प्रमोद कुमार सिन्हा


पूजा स्थान

नवेम्बर 2013

व्यूस: 77814

प्रश्न- भवन में पूजा घर उत्तर-पूर्व में ही रखना क्यों अधिक लाभप्रद है ? उत्तर -पूजा घर हमेषा उत्तर-पूर्व दिषा अर्थात् ईषान कोण में ही बनाना चाहिए क्योंकि उत्तर-पूर्व में परमपिता परमेष्वर अर्थात ईष्वर का वास होता है। कहा जाता है कि... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु के सुझाव

वास्तु एवं फेंगसुई के कुछ मुख्य उपाय

जून 2013

व्यूस: 17808

यदि तीन दरवाजे घर, या किसी वास्तु में एक कतार में हों, तो बीच के दरवाजे पर स्फटिक गोला टांग दें, दोष दूर हो जाएगा। Û सुनहरी मछलियों वाला लघु मछली घर अपने घर में रखना सौभाग्य में वृ़िद्ध करने का एक कारगार उपाय है। इसका उपयोग पूर्व ... और पढ़ें

फेंग शुईउपायवास्तुवास्तु के सुझाव

दक्षिण-पश्चिम का दोष प्रगति में बाधक

जुलाई 2013

व्यूस: 6125

चुम्बकीय कंपास के अनुसार 202 डिग्री से लेकर 247 डिग्री के मध्य के क्षेत्र को नैर्ऋत्य (दक्षिण-पश्चिम) दिशा कहते हैं। दक्षिण-पश्चिम का क्षेत्र पृथ्वी तत्व के लिए निर्धारित है। यह सभी तत्वों से स्थिर है। यह दिशा सभी प्रकार की विषमता... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायवास्तुसुखगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

पर्यावरण वास्तु

अप्रैल 2013

व्यूस: 5532

पर्यावरण को ठीक रखने के लिए घर के आस-पास पेड़ पौधों का होना आवश्यक है। कौन सा पौधा हमारे जीवन के लिए उपयोगी है और कौन सा पौधा लगाने से वास्तु दोष ठीक किया जा सकता है। इसकी जानकारी के लिए कुछ तथ्य यहाँ प्रस्तुत है-... और पढ़ें

उपायवास्तुगृह वास्तुवास्तु के सुझाव

वृक्ष का वास्तु में महत्व

मार्च 2014

व्यूस: 4585

पर्यावरण को ठीक रखने के लिए घर के आस पास पेड़-पौधांे का होना आवष्यक है क्योंकि पेड़-पौधे ध्रुवीय आकर्षण से प्रभावित होकर हमारे पर्यावरण को शुद्ध एवं परिष्कृत करतेे हैं।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

मिट्टी की जांच करने की विधि

नवेम्बर 2011

व्यूस: 4082

नींव की प्लान तैयार करने से पहले नींव वाले स्थान की मिट्टी की जांच करना बहुत जरूरी होता है। मिट्टी की जांच करने से हमें पता चल जाता है कि मिट्टी में क्या गुण हैं।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु सम्मत अस्पताल

अकतूबर 2010

व्यूस: 3391

अस्पताल एक ऐसा स्थल है जो समाज के लिए स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करता है। अतः ऐसे संस्थान का निर्माण वास्तु के नियमों के अनुसार होना चाहिए जिससे बीमार व्यक्ति यथाशीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकें। इससे डॉक्टर और मरीज दोनों को लाभ ह... और पढ़ें

स्वास्थ्यवास्तुभवनसुखव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

वास्तु में दिशा ज्ञान

अप्रैल 2015

व्यूस: 3164

प्र.: भवन में पूर्व दिशा का क्या महत्व है ? उ.: वास्तु शास्त्र का मुख्य आधार ज्योतिष शास्त्र है। जिस प्रकार ग्रहों के अनुकूल और प्रतिकूल प्रभाव मानव जीवन पर पड़ते हंै उसी प्रकार ग्रह अपने शुभ और अशुभ प्रभाव से वास्तु की दिशा... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु शिक्षा

फ़रवरी 2011

व्यूस: 3135

वास्तु विज्ञान में विभिन्न दिशाएं किन-किन बातों का प्रतिनिधित्व करती है। आइए, जानें, भवन निर्माण के क्षेत्र में इनका लाभ किस प्रकार लिया जा सकता है और क्या सावधानी बरती जा सकती है।... और पढ़ें

वास्तुशिक्षाभविष्यवाणी तकनीकवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु सीखें

जून 2011

व्यूस: 3058

भवन में पूजा कक्ष, सीढ़ी, किस दिशा में होनी चाहिए जिससे कि सकरात्मक ऊर्जा प्राप्त हो सकें एवं सुख समृद्धि की प्राप्ति हो सके आइए जानें वास्तु शास्त्री प्रमोद कुमार सिन्हा जी से... और पढ़ें

ज्योतिषटैरोवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)