brihat_report No Thanks Get this offer
fututrepoint
futurepoint_offer Get Offer

अन्य पराविद्याएं


क्या है स्वप्न का विज्ञान?

जून 2010

व्यूस: 10980

हमारे मस्तिष्क को दिन भर जो सिगनल मिलते हैं और भावनाएं जागृत होती है जिन्हें हम चाह कर के भी नहीं प्रकट कर पाते वह हमारे अवचेतन मन में दर्ज होते जाते हैं रात को जब शरीर आराम कर रहा होता है तब यह स्वप्न रूप में प्रकट होते हैं। जानि... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपने

शुक्ल पक्ष शुक्रवार, शनिवार एवं पंच पक्षी के कार्य

सितम्बर 2014

व्यूस: 10969

प्रत्येक मनुष्य का जन्म या तो दिन अथवा रात्रि, कृष्ण पक्ष अथवा शुक्ल पक्ष एवं सप्ताह के किसी एक वार को होता है। पंच पक्षी पांच तात्त्विक स्पंदन के आधार पर पांच तरीके से शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष में चंद्र के बढ़ते एवं घटते कल... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंपंचांग

क्या स्वप्न सच होते हैं?

जून 2014

व्यूस: 10758

स्वप्नों के शुभ एवं अशुभ अर्थ लगाए जाते हैं। जीवन में जितने और जिस प्रकार के स्वप्न दिखाई देते हंै इन सबको लिपिबद्ध करना संभव नहीं है। स्वप्न एक ऐसा चलचित्र है जिसका न तो कोई प्रारंभ है न ही अंत। एक ही रात में मनुष्य ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपने

दुः स्वप्न : कारण-प्रभाव-निवारण

मार्च 2010

व्यूस: 10574

भारतीय जयोतिष में सपनों की विस्तृत व्याख्या की गई है। सपनों में विभिन्न वस्तुओं, पशु पक्षियों आदि के किन अवस्थाओं में दिखाई देने का क्या अशुभ फल हो सकता है इसका संक्षिप्त विवरण यहां प्रस्तुत है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपनेविविधभविष्यवाणी तकनीक

तंत्र रहस्य और साधना में सफलता असफलता के कारण

अकतूबर 2014

व्यूस: 10539

तंत्र अपने आप में एक रहस्य का परिचायक है। भगवान शिव ने मनुष्य के कल्याण के लिए कुछ ऐसी विद्याओं का निर्माण किया जिनके माध्यम से मानव ही नहीं देवता और राक्षसों के द्वारा गुप्त विद्याओं के प्रयोग उनकी साधना के माध्यम से ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

जीवन में शकुन की महत्ता

जून 2014

व्यूस: 10220

शकुन एक ऐसा जाना माना माध्यम है जो व्यक्ति के जीवन में होने वाली शुभाशुभ घटनाओं का संकेत बनता है। आदिकाल से व्यक्ति शकुन में विश्वास करता चला आ रहा है। शकुन को दो श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है। अशुभ से बचने क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंशकुन

वृक्षों का वैदिक महत्व

अप्रैल 2004

व्यूस: 9680

पश्चिम के लोग तथा नये पढ़े-लिखे भारतीय भारत देश में प्रचलित वृक्ष पूजा का बड़ा मजाक उड़ाते हैं, जबकि स्वयं पूरे विश्व को क्रिसमस के दिन क्रिसमस ट्री की आराधना करने के लिए प्रेरित करते हंै। भारतीयों को पेड़-पत्ते का पुजारी कहा जाता है।... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदि

अपशकुन क्या है

मार्च 2010

व्यूस: 9614

कार्य की अपूर्णता दर्शाने वाले लक्षणों हम अपशकुन मानते हैं। यहां पाठकों के लाभार्थ हेतु उपयोग की कुछ वस्तुओं, विभिन्न जीव जंतुओं, पक्षियों आदि से जुड़े कुछ अपशकुनों का विवरण प्रस्तुत है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायशकुन

नजर दोष निवारक मंत्र व यंत्र

मार्च 2010

व्यूस: 9579

वायुमंडल में व्याप्त अदृश्य शक्तियों के दुष्प्रभाव से ग्रस्त लोगों का जीवन दूभर हो जाता है। प्रत्यक्ष रूप से दिखाई न देने के फलस्वरूप किसी चिकित्सकीय उपाय से इनसे मुक्ति संभव नहीं होती।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायमंत्रविविधयंत्र

आकृति ही मनुष्य की पहचान है !

आगस्त 2014

व्यूस: 9406

अपने दैनिक-जीवन में हम जितने व्यक्तियों के संपर्क में आते हैं उनकी आकृति देखकर अंदाज लगा लेते हैं कि इनमें से कौन किस ढंग का है, उसका स्वभाव, चाल-चलन, चरित्र कैसा है? यह अंदाज बहुत अंशों तक सही ही उतरता है। मनुष्यों को पहचान... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)