Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

अन्य पराविद्याएं


मकान सुख कब?

अकतूबर 2014

व्यूस: 5726

लाल किताब के अनुसार मकान का संबंध शनि से है। शनि जन्म कुण्डली में जिस भाव में होगा उसी के अनुसार मकान का शुभाशुभ फल देता है। जन्म कुण्डली में शनि लग्न में हो, तो जातक अपने नाम से मकान बनाएंगे या खरीदेंगे तो घर-परिवार ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंलाल किताब

रेकी और प्राणिक हीलिंग में क्या अंतर है?

दिसम्बर 2006

व्यूस: 5576

रेकी चिकित्सा पद्धति में रेकी मास्टर रोगग्रस्त व्यक्ति के शरीर का अपने हाथ से स्पर्श कर इलाज करता है। इसमें रोगग्रस्त व्यक्ति का स्पर्श आवश्यक होता है। इसमें प्राण ऊर्जा को वह व्यक्ति जिसने रेकी सीखी हो चारों ओर फैले हुए वायुम... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

परदेश जाते समय शकुन विचार

जून 2014

व्यूस: 5561

भारतीय समाज में यात्रा पर निकलने से पहले दही खाने, जाते समय माथे पर तिलक लगाने आदि की परंपरा है। घर से निकलते ही यात्रा कैसी रहेगी अथवा कार्य सिद्धि होगी अथवा नहीं, इसके संकेत मिलने लगते हैं। शायद आपने भी कभी ऐसा महसूस क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंशकुन

घर में क्या न करें

दिसम्बर 2014

व्यूस: 5419

हन्दू सभ्यता में प्राकृतिक शक्तियों के साथ तालमेल बिठाने के लिए घर के स्वरूप का निर्धारण करने तथा उसकी साज सज्जा करते समय कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखा जाता है। घर के सदस्यों के बीच तालमेल बिठाने व शांति का माहौल बनाने के ल... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदिविविध

क्या हैं बंधन और उनके उपाय?

मार्च 2010

व्यूस: 5161

बंधन अर्थात् बांधना। जिस प्रकार रस्सी से बांध देने से व्यक्ति असहाय हो कर कुछ कर नहीं पाता, उसी प्रकार किसी व्यक्ति, घर, परिवार, व्यापार आदि को तंत्र-मंत्र आदि द्वारा अदृश्य रूप से बांध दिया जाए तो उसकी प्रगति रुक जाती है... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायविविध

चुंबकीय जल एवं लाभ

मई 2016

व्यूस: 5073

चुंबक का नाम आते ही प्रायः आंखों के सामने एक लोहे का टुकड़ा आकार लेता है जोकि लोहे को अपने में चिपका लेता है। यह अहसास पुराना है। आधुनिक समाज में इससे अनेक काम यथा इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्राॅनिक, कंप्यूटर आदि सामान चलाने के साथ-... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधभविष्यवाणी तकनीक

शुक्ल पक्ष एवं पंच पक्षी के कार्य-1

जुलाई 2014

व्यूस: 5039

्रत्येक मनुष्य का जन्म या तो दिन अथवा रात्रि, कृष्ण पक्ष अथवा शुक्ल पक्ष एवं सप्ताह के किसी एक वार को होता है। पंच पक्षी पांच तात्त्विक स्पंदन के आधार पर पांच तरीके से शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष में चंद्र के बढ़ते एवं घटते कला... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

क्रिस्टल की उपयोगिता

दिसम्बर 2012

व्यूस: 4947

सामान्य व्यक्ति के लिए स्फटिक हमेशा एक रहस्यमय या सामान्य पदार्थ ही बना रहा ओर वे इसका लाभ नहीं उठा सके परन्तु हाल ही में गहन वैज्ञानिक अनुसाधनों ने व रहस्य शोधक चिकित्सकों ने सैकड़ों प्रयोगों से इसकी उपचारक शाक्तियों को स्थापित क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

पहचानें सिर से

आगस्त 2014

व्यूस: 4792

किसी व्यक्ति के सिर के सिर्फ बड़े छोटे होने से ही उसके गुणों का अनुमान नहीं लगाना चाहिए क्योंकि किसी वस्तु का ‘‘परिमाण’’ ही सब कुछ है ऐसा समझना गलत है। परिमाण से अधिक महत्व है गुण का। क्योंकि सिर बड़े होने से ही व्यक... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

अधिक मास : कब और क्यों

मई 2007

व्यूस: 4713

वर्ष २००७ में दो ज्येष्ठ मास होंगे। इन्हें प्रथम ज्येष्ठ व् द्वितीय ज्येष्ठ के नाम से जाना जाता है। दो मास में चार पक्ष हो जाते है। प्रथम ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष से शुरू होता है। तदुपरांत प्रथम ज्येष्ठ का शुक्ल पक्ष, द्वितीय ज्येष्ठ का... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगआकाशीय गणित

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)