वास्तु परामर्श


सुखमय गृह वास्तु के 51 सूत्र

जनवरी 2010

व्यूस: 7515

प्रस्तुत लेख में वास्तु विशेषज्ञ पं. जय प्रकाश शर्मा द्वारा वास्तु दोष संबंधी विभिन्न समस्याओं के समाधान प्रस्तुत है जो पाठकों को विभिन्न सूत्र व उपाय बताकर उनके ज्ञान वर्धन में सहायक सिद्ध होगा।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जन्म दिनांक से जानें वास्तु दोष

जुलाई 2011

व्यूस: 7331

वास्तु दोष आपके घर में है या नहीं, इसका पता आप अपने जन्म दिनांक से प्राप्त कर सकते हैं। जन्म दिनांक से वास्तु दोष जानने की सरल विधि जानिए इस लेख द्वारा -... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारण

दक्षिण की ओर सावधानी से बढें (बड़ी दुकान हमेशा अच्छी नहीं होती)

सितम्बर 2010

व्यूस: 6675

दक्षिण पश्चिम (15) की ओर की दुकान खरीदने की सलाह दी गई और कहा गया कि यह दुकानें कुछ ज्यादा रेट पर भी मिल रही हों तो खरीद लेनी चाहिए। पूर्व की ओर उनकी दो दुकानें थीं जिसकी ऐन्ट्री बाहर की ओर से थी।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

कक्षों की स्थिति व आंतरिक संरचना

अप्रैल 2010

व्यूस: 6543

गृह निर्माण के समय यदि वास्तु के नियमों का पालन किया जाए तो सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बना रहता है और जातक को सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है प्रस्तुत लेख में गृह वास्तु की विस्तृत जानकारी देने का प्रयास किया गया है।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु दोष समाधान

दिसम्बर 2014

व्यूस: 6543

अपने घर को सजाने-सँवारने की इच्छा में हम अपनी पसन्द का चित्र खरीदकर घर में कहीं भी लगा देते हैं जो अनुचित है। वास्तु के ग्रन्थ ‘विश्वकर्मा प्रकाश’, ‘शिल्प संग्रह’, ‘विश्वकर्मीय शिल्प’, ‘राजबल्लभ वृहद वास्तु माला’ आदि ग्रन्थों म... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु में दिशा ज्ञान

अप्रैल 2015

व्यूस: 5621

प्र.: भवन में पूर्व दिशा का क्या महत्व है ? उ.: वास्तु शास्त्र का मुख्य आधार ज्योतिष शास्त्र है। जिस प्रकार ग्रहों के अनुकूल और प्रतिकूल प्रभाव मानव जीवन पर पड़ते हंै उसी प्रकार ग्रह अपने शुभ और अशुभ प्रभाव से वास्तु की दिशा... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु शास्त्र का महत्व एवं उपयोगिता

फ़रवरी 2011

व्यूस: 5584

प्रकृति की अनंत शक्तियां इस ब्रह्मांड में सृष्टि, विकास और प्रलय की प्रक्रिया को संचालित करती रहती है। इस दृष्टि से पंच महाभूत किस प्रकार प्रकृति की अनंत शक्तियों को नियंत्रित करते हैं, आइए, जानें वास्तु शास्त्र का महत्व और उपयोगि... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

वास्तु शास्त्र - दाम्पत्य जीवन

दिसम्बर 2014

व्यूस: 5264

आज का मानव अर्थ के पीछे दौड़ रहा है एवं भौतिक सुखों की प्राप्ति के लिए प्रयत्नशील है। पाश्चात्य संस्कृति अनुसार संस्कारों में परिवर्तन के साथ-साथ निवास/व्यवसाय/स्थल में भी वास्तु नियमों की अवहेलना की जा रही है जिससे परिवार सीमित... और पढ़ें

वास्तुविवाहवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएं

विभिन्न दिशाओं में रसोई घर

दिसम्बर 2014

व्यूस: 4916

रसोई घर यानि भारतीय गृहिणी का हृदय, क्योंकि भारतीय गृहिणी का सबसे ज्यादा समय जिस स्थान पर व्यतीत होता है वह है उसका रसोई घर। उसकी दिनचर्या रसोईघर से ही प्रारंभ और रसोईघर में ही समाप्त होती है। अतः एक तरह से रसोईघर पूरे घर क... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

उत्तर के दोष धन हानि व् तनाव के कारण

मार्च 2013

व्यूस: 4856

रसोई के लिए कहा गया की यह दक्षिण पूर्व, दक्षिण या पूर्व या उतर पश्चिम में बनाना ही उतम हैं. परन्तु क्योंकि सीढ़ी या रसोई में से एक को ही अभी वह दक्षिण की ओर कर सकते थे तो उनको रसोई के अन्दर गैस को दक्षिण पूर्व, पूर्व मुखी तथा उतर ... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)