अश्वत्थ व्रत एवं महिमा

मई 2010

व्यूस: 7823

अश्वत्थ पीपल के वृक्ष का ही एक नाम है। पंचदेव वृक्षों में अश्वत्थ का स्थान सर्वोपरि है। प्रस्तुत है ब्रह्मांड पुराण में ब्रह्माजी द्वारा अश्वत्थ व्रत पूजा की महिमा का बखान का वर्णन..... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

दुर्गाद्वात्रिंशन्नाममाला (देवी दुर्गा के बत्तीस नाम)

अकतूबर 2010

व्यूस: 7823

यदि मां दुर्गा के इन 32 नामों का हम प्रतिदिन स्मरण करें तो सुख-शांति मिलती है एवं सभी प्रकार के भय दूर होते हैं। मां दुर्गा के इन 32 नामों का उच्चारण सारे दुख दूर कर देता है।... और पढ़ें

देवी और देवमंत्र

ध्रुव-चरित्र

दिसम्बर 2014

व्यूस: 7767

कर्मयोगी चक्रवर्ती सम्राट महाराज परीक्षित ने पूज्य गुरुदेव श्री शुकदेव जी से पूछा- मुनिवर ! ध्रुव के वनगमन का क्या कारण था? किस प्रकार ध्रुव भगवान की कृपा हुई और अविचल धाम की प्राप्ति हुई? श्री शुकदेवजी कहते हैं - राजन्। प्... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

ग्रह पीड़ा निवारण हेतु - शक्ति उपासना

अकतूबर 2010

व्यूस: 7728

नवरात्रि के प्रथम तीन दिन मां श्री काली, बीच के तीन दिन मां लक्ष्मी एवं आखिरी तीन दिन मां सरस्वती का आहवान किया जाता है। इस त्रिशक्तित्व भगवती दुर्गा के तीनों स्वरूपों को ध्यान में रखकर नवरात्रों में मां को सदैव अपने समीप महसूस कर... और पढ़ें

देवी और देवग्रह

भागवत कथा

मार्च 2014

व्यूस: 7612

सनकादि ने नारद जी से कहा- देवर्षि पापियों के पाप का नाष करने हेतु एक प्राचीन इतिहास श्रवण करो। पूर्वकाल में तुंगभद्रा नदी के तटपर अनुपम नगर में समस्त वेदों का विषेषज्ञ श्रोत-स्मार्त कर्म में निपुण आत्मदेव ब्राह्मण अपनी प्यारी कुली... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदि

दिशाओं में छिपी समृद्धि: पंचतत्व व इष्टदेव

अप्रैल 2012

व्यूस: 7521

व्याधिं मृत्यं भय चैव पूजिता नाशयिष्यसि। सोऽह राज्यात् परिभृष्टः शरणं त्वां प्रपन्नवान।। प्रण्तश्च यथा मूर्धा तव देवि सुरेश्वरि। त्राहि मां पùपत्राक्षि सत्ये सत्या भवस्य नः।। ”तुभ पूजित होने पर व्याधि, मृत्यु और संपूर्ण भयों का ना... और पढ़ें

देवी और देववास्तुगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

शिक्षा संबंधी समस्या निवारण

अप्रैल 2010

व्यूस: 7344

कुंडली में ग्रहों की स्थिति और सितारों की नजर बताती है। आपके करियर का राज :- हर विद्यार्थी अपनी पढ़ाई में कठिन परिश्रम कर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करता है। अपने भाग्य और कड़ी मेहनत के बल पर ही कोई, विद्यार्थी परीक्षा में श्रेष्ठ अंकों क... और पढ़ें

ज्योतिषदेवी और देवउपायशिक्षाटोटकेयंत्र

पदमावती यंत्र / पदमावती मंत्र

फ़रवरी 2013

व्यूस: 7282

कष्टोंपचार के त्रिविध साधनों में से यंत्र एवं मंत्र दो अति महत्वपूर्ण साधन माने गए हैं। वैदिक काल से ही इनकी श्रेष्ठता किसी न किसी रूप में इनके कुशल एवं लाभदायक अनुप्रयोगों द्वारा स्पष्ट होती रही हैं।... और पढ़ें

देवी और देवउपायमंत्रसंपत्तियंत्र

अनंत चतुर्दशी व्रत: कब, क्यों और कैसे करें?

सितम्बर 2014

व्यूस: 7213

भविष्य पुराण में कहा गया है कि भाद्रपद के अंत की चतुर्दशी तिथि में पौर्णमासी के योग में अनंत व्रत को करें। स्कंद पुराण में भी कहा गया है कि भाद्रपद मास की पूर्णिमा तिथि में मुहूर्त मात्र की चतुर्दशी हो, तो उसको संपूर्ण तिथि जा... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

दक्षिणामूर्ति स्तोत्र

जुलाई 2013

व्यूस: 7161

गुरुओं के गुरु भगवान दक्षिणामूर्ति की आराधना में आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा विरचित दक्षिणामूर्ति स्तोत्र को गुरु भक्ति के स्तोत्र साहित्य में अद्वितीय स्थान प्राप्त है। गुरु कृपा की प्राप्ति हेतु इसे सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। यह स... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिविविध

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)