ग्रह शांति एवं उपाय विशेषांक

ग्रह शांति एवं उपाय विशेषांक  सितम्बर 2010

अंक के और लेख | व्यूस : 5429 |
ज्योतिष में विभिन्न उपायों का फल, लाल किताब के उपाय, व्यवहारिक उपाय, उपायों का उद्देश्य, औषधि स्नान व रत्नों का प्रयोग इत्यादि सभी विषयों की सांगोपांग जानकारी देने वाला यह विशेषांक प्रत्येक घर की आवश्यकता है। उपायों में मंत्र व उपासना के महत्व के अतिरिक्त यंत्र धारण/पूजन द्वारा ग्रह दोष निवारण की विधि भी स्पष्ट की गई है। ज्योतिष द्वारा भविष्यकथन में सहायता मिलती है परंतु इसका मूल उद्देश्य समस्याओं के सटीक समाधान जुटाना है। इस उद्देश्य की प्रतिपूर्ति करने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए यह अंक विशेष उपयोगी है।
jyotish men vibhinn upayon ka fal, lal kitab ke upay, vyavharik upay, upayon ka uddeshya, aushdhi snan v ratnon ka prayog ityadi sabhi vishyon ki sangopang jankari dene vala yah visheshank pratyek ghar ki avashyakta hai. upayon men mantra v upasna ke mahatva ke atirikt yantra dharn/pujan dvara grah dosh nivaran ki vidhi bhi spasht ki gai hai.jyotish dvara bhavishyakathan men sahayta milti hai parantu iska mul uddeshya samasyaon ke satik samadhan jutana hai. is uddeshya ki pratipurti karne ke uddeshya ko pura karne ke lie yah ank vishesh upyogi hai.



ग्रह शांति एवं उपाय विशेषांक  सितम्बर 2010

ज्योतिष में विभिन्न उपायों का फल, लाल किताब के उपाय, व्यवहारिक उपाय, उपायों का उद्देश्य, औषधि स्नान व रत्नों का प्रयोग इत्यादि सभी विषयों की सांगोपांग जानकारी देने वाला यह विशेषांक प्रत्येक घर की आवश्यकता है। उपायों में मंत्र व उपासना के महत्व के अतिरिक्त यंत्र धारण/पूजन द्वारा ग्रह दोष निवारण की विधि भी स्पष्ट की गई है। ज्योतिष द्वारा भविष्यकथन में सहायता मिलती है परंतु इसका मूल उद्देश्य समस्याओं के सटीक समाधान जुटाना है। इस उद्देश्य की प्रतिपूर्ति करने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए यह अंक विशेष उपयोगी है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.