कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके ब्रजवासी संत बाबा फतह सिंह छोटे-छोटे उपाय हर घर में लोग जानते हैं, पर उनकी विधिवत् जानकारी के अभाव में वे उनके लाभ से वंचित रह जाते हैं। इस लोकप्रिय स्तंभ में उपयोगी टोटकों की विधिवत् जानकारी दी जा रही है। कुश का बंदा भरणी नक्षत्र में लाकर विधिवत पूजा कर ऊँ नमो धनदाय स्वाहा मंत्र की ग्यारह माला करके इस मंत्र की 108 बार आहूति देकर बांदे का लाल या पीले कपड़े में रखकर उसमें मुद्रा, एक गॉठ हल्दी, अक्षत आदि से एक पोटली बनाकर अपनी तिजोरी में रखने से घर में धन-धान्य की वृद्धि होती है। इमली के वृक्ष से बंदा, पुष्य नक्षत्र में लाकर पूजा के बाद अपनी दाहिनी भुजा पर बांध लें या तिजोरी में रख दें तो घर में लक्ष्मी माता का आवागमन बना रहता है। बेर के वृक्ष का बंदा स्वाति नक्षत्र में लाकर पूजा के बाद अपने घर में किसी गुप्त स्थान पर रखने से दिन दूनी रात चौगुनी उन्नति होने लगती है। गूलर के वृक्ष का बंदा रोहिणी नक्षत्र में लाकर भली भांति पूजन करके अपने घर के मंदिर में रखने से धन-वृद्धि होने लगती है। पलाश के वृक्ष का बंदा लाकर होली के दिन भली भांति पूजा करके इसे अन्न भंडार में रखने से धन-धान्य की वृद्धि होती है। सेमल का बंदा पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में लाकर भली भांति पूजा करके इसे घर में किसी गुप्त स्थान में रख दें तो धन में वृद्धि होने लगती है। बहेड़ा वृक्ष का बंदा सोमवार के दिन लाकर आश्लेषा नक्षत्र में पूजन करके इसे घर में पूजा के स्थान पर रख दें तो धन में वृद्धि हो जायेगी। दूर्वा का बंदा पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में लेकर उसकी भली भांति पूजा करें। इसे अपने घर अथवा कार्यालय में पूजा स्थल पर रखने से घर में समृद्धि व उन्नति होने लगती है। गोखरू तथा आम-सिघोर का बंदा लाकर उसे गाय के दूध में पीसकर कुल वजन के चौथाई भाग में लवण मिलाकर उसका तिलक धारण करें तथा इसकी पूजा करने से कहीं गुप्त धन होगा तो स्वप्न में आपको दिखाई दे जायेगा। हरसिंगार का बंदा मघा नक्षत्र में लाकर उसे धूप दीप से पूजनकर रखने से गरीबी व दरिद्रता का नाश होता है। जिन पति-पत्नी में आपस में प्रेम नहीं है व घर में कलह रहता है वे उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र में आम का बंदा लाकर दाईं भुजा में धारण करें तो दोनों का जीवन सुखमय हो जाता है। बांदा कैसे लायें, इसकी विधि है सूक्ष्म तरीके से बताई जा रही है। जो यह बंदा अपने घर, व्यवसाय स्थल में रखना चाहते हें वह एक दिन पहले जाकर बंदे को अपने यहां आने का निमंत्रण देकर वापस आजाएं तथा अगले दिन जाकर उसका पूजन करके प्रार्थना करें कि आपको हम लेने आये हैं कृपा करके हमारे साथ चलें। पूजा तथा प्रार्थना में लक्ष्मी जी के मंत्र ऊँ श्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः का जप करके ले आएं तथा प्रतिदिन धूप-दीप से उक्त मंत्र का जप करने से घर में धन की वृद्धि हो जायेगी व लक्ष्मी जी का निवास हो जायेगा।


पुनर्जन्म विशेषांक  सितम्बर 2011

पुनर्जन्म की अवधारणा और उसकी प्राचीनता का इतिहास पुनर्जन्म के बारे में विविध धर्म ग्रंथों के विचार पुनर्जन्म की वास्तविकता व् सिद्धान्त परामामोविज्ञान की भूमिका पुनर्जन्म की पुष्टि करने वाली भारत तथा विदेशों में घटी सत्य घटनाएं पितृदोष की स्थिति एवं पुनर्जन्म, श्रादकर्म तथा पुनर्जन्म का पारस्परिक संबंध

सब्सक्राइब

.