राकेश कुमार सिन्हा ‘रवि’


(29 लेख)
श्री हरसू ब्रह्म धाम

जून 2014

व्यूस: 8411

आदि अनादि काल से धर्म, संस्कृति व आस्था भाव से परिपूर्ण भारत देश में सनातन देवी देवताओं के अलावा कितने ही लोक देवी देवताओं की पूजा की जाती है। कहीं ये डाक बाबा, कहीं ये गोलू देवता, कहीं बालाजी, कहीं डिहवार बाबा, कह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

विशिष्ट महत्व है काशी के कालभैरव का

जून 2013

व्यूस: 4952

भारत देश की सांस्कृतिक राजधानी और मंदिरों की महानगरी वाराणसी में मंदिरों की कोई कमी नहीं। काशी तीर्थ में उत्तर से लेकर दक्षिण तक और पूरब से लेकर पश्चिम तक एक से बढ़कर एक मान्यता प्राप्त पौराणिक देवालय हैं पर इनकी कुल संख्या कितनी ह... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिविविधमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

जाग्रत महिमामयी देवी तीर्थ कन्याकुमारी

जून 2011

व्यूस: 4008

भारत के दक्षिण भाग में स्थित कन्याकुमारी में बंगाल की खाड़ी, हिंद महासागर एवं अरब सागर का एक ही साथ दर्शन होता है। इसलिए इस स्थान की महिमा ÷सागरतीर्थ' नाम से भी मंडित है। इस सागर के बीच इस नगर की देवी मां कुमारी' का पवित्र मंदिर है... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

बिहार का खजुराहो - नेपाली मंदिर

अप्रैल 2013

व्यूस: 3845

आदि-अनादि काल से सामाजिक प्रकाश स्तम्भ की भांति मंदिरों का अस्तित्व भारतीय समाज में विद्यमान रहा है। समाज को सही, स्वच्छ व् सटीक मार्गदर्शन देने वाले इन देवालयों में प्राकृतिक देवों के अलावा विभिन्न देवी-देवताओं की प्रतिमाएं स्थाप... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

श्री महावीर निर्वाण भूमि-पावापुरी

मार्च 2011

व्यूस: 3571

भारतीय जैन तीर्थ स्थलों में बिहार के मगध क्षेत्र में स्थित पावापुरी का विषिष्ट स्थान है। भगवान महावीर की इस निर्वाण स्थली के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए यह लेख पर्याप्त उपयोगी है।... और पढ़ें

प्रसिद्ध लोगस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

दर्शनीय है भगवती तारापीठ: केसपा

फ़रवरी 2013

व्यूस: 3119

रत्नगर्भा धरती भारतवर्ष में समय समय पर ऐसे महात्माओं का अवतरण हुआ हैं। जिन्होंने विश्व बंधुत्व और वसुधैव कुटुम्बकम की भावना से ओत प्रोत होकर न सिर्फ भारतीय आदर्शों का पूरी ईमानदारी से अनुपालन व् संरक्षण किया वरन जनकल्याणार्थ कितने... और पढ़ें

देवी और देवस्थानविविधमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

महिमामयी महारानी संभलेश्वरी भवानी

जनवरी 2011

व्यूस: 1981

उड़ीसा प्रदेश स्थित मां संभलेश्वरी मंदिर की गणना प्राचीनतम देवी तीर्थ के रूप की जाती है। प्रस्तुत है मंदिर का पौराणिक महत्व एवं यात्रा मार्ग की जानकारी... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

सिद्धपीठ ‘रजरप्पा’

अकतूबर 2014

व्यूस: 1904

प्रकारान्तर से भारतवर्ष में शक्ति पूजा की विशद् परंपरा रही है। यहां देवी विभिन्न रूपों में युगों-युगों से देवताओं, संतों, ऋषि-मुनियों एवं जनसामान्य द्वारा पूजित इस चराचर जगत् में घटित समस्त कार्यों की हेतु प्रतीत होती हैं। संप... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

सिद्ध शक्ति पीठ मां भद्रकाली मंदिर

नवेम्बर 2011

व्यूस: 1713

पर्यटन के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण कई ऐतिहासिक व सांस्कृतिक स्थल झारखंड राज्य में अवस्थित हैं जो अपने समृद्ध सांस्कृतिक एवं धार्मिक अतीत के कारण युगों-युगों से देश-विदेश के पर्यटकों एवं श्रद्धालु-भक्तों के आकर्षण के केंद्र रहे हैं।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

महिमाकारी हैं बाबा गौरी शंकर महादेव

आगस्त 2014

व्यूस: 1653

आदि अनादि काल से शिव शंकर पूजन की महाभूमि अम्बूद्वीप में कितने ही स्थानों पर देवों के देव महादेव के ऐतिहासिक देवालय हैं। इन्हीं देवालयों में खुशरूपुर के वैकठपुर के गौरी शंकर महादेव की गणना की जाती है जो सौंदर्यशास्त्र, वास्तु ... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)