Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

वास्तु परामर्श


दक्षिण पूर्व में बोरिंग परिवार के लिए घातक

फ़रवरी 2011

व्यूस: 4795

किसी भवन में पानी की दृष्टि से बोरिंग का अपना एक विशिष्ट महत्व है। लेकिन आइए, जानें किस दिशा में किया गया बोरिंग परिवार के लिए अनेक व्यवधान उत्पन्न करने वाला सिद्ध हो सकता है तथा इस दिशा में क्या उपाय कारगर सिद्ध हो सकता है।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु दोषों से उत्पन्न कष्ट

जुलाई 2010

व्यूस: 4773

वास्तु दोषों से उत्पन्न कष्ट अक्सर मानव जीवन में उथल पुथल पैदा कर देते हैं। आवश्यकता है यह जानने की कि दोष कहां है, समाधान के लिए प्रस्तुत है यह लेख।... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

सीढ़ियों का बंद होना- विकास में अवरोधक

जून 2013

व्यूस: 4706

पिछले सप्ताह पंडित जी का गांधी नगर दिल्ली की एक मशहूर कपड़ों के थोक की दुकान/ शो रुम पर वास्तु परीक्षण करने के लिए जाना हुआ। वहां जाने पर उन्होंने बताया कि उनकी दुकान पूरे गांधी नगर की सबसे प्रसिद्ध दुकान है, पर जितनी कमाई होनी चाह... और पढ़ें

उपायवास्तुवास्तु परामर्शवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

व्यावसायिक एवं गृह वास्तु

सितम्बर 2009

व्यूस: 4672

प्रश्नः व्यावसायिक एवं गृह वास्तु में विशेष रूप से क्या अंतर होता है। इनके वास्तु दोषों का सुधार किस प्रकार संभव है?... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

भवन और वास्तु

दिसम्बर 2014

व्यूस: 4591

वास्तु क्या है, इसकी परिभाषा क्या है, इसकी जरूरत क्यों आ पड़ी? क्या यह प्राचीन काल में भी प्रचलित था? इन सब पर हम गौर करेंगे इस लेख के द्वारा। वास्तु अर्थात व्$अस्तु यानि बसने हेतु या जिससे बसा जा सके, जिसमें निवास किया जा सके। ... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

मंदिर निर्माण में वास्तु की उपयोगिता

नवेम्बर 2014

व्यूस: 4488

प्र. मंदिर के निर्माण के लिए किस तरह की भूमि का चयन करना चाहिए ? उ.-मंदिर निर्माण के लिए भूखंड का चयन सावधानी पूर्वक करना चाहिए। मंदिर निर्माण के लिए भूखंड खुले, शांत और स्वच्छ स्थान पर होने चाहिए।... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

नारद पुराण में वास्तुषास्त्र का सूक्ष्म वर्णन

दिसम्बर 2015

व्यूस: 4480

श्रीसनन्दन जी कहते हैं ‘‘-------- देवर्षे, ज्योतिष शास्त्र में चार लाख श्लोकों को बताया गया है। उसके तीन स्कंध हैं, जिनके नाम ये हैं-गणित (सिद्धांत), जातक (होरा) और संहिता।।’’ नारद पुराण के ‘त्रिस्कन्ध ज्योतिष के ‘संहिता’ स... और पढ़ें

देवी और देववास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु सीखें

जून 2011

व्यूस: 4407

भवन में पूजा कक्ष, सीढ़ी, किस दिशा में होनी चाहिए जिससे कि सकरात्मक ऊर्जा प्राप्त हो सकें एवं सुख समृद्धि की प्राप्ति हो सके आइए जानें वास्तु शास्त्री प्रमोद कुमार सिन्हा जी से... और पढ़ें

ज्योतिषटैरोवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

समस्या समाधान में वास्तु प्रयोग

अप्रैल 2013

व्यूस: 4328

जीवन में आने वाली विभिन्न समस्याओं का जिस प्रकार ज्योतिषीय उपचार किया जाता है उसी प्रकार यहाँ कुछ ऐसे ही वास्तु प्रयोग बता रहे है जो निश्चित ही आपके जीवन संचालक होंगे।... और पढ़ें

उपायवास्तुवास्तु परामर्श

विदिशा भूखंड पर वास्तुसम्मत निर्माण

जनवरी 2006

व्यूस: 4282

सामान्यतः भूखंडों में दिशाएं भूखंड के समांतर होती हंै परंतु ऐसे बहुत से भूखंड हैं जिनकी दिशाएं कोणों में स्थित होती हैं। जिस भूखंड में चुंबकीय किरण उसके बीचों बीच गुजरने की बजाय भूखंड के अक्ष पर 450 का कोण बनाती हुई गुजरे ... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)