बाद जातक स्वयं उनको एकत्रित कर बाहर पीपल के वृक्ष के नीचे डाल आए। Û दीपावली की रात्रि में निवास के प्रत्येक कक्ष व मुख्य द्वार पर गेंहू की ढेरी बनाकर उसके ऊपर घी का दीपक प्रज्ज्वलित करना चाहिए। जो रात भर जलें। इस उपाय से मां लक्ष्मी का प्रवेश होता है। यह उपाय बेरोजगारों को अवश्य करना चाहिए क्योंकि यह उपाय रोजगार के मार्ग को प्रशस्त करता है। Û यदि आपके आर्थिक कार्यों में अधिक बाधाएं आती हैं तो आप धनतेरस से दीपावली तक लगातार तीन दिन संध्याकाल में श्रीगणेश स्तोत्र का पाठ करें। पाठ के बाद गाय को कोई हरी सब्जी अथवा घास खिलाएं। Û धनतेरस के दिन कुछ चांदी व सोने के वर्क तथा सात श्रीफल खरीद कर घर के मंदिर रखें। दीपावली की रात्रि में पूजन के समय लाल वस्त्र पर रखें। पूजन के बाद कमलगट्ठे की माला से श्रीं का तीन माला जप करें। मंत्र जप के बाद सातों श्रीफल को उसी लाल वस्त्र में बांधकर धन रखने के स्थान पर रख दें। Û दीपावली के दिन प्रातःकाल तुलसी के पŸाों की माला बनाकर श्रीमहालक्ष्मी के चरणों में अर्पित करें। धन लाभ होगा। Û दीपावली के पूजन से पहले आप किसी भी गरीब सुहागिन स्त्री को अपनी पत्नी के द्वारा सुहाग सामग्री अवश्य दिलवाएं। सामगी में इत्र अवश्य होना चाहिए। Û दीपावली के दिन से लगातार 51 दिनों तक एक रुपया किसी भी मंदिर में मां लक्ष्मी के नाम से अर्पित करें तथा मां लक्ष्मी से संपन्नता के लिए प्रार्थना करें। अवश्य धन लाभ होगा। Û छोटी दीपावली की सुबह गजराज (हाथी) को गन्ने या मीठी वस्तु अपने हाथ से खिलाएं तो आर्थिक लाभ होगा। Û दीपावली की शाम को काली उड़द के दो साबुत पापड़ लेकर उस पर थोड़ा दही और सिंदूर डाल दें। तत्पश्चात् पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। ऐसा लगातर सात दिनों तक करने से धन लाभ होता है। Û परिवार में सुख-शांति बनी रहे, वैमनस्य न बढ़े इसके लिए दीपावली को एक मिट्टी के पात्र में अंगारे तथा जंगली कबूतर की बीट को डालकर उसका धुआं प्रत्येक कमरे में दें। ऐसा करने से परिवार में एकता बनी रहेगी। Û दीवाली की रात बहीखाता, तिजोरी, कलम-दवात पूजन के लिए जाने से पहले शुद्ध केसर मिलाकर मिठाई दी खा लें। इसके पश्चात ही प्रस्थान करें। कार्य सिद्ध होगा। Û पीपल के पांच पŸाों पर पनीर, दूध से बना कोई भी मिष्ठान दीपावली की रात पीपल के नीचे रख दें। कार्य बनेंगे। Û आप दीपावली की रात्रि में पूजन के समय इक्कीस हकीक के पत्थरों का भी पूजन करें। पूजन के बाद उन्हें अपने निवास में कही भी गाढ़ दें तो आपके निवास में वर्ष भर मां लक्ष्मी का स्थाई वास्तु रहेगा। Û धनतेरस से दीपावली की रात तक निम्न मंत्र का 41000 जप करें। यदि संभव हो तो दीपावली की रात में मंत्र का दशांश हवन कर लें। इसके बाद ग्यारह माला नित्य जप करें तो साधक के पास धन का अभाव नहीं रहेगा। ऊँ महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात। Û दीपावली की रात में ग्यारह माला जप करके मंत्र को सिद्ध कर लें इसके बाद हर रोज रात में ग्यारह माला का जप करें। केवल मात्र 41 दिन में आर्थिक संकट दूर हो जाएगा। इसके बाद प्रतिदिन मंत्र का जप करें।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.