लक्ष्मी प्राप्ति के लिए विशेष प्रभावशाली दीपावली पूजन पोटली

नवेम्बर 2007

व्यूस: 7119

देवी महालक्ष्मी संपूर्ण, ऐश्वर्य, चल, अचल, संपति, धन, यश, कीर्ति एवं सकल सुख वैभव को देने वाली साक्षात् जगत माता नारायणी है। श्री गणेश जी समस्त विध्नों कि नाशक, अमंगालों के हरण करता, सद्विद्या एवं बुद्धि के दाता हैं, कार्तिक अमावस... और पढ़ें

देवी और देवमंत्रसंपत्तियंत्र

भागवत कथा

मई 2014

व्यूस: 7075

श्री शौनक जी ने सूतजी से पूछा - सर्वशक्तिमान् व्यास भगवान ने देवर्षि नारद जी के अभिप्राय को सुनकर व चले जाने पर क्या किया? श्री सूतजी ने कहा - ब्रह्मनदी सरस्वती के पश्चिम तट पर शम्याप्रास आश्रम के निकट चारांे ओर से घि... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

लक्ष्मी आगमन के विशेष वास्तु उपचार

दिसम्बर 2009

व्यूस: 7036

गृह के मुख्य द्वारा को गृहमुख माना जाता है. इसका वास्तु शास्त्र में विशेष महत होता हा. यह परिवार व् गृहस्वामी की शालीनता,समृद्धि विद्वता दर्शाता है. इसलिए मुख्य द्वार को हमेशा बाकी द्वारों की अपेक्षा कुछ बड़ा व् सुसज्जित रखने की प्... और पढ़ें

देवी और देववास्तुभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

वट सावित्री व्रत

मई 2014

व्यूस: 7013

भारतीय संस्कृति में वट सावित्री एक ऐसा दिव्य व्रत है, जिसको संपन्न करके एक भारतीय नारी ने यमराज पर भी विजय प्राप्त कर संपूर्ण नारी जाति को गौरवान्वित किया है। यह व्रत, स्कंद और भविष्योत्तर के अनुसार, ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा को ... और पढ़ें

घटनाएँदेवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

साईं बाबा का बचपन

मई 2015

व्यूस: 7003

ैसे पर्वतों में हिमालय श्रेष्ठ है वैसे ही संतों में श्रेष्ठ हैं साईं। साईं नाम के आगे ‘थे’ लगाना उचित नहीं, क्योंकि साईं आज भी हमारे बीच हैं। बस, एक बार उनकी शरण में होना जरूरी है, तब वे आपके आसपास होंगे। यह अनुभूत सत्य है।... और पढ़ें

देवी और देवविविध

चतुर्मास का माहात्म्य

जुलाई 2013

व्यूस: 6936

जिनकी आकृति अतिशय शांत है, जो शेषनाग की शय्या पर शयन किए हुए हैं, जिनकी नाभि में कमल है, जो सब देवताओं द्वारा पूज्य हैं, जो संपूर्ण विश्व के आधार हैं, जो आकाश के सदृश सर्वत्र व्याप्त हैं, नीले मेघ के समान जिनका वर्ण है, जिनके सभी ... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

आदि शक्ति मां शारदा

मई 2011

व्यूस: 6933

शक्तिपीठों में आदि शक्ति मां शारदा का मंदिर आलौकिक ऊर्जा का केंद्र है। मां शारदा देवी मंदिर में मनौती पूरी होने का रहस्य पिरामिड एवं यंत्र है। मां शारदा की प्रतिमा के ठीक नीचे स्थित शिलालेख अपने अंदर मां का हिमा तथा इतिहास की अनेक... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

भगवान विष्णु का प्रिय मास वैशाख

मई 2010

व्यूस: 6933

वैशाख मास परम पावन मास है। यह भगवान विष्णु का प्रिय मास है, इसलिए इस मास स्नान, तर्पण, मार्जन, पूजन आदि का विशेष महत्व है।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

केदारनाथ

आगस्त 2010

व्यूस: 6804

देवों के देव महादेव शिव की पावन स्थली है केदारनाथ। केदारनाथ मन्दिर की ऐतिहासिक एवं आध्यात्मिक महत्ता, अन्य दर्शनीय स्थल व प्राकृतिक सुन्दरता का चित्र उकेरता आलेख ...... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

राम और राम सेतु

नवेम्बर 2007

व्यूस: 6658

हिंदू धर्म में एक ही आदर्श एवं मर्यादा पुरुष है- पुरुषोतम श्री राम। श्री राम का जन्म रामनवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र में अभिजीत मुहूर्त में अयोध्या में हुआ। उस समय अधिकांश ग्रह उच्च या स्वराशि में स्थित थे। श्री राम की जीवन लीला क... और पढ़ें

देवी और देवयशसुखविविध

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)