Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

रुद्राक्ष: एक वरदान

मई 2014

व्यूस: 32123

रुद्राक्ष एक ऐसा फल फल जिसके अंदर लगभग सभी देवी-देवता निवास करते हैं। रूद्राक्ष को धारण करने से हर प्रकार के दुःखां का शमन होता है। इस लेख में एक मुखी रुद्राक्ष से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही ह... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्ररूद्राक्षराशि

श्री हरसू ब्रह्म धाम

जून 2014

व्यूस: 30854

आदि अनादि काल से धर्म, संस्कृति व आस्था भाव से परिपूर्ण भारत देश में सनातन देवी देवताओं के अलावा कितने ही लोक देवी देवताओं की पूजा की जाती है। कहीं ये डाक बाबा, कहीं ये गोलू देवता, कहीं बालाजी, कहीं डिहवार बाबा, कह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

लक्ष्मी सिद्धि के सूत्र

नवेम्बर 2007

व्यूस: 30469

लक्ष्मी चंचला हिया, एक घर में टिक कर नहीं बैठती। आज जो करोडपति है एक झोंके में दिवालिया बन जाता है, निर्धन लक्ष्मीवान बन जाता है। यह सब लक्ष्मी की चंचल प्रवृति के कारण ही है। जीवन में लक्ष्मी की अनिवार्यता है, धनी होना मानव जीवन क... और पढ़ें

देवी और देवउपायमंत्रसंपत्तियंत्र

स्वप्नेश्वरी देवी साधना

जून 2010

व्यूस: 30331

स्वप्न निद्रावस्था में ही नहीं देखे जाते, जागृत अवस्था में भी देखे जाते हैं। जब व्यक्ति निद्रावस्था में होता है तो सूक्ष्माकार होकर अपने भूत और भविष्य से संपर्क स्थापित करता है प्रस्तुत है शुभ अशुभ एवं मिश्रित फल विचार।... और पढ़ें

देवी और देवमंत्रयंत्र

लक्ष्मी कृपा प्राप्ति के सरल प्रयोग

अकतूबर 2014

व्यूस: 29416

यह धारणा लोगों के मन में स्थायी रूप से घर कर गई है कि लक्ष्मी चंचला है, एक जगह स्थायी रूप से रूकती नहीं पर सत्यता इसके विपरीत है। ऐसा अकर्मण्य, श्रम से बचने वाले, उत्तरदायित्वों से विमुख रहने वालों ने- स्थापित करने क... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

कष्ट निवारण हेतु देव आराधना

फ़रवरी 2007

व्यूस: 28782

हिंदू धर्मावलंबियों के ३३ करोड देवी देवता हैं। अनेक वेदों में उनका उल्लेख मिलता है। तथा अनेक अट्ठारह पुराणों में उनकी विविध गाथाएं तथा पूजा अर्चना की विधियां विस्तारपूर्वक दी गई है। गीता में भी अध्याय तीन में इस विषय पर भगवान कृष्... और पढ़ें

देवी और देवउपायमंत्र

लक्ष्मी प्राप्ति के विशेष उपाय

नवेम्बर 2012

व्यूस: 28563

लक्ष्मी प्राप्ति के विशेष उपाय आकस्मिक धन प्राप्ति प्रयोग - आप यदि आकस्मिक धन प्राप्त करना चाहते है तो यह उपाय आप बुधवार को प्रारम्भ कर सकते हैं. बुधवार की रात्रि उताराभिमुख होकर, पीले वस्त्र धारण कर और पीले आसन पर बैठकर लक्ष्मी ज... और पढ़ें

देवी और देवसंपत्ति

सब तीरथ बार-बार गंगा सागर एक बार

फ़रवरी 2011

व्यूस: 26594

धार्मिक कार्यों के संपादन में तीर्थ अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ऐसे तीर्थों में गंगासागर का अपना अलग ही स्थान है। आइए, जानें गंगा सागर की स्थिति, उसकी कथा तथा मकर संक्रांति पर वहां लगने वाले मेले के बारे में... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

श्री बगलामुखी स्तोत्र-अर्थ एवं महत्व

मार्च 2009

व्यूस: 25945

त्रैलोक्य नक्षत्र, स्तंभिनी, ब्रह्मास्त्र विद्या, shada कर्माधार विद्या, पीताम्बरा, बगला आदि नामों से विख्यात मां बगलामुखी की उपासना अनंतकाल से होती आ रही हैं. इस उपासना से प्रतिकूल ग्रह नक्षत्रों के प्रभावों का शमन भी किया जा सकत... और पढ़ें

देवी और देवविविध

दुर्गासप्तशती के मंत्रों से कार्य सिद्धि

अकतूबर 2010

व्यूस: 23095

दुर्गा सप्तशती का पाठ दो प्रकार से होता है- एक साधारण व दूसरा सम्पुट। सप्तशती में कुल सात सौ मंत्र है। इस आलेख में प्रस्तुत है सप्तशती के सिद्ध सम्पुट मंत्रों का विवरण। इन मंत्रों का नवरात्र में जप करने से शीघ्र फल की प्राप्ति होत... और पढ़ें

देवी और देवमंत्र

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)