अन्य पराविद्याएं


पैरों से भविष्य निर्धारण

अप्रैल 2011

व्यूस: 39417

पैरों की अंगुलियां तथा अंगूठे आदि विभिन्न भाग भविषय कथन के साथ-साथ संबंधित व्यक्ति की आदतों और जीवन शैली को किस प्रकार व्यक्त करते हैं और उसके भविष्य को प्रकाषित करते हैं, जानकारी के लिए पढिए यह लेख।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंमुखाकृति विज्ञानभविष्यवाणी तकनीक

स्वप्नों का अर्थ

जून 2010

व्यूस: 39091

स्वप्न निद्रावस्था में ही नहीं देखे जाते, जागृत अवस्था में भी देखे जाते हैं। जब व्यक्ति निद्रावस्था में होता है तो सूक्ष्माकार होकर अपने भूत और भविष्य से संपर्क स्थापित करता है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपनेभविष्यवाणी तकनीक

शंख रसायन विज्ञान

दिसम्बर 2014

व्यूस: 37442

यूनानी ग्रन्थों के अनुसार वहां के निवासी शंख में पारा भरकर अग्नि में तपाकर सोना-चांदी बनाने में दक्ष थे। धातु रूपान्तर उनके लिए सहज कार्य था। उन्होने शंख में पारे की बनी भस्म को सिद्धसूत नाम दिया और ऐसे भस्मों को चमत्कारिक ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

स्वप्न और फल

जून 2014

व्यूस: 37039

’’सपने जेहि सन होई लराई, जागे समुझत मन सकुचाई।’’ जो यथार्थ में नहीं है, अवास्तविक है उसे सच की भांति साकार रूप में देखने का नाम स्वप्न है अर्थात जो अपना नहीं है, उसे निद्रा में आंखों के सामने देखना सपना है। नहीं को सह... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपने

दैनिक क्रियाओं से संबंधित शुभ-अशुभ शकुन

जून 2010

व्यूस: 34122

जीवन में हमारे दैनिक कार्यों के साथ शुभ अशुभ शकुन जुड़े हुए होते हैं। खाना खाते समय, जागते समय, सोते समय अक्सर ऐसी ही कुछ न कुछ स्थितियां पैदा हो जाती है। आइए जानें इन शकुनों का हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंशकुनभविष्यवाणी तकनीक

नजर दोष और उपाय

मार्च 2010

व्यूस: 31237

कहते हैं नजरदोष होने पर आंख की निचली पलक भारी हो जाती है मानों वह सूज गई हो। कुंडली में नीचस्थ चंद्र या राहु व शनि से ग्रस्त चंद्रमा होने पर व्यक्ति पर नजरदोष का प्रभाव अधिक पड़ता है। प्रस्तुत है मुक्ति के कुछ उपाय... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायविविध

कल्याणकारी जीवों के चित्र लगाए बाधाओं को दूर भागाएं

सितम्बर 2006

व्यूस: 30016

भारतीय धर्म एवं संस्कृति में अनादी काल से ही वन्य जीव संरक्षण की समृद्ध परम्परा रही है। ऋषि – मुनियों के आश्रमों में अन्य प्राणी स्वच्छंद विचरण करते रहे है। वे ऋषि –मुनि वन्य जीवों का पोषण भी अपने परिजनों के रूप एमन करते थे। अनेक ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

तंत्र विद्या

नवेम्बर 2014

व्यूस: 29073

प्रश्न: उपाय हेतु तंत्र विद्या का प्रयोग किस सीमा तक सफल है? शीघ्र विवाह, प्रेम विवाह, आकर्षण, व्यवसाय में सफलता, बीमारी से छुटकारा, शत्रु बाधा निवारण, उŸाम शिक्षा, संतान प्राप्ति बाधा निवारण व कोर्ट में विजय प्राप्ति व आर्थिक स... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

सर्वजन मोहिनी वशीकरण साधना

अकतूबर 2006

व्यूस: 28489

मोहिनी एकादशी या किसी शुक्रवार को स्नान आदि से निवृत होकर कांसे की थाली में समस्त तांत्रिक पूजन सामग्री स्थापित करके पंचोपचार पूजन करना चाहिए। व्यक्ति विशेष को वश में करने का अथवा सिद्धि का संकल्प लेते हुए विधि – विधान पूर्वक जप क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंआकर्षण

धन प्राप्ति के लिए टोटके

फ़रवरी 2015

व्यूस: 27873

- दालचीनी के पाउडर को लेकर उस पर से सात बार अगरबत्ती को एन्टी क्लाॅक वाइज घूमा कर उमसें अपनी कल्पना से ईश्वर की प्रार्थना से धन की बरकत के बारे में सोचें और फिर उसे अपने पर्स में छिड़क लें।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायटोटकेसंपत्ति

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)