brihat_report No Thanks Get this offer
fututrepoint
futurepoint_offer Get Offer
नारद पुराण में वास्तुषास्त्र का सूक्ष्म वर्णन

दिसम्बर 2015

व्यूस: 4603

श्रीसनन्दन जी कहते हैं ‘‘-------- देवर्षे, ज्योतिष शास्त्र में चार लाख श्लोकों को बताया गया है। उसके तीन स्कंध हैं, जिनके नाम ये हैं-गणित (सिद्धांत), जातक (होरा) और संहिता।।’’ नारद पुराण के ‘त्रिस्कन्ध ज्योतिष के ‘संहिता’ स... और पढ़ें

देवी और देववास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

मंदिर निर्माण में वास्तु की उपयोगिता

नवेम्बर 2014

व्यूस: 4597

प्र. मंदिर के निर्माण के लिए किस तरह की भूमि का चयन करना चाहिए ? उ.-मंदिर निर्माण के लिए भूखंड का चयन सावधानी पूर्वक करना चाहिए। मंदिर निर्माण के लिए भूखंड खुले, शांत और स्वच्छ स्थान पर होने चाहिए।... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

ऐसे सजाएं घर को.....

मई 2014

व्यूस: 4569

जनसंख्या विस्फोट, शहरीकरण, औद्योगीकरण की वजह से भूखण्ड संकुचित होते जा रहे हैं। जगह की कमी के कारण वास्तु सम्मत भूमि तथा भवन का प्राप्त होना लगभग असंभव सा प्रतीत होता जा रहा है। विकास प्राधिकरणों एवं सरकारी, गैर सरकारी संगठनों... और पढ़ें

फेंग शुईवास्तुगृह वास्तुव्यवसायिक सुधार

स्त्री रोगों का ज्योतिष एवं वास्तु द्वारा आकलन

जुलाई 2013

व्यूस: 4511

स्त्रियों के रोग, सूर्य आदि ग्रहों के साथ, चंद्रमा से अधिक प्रभावित होते हैं। मासिक धर्म, ल्यूकोरिया, मानसिक चिंताएं, बेचैनी, रक्तचाप आदि रोग स्त्रियों की कुंडली में चंद्रमा की पाप ग्रहों के साथ उपस्थिति, अथवा दृष्टि संबंध की ही उ... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यवास्तुचिकित्सा ज्योतिष

वास्तु शास्त्र में पंच तत्व

दिसम्बर 2015

व्यूस: 4475

सदियों से भारत में वास्तु शास्त्र के नियमों के पालन का आग्रह किया जाता रहा है। पंच तत्वों से मिल कर ही समस्त सृष्टि का निर्माण हुआ है। सौर ऊर्जा, चुंबकीय प्रवाहों, दिशाओं, वायु प्रभावों, गुरुत्वाकर्षण, वैधिक किरणों और प्रकृति की... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएं

वास्तु दोष

सितम्बर 2014

व्यूस: 4392

प्रश्न: ऐसे कौन से वास्तुदोष हैं जिसके कारण दांपत्य जीवन कलहपूर्ण हो जाता है? दांपत्य जीवन में दाम्पत्य संबंधों में प्रगाढ़ता, आपसी प्रेम तथा खुशियों के अनवरत प्रवाह के लिए शयन कक्ष सही दिशा में होना परम आवश्यक है। नव दंपत... और पढ़ें

वास्तुवास्तु दोष निवारण

विदिशा भूखंड पर वास्तुसम्मत निर्माण

जनवरी 2006

व्यूस: 4383

सामान्यतः भूखंडों में दिशाएं भूखंड के समांतर होती हंै परंतु ऐसे बहुत से भूखंड हैं जिनकी दिशाएं कोणों में स्थित होती हैं। जिस भूखंड में चुंबकीय किरण उसके बीचों बीच गुजरने की बजाय भूखंड के अक्ष पर 450 का कोण बनाती हुई गुजरे ... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

वास्तु संबंधी कहावतें

दिसम्बर 2014

व्यूस: 4379

वास्तु का प्रचलन हमारे देश में दीर्घ काल से चला आ रहा है। अतः लोक अंचल में इसकी कई कहावतें भी प्रचलित हैं, ताकि जन-सामान्य भी उन तथ्यों से परिचित हो सके। उन्हीं में से कुछ कहावतें नीचे दी जा रही हैं:... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

समस्या समाधान में वास्तु प्रयोग

अप्रैल 2013

व्यूस: 4349

जीवन में आने वाली विभिन्न समस्याओं का जिस प्रकार ज्योतिषीय उपचार किया जाता है उसी प्रकार यहाँ कुछ ऐसे ही वास्तु प्रयोग बता रहे है जो निश्चित ही आपके जीवन संचालक होंगे।... और पढ़ें

उपायवास्तुवास्तु परामर्श

वास्तु शास्त्र में बनावट व् आकार

मार्च 2013

व्यूस: 4318

हम पृथ्वी पर देखते है की प्रत्येक वास्तु का एक आकार है और उसका रंग भी होता हैं। प्रकृति में फल और पत्तियों के विभिन्न आकार और रंग होते है लेकिन क्या हम कभी स्वयं से यह प्रश्न पूछते है की वे किस प्रकार बने हैं।... और पढ़ें

वास्तुभवनगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारवास्तु पुरुष एवं दिशाएं

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)