अन्य पराविद्याएं


स्वप्न की प्रक्रिया और फलादेश

जून 2010

व्यूस: 7875

गौतम बुद्ध के जन्म के कुछ दिन पहले उनकी माता रानी माया ने स्वप्न में एक सूर्य सा चमकीला,6 दांतों वाला सफेद हाथी देखा था, जिसका अर्थ मनीषियों ने एक उच्च कोटि के राजकुमार के जन्म सूचक बताया, जो सत्य हुआ। प्रस्तुत है स्वप्न विषय और उ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंसपनेहस्तरेखा सिद्धान्त

स्वप्न विचार

जुलाई 2011

व्यूस: 7795

स्वप्नों का शास्त्रीय एवं वैज्ञानिक आधार क्या है? ‘स्वप्न फल विचार’ भविष्य में जातक के साथ घटने वाली घटना को बताता है या मात्र व्यक्ति के चिंतन व शारीरिक स्वास्थ्य का प्रभाव है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

लाल किताब परिचय

जनवरी 2011

व्यूस: 7789

अपने सरल नियमों, फलादेश एवं सस्ते सुलभ उपायों के कारण लाल किताब की ज्योतिष पद्धित काफी लोकिप्रय हुई है। प्रस्तुत है इस पद्धित के क्रमबद्ध ज्ञान की प्रथम श्रृंखला... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंकुंडली व्याख्यालाल किताबभविष्यवाणी तकनीक

व्यावहारिक अंग लक्षण विज्ञान

आगस्त 2014

व्यूस: 7449

व्यक्ति का चेहरा उसके व्यक्तित्व का दर्पण होता है। व्यक्ति का प्रत्येक अंग उसके मस्तिष्क से बंधा होता है। उसका हृदय, लीवर, फेफड़े, किडनी, हड्डियां, नसें, नाड़ियां व मांसपेशियां सभी उसके सोचने व कार्य करने में सहायक होते हैं। पूर्ण श... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

टोटके तंत्र की विशिष्टता व सूत्र

फ़रवरी 2015

व्यूस: 7177

मनुष्य की उत्पत्ति से लेकर वर्तमान व भविष्य तक ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में अनुसंधान व आविष्कार की नित-नवीन प्रक्रियाएं सर्वदा विकसित हुईं व होती रहेंगी। किंतु सभ्यता की इस ऐतिहासिकता में साहित्य या पुस्तिका या किसी अन्य उच... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायभविष्यवाणी तकनीकटोटके

पंच पक्षी की गतिविधिया

जून 2014

व्यूस: 7104

प्रत्येक मनुष्य का जन्म या तो दिन अथवा रात्रि, कृष्ण पक्ष अथवा शुक्ल पक्ष एवं सप्ताह के किसी एक वार को होता है। पंच पक्षी पांच तात्त्विक स्पंदन के आधार पर पांच तरीके से शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष में चंद्र के बढ़ते एवं घटते कलाओ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधपंच पक्षी

तंत्र साधना: एक विवेचन

अकतूबर 2015

व्यूस: 6573

तंत्र साधना भारतीय योगियों की एक प्रमुख धरोहर रही है। आगम ग्रंथों के अनुसार 28 तंत्रों की उत्पत्ति भगवान शिव के मुखारविंद से हुई है। क्रियात्मक साधनाओं द्वारा आत्मा को ईश्वर के निकट पहुंचाना अथवा अदृश्य शक्तियों से साक्षात्कार क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

रेकी और प्राणिक हीलिंग में क्या अंतर है?

दिसम्बर 2006

व्यूस: 6527

रेकी चिकित्सा पद्धति में रेकी मास्टर रोगग्रस्त व्यक्ति के शरीर का अपने हाथ से स्पर्श कर इलाज करता है। इसमें रोगग्रस्त व्यक्ति का स्पर्श आवश्यक होता है। इसमें प्राण ऊर्जा को वह व्यक्ति जिसने रेकी सीखी हो चारों ओर फैले हुए वायुम... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

मकान सुख कब?

अकतूबर 2014

व्यूस: 6456

लाल किताब के अनुसार मकान का संबंध शनि से है। शनि जन्म कुण्डली में जिस भाव में होगा उसी के अनुसार मकान का शुभाशुभ फल देता है। जन्म कुण्डली में शनि लग्न में हो, तो जातक अपने नाम से मकान बनाएंगे या खरीदेंगे तो घर-परिवार ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंलाल किताब

सामुद्रिक शास्त्र का उद्भव

अप्रैल 2011

व्यूस: 6386

मनुष्य का हाथ तो ऐसी जन्मपत्री है, जिसे स्वयं ब्रह्मा ने निर्मित किया है, जो कभी नष्ट नहीं होती है। इस जन्मपत्री में त्रुटि भी नहीं पायी जाती है। स्वयं ब्रह्मा ने इस जन्मपत्री में रेखाएं बनायी हैं एवं ग्रह स्पष्ट किये हैं।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंहस्तरेखा शास्रमुखाकृति विज्ञानभविष्यवाणी तकनीक

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)