कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके डाॅ. उर्वशी बंधु नजर उतारने के लिए स बहुत मेहनत करने पर भी काम न बन रहे हों, तो साफ है कि किसी की बहुत बुरी नजर आपको लगी है। ऐसे में आप शुक्ल पक्ष के बुधवार को अपने हाथों से मिट्टी का एक शेर दुर्गा मां को अर्पित करें, प्रसाद में जलेबी चढ़ाएं, बुरी नजर से मुक्ति मिल जाएगी। बिक्री बढ़ाने हेतु स यदि दुकान की बिक्री में वृद्धि नहीं हो रही हो, तो प्रत्येक शनिवार को प्रातः काल दुकान के मंदिर में कोई भी नमकीन चीज जैसे पकौड़ा, कचैरी या समोसा रख दें और सूर्यास्त के बाद इसे किसी काले कुŸो को खिला दें। यह उपाय सात शनिवार लगातार करें, दुकान की बिक्री में वृद्धि होगी। वाहन खरीदने हेतु स यदि कोई नया वाहन खरीद रहे हों तो तीन कौड़ियों को शुद्ध कर, पूजन, तिलक कर काले धागे में पिरोकर वाहन में लगाएं, वाहन शुभ फलदायक रहेगा। वाहन शुक्ल पक्ष में ही खरीदें। मकान बनाने हेतु स गृहारभ्ं ा करने से पहले नींव खुदाई के समय 21-22 कौड़ियां केसर से रंग कर ¬ महालक्ष्म्यै नमः का जप करते हुए नींव में उŸार एवं ईशान दिशाओं में डालें, घर में लक्ष्मी स्थायी वास करेंगी तथा परिवार वाले सभी प्रकार से सुरक्षित रहेंगे। इस उपाय के फलस्वरूप घर पर कोई आपदा नहीं आती। स्मरण रहे, कौड़ियां शुद्ध होनी चाहिए। नींद न आना स डिप्रेशन, अनिद्रा, नसों की कमजोरी आदि से ग्रस्त हांे, तो अपने वजन के बराबर सतनाजा मंदिर में दंे, बहुत लाभ होगा। पुनर्विवाह हेतु स तलाक हो गया हो और दूसरा विवाह करना चाहते हों किंतु उसमें अड़चनें आ रही हों तो तुलसी के पौधे को सोमवार से शनिवार तक सुबह-शाम घी का दीपक अर्पित करें और प्रार्थना करें। साथ ही तुलसी की माला पहनें तथा राम और कृष्ण की फोटो पास रखें, शीघ्र विवाह की संभावना बनेगी। विदेश यात्रा हेतु स विदेश जाने में अड़चनंे आ रही हों, तो ताजा मक्खन और मिश्री बांके बिहारी को अर्पित करें। यह उपाय शुक्ल पक्ष के सोमवार से शुरू कर प्रतिदिन करें। इसके अतिरिक्त एक नारियल व दो फल सोलह सोमवार शिवजी को चढ़ाएं। यह उपाय श्रद्धा निष्ठापूर्वक करें, लाभ होगा। व्यापार में उन्नति हेतु स व्यापार न चलता हो, तो घर में ईशान कोण में नवग्रह यंत्र स्थापित करें और नवग्रह की पूजा तथा हवन भी कराएं। लाल कपड़े में चांदी के टुकड़े, लौंग और सिंदूरयुक्त हत्थाजोड़ी बाॅक्स में रखें, व्यापार फलने-फूलने लगेगा। स किसी जादू-टोने के प्रभाववश व्यापार बिल्कुल न चलता हो तो ईशान कोण में नवग्रह यंत्र स्थापित करें। शुभ समय म एक त्रिशूल और एक डमरू पांच अलग-अलग शिव मंदिरों में दें। यह उपाय शुक्ल पक्ष के सोमवार को ¬ नमः शिवाय का जप करते हुए करें। जीवन में उन्नति हेतु स उन्नति के मार्ग में पग-पग पर कठिनाइयां आती हों, जीवन थम सा गया हो, तो 19 शनिवार पीपल पर सूत लपेटें, तिल के तेल के दीपक में ग्यारह दाने उड़द (काले साबुत) के डाल कर जलाएं। भगवान से प्रार्थना करें, जीवन अत्यंत सुखमय होगा व जीवन में जो कुछ प्राप्त नहीं हुआ, सब धीरे-धीरे प्राप्त होना शुरू हो जाएगा। यह उपाय श्रद्धा और निष्ठापूर्वक करें। विवाह बाधा से मुक्ति हेतु स यदि किसी पुरुष के विवाह में बाधा आ रही हो, तो उसे शुक्ल पक्ष के प्रत्येक गुरुवार को नहाने वाले पानी में एक चुटकी हल्दी डाल कर स्नान करना, ¬ नमो भगवते वासुदेवाय का जप करते हुए केसर का तिलक लगाना, केले के वृक्ष में जल अर्पित करना और धूप-दीप दिखाना चाहिए। इसके अतिरिक्त शिरडी के साईं बाबा के दर्शन भी करने चाहिए। शीघ्र ही सगाई और विवाह के योग बन जाएंगे। काम बन जाने पर ईश्वर का धन्यवाद करते हुए बेसन के सवा किलो लड्डू मंदिर में चढ़ाने चाहिए।



वास्तु विशेषांक   दिसम्बर 2008

वास्तु के विविध नियम एवं सिद्धांत, धर्मग्रंथों, पौराणिक ग्रंथों में वास्तु की चर्चा, मानव जीवन में वास्तु के उपयोग, ज्योतिष और वास्तु, विभिन्न प्रकार के घर, फ्लैट, कोठी, कालोनी, धर्मस्था, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, व्यवसायिक परिसर आदि का वास्तु के नियमानुकूल निर्माण

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.