कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके डाॅ. उर्वशी बंधु छोटे-छोटे उपाय हर घर में लोग जानते हैं, पर उनकी विधिवत जानकारी के अभाव में वे उनके लाभ से वंचित रह जाते हैं। इस लोकप्रिय स्तंभ में उपयोगी टोटकों की विधिवत जानकारी दी जा रही है... धन की वापसी के लिए: यदि किसी व्यक्ति को दिया हुआ धन वापस नहीं मिल रहा हो तो उसका नाम लेकर मन ही मन धन प्राप्ति की कामना करते हुए गोमती चक्र को एकांत स्थान में एक हाथ गहरी भूमि खोदकर दबा दें। यह उपाय यदि श्रद्धा विश्वास से किया जाए तो धन वापस मिल जाता है। ध्यान रहे, यह टोटका करते समय कोई आपको टोके नहीं, न ही आप किसी से इसका जिक्र करें। नौकरी के लिए: पूजा घर में राम दरबार का फोटो रखें। राम चालीसा का पाठ करें, फिर हनुमान चालीसा का पाठ करें। उपाय शुक्ल पक्ष के सोमवार से करें। 40 हनुमान चालीसा और 40 राम चालीसा बांटें। धन आगमन के लिए: शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को नौ गोमती चक्र को केसर का तिलक लगा कर और धूप-दीप-नैवेद्य तथा रोली का एक पैकेट, लाल कपड़े में लपेट कर तिजोरी में स्थापित करें, वर्ष भर समृद्धि बनी रहेगी है और धन का पर्याप्त आगमन होगा। अगले वर्ष इन गोमती चक्रों को जल में प्रवाहित कर दें या पीपल के वृक्ष तले रख दें। यह प्रयोग नव वर्ष में फिर करें, लाभ मिलेगा।  कच्ची घानी के तेल के दीपक में दो लौंग डालकर प्रतिदिन संध्या समय हनुमान जी की आरती करें, अनिष्ट दूर होगा व धन की प्राप्ति होगी। साथ ही हर प्रकार की बाधा भी दूर होगी। यह प्रयोग प्रतिदिन न कर सकें तो मंगलवार और शनिवार की सायं अवश्य करें, लाभ होगा।  सात कौड़ियों को हल्दी में रंग लें। सूखने पर उन पर केसर का तिलक लगाएं। फिर उन्हें एक मोती शंख के साथ पीले रेशमी कपड़े में बांधकर तिजोरी, पूजा घर के मंदिर या दुकान के गल्ले में रख दें, शुक्ल पक्ष के प्रथम बुधवार या शुक्रवार से धन का लाभ शुरू हो जाएगा और व्यापार उन्नति करने लगेगा। उपाय करने के बाद गरीबों को पूरी कचैड़ी या हलवा बांटें। स आय के स्थायी स्रोत के लिए ः आप आय का एक स्थायी स्रोत चाहते हैं। किंतु प्रयत्न करने पर भी वह नहीं मिल पाता और आप परेशान रहते हैं ऐसे में निम्न टोटका करें, लाभ मिलेगा। लकड़ी के बाजोट पर पीला रेशमी वस्त्र बिछा कर उस पर पंाच लाल फूलों को स्थापित करें। प्रत्येक फूल पर कमल का एक बीज भीे स्थापित करें। इनका धूप-दीप नैवैद्य से संक्षिप्त पूजन करें। एक पीले कागज पर कुमकुम से निम्न ¬ शिवाय श्रीं ¬ मंत्र को इक्कीस बार लिख लें। उसी कागज में कमल बीजों तथा फूलों को लपेट कर शुक्ल पक्ष के बुधवार को रात्रि के समय किसी तिराहे पर डाल दें। ध्यान रहे, पीछे मुड़ कर न देखें और न आपको कोई टोके। यह टोटका मन में स्थायी स्रोत की प्रार्थना करते हुए करें। विवाह बाधा दूर करने के लिए ः बार-बार सगाई होकर टूट जाती हो, या विवाह में कारण विलंब हो रहा हो तो शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को एक लघु नारियल व स्फटिक का एक दाना लाल कपड़े में बांध लें और उसकी धूप-दीप-नैवेद्य से पूजा करें। ¬ शुं शुक्राय नमः का स्फटिक की माला से तीन माला जप करें तथा उसे अपने पास रख लें। प्रत्येक शुक्रवार को धूप दिखाएं व इसी मंत्र का एक माला जप नियमित रूप से करते रहें, विवाह की बात शीघ्र पक्की हो जाएगी। यह उपाय लड़कों व लड़कियों दोनों के लिए है। श्रद्धा से करें, लाभ अवश्य मिलेगा। संतान प्राप्ति के लिए: सच्चे मन से शिव की आराधना करें तथा शनिवार को प्रातः काल पीपल के वृक्ष के पास तिल के तेल का दीपक जलाएं। साथ ही प्रत्येक शनिवार को रोटी पर तेल लगा कर काले कुत्तों को खिलाएं। यह दिव्य एक प्रयोग है, लाभ अवश्य होगा। संतान प्राप्ति के लिए राम मंदिर में बैठ कर श्री राम गायत्री मंत्र का विधिपूर्वक सवा लाख जप करें। यह टोटका चैत्र माह के नव रात्रों से करें। मंत्र इस प्रकार है।



वास्तु विशेषांक   दिसम्बर 2007

गृह वास्तु के नियम एवं उपाय, उद्धोगों में वास्तु नियमों का उपयोग, वास्तु द्वारा मंदिर में अध्यातम वृद्धि, शहरी विकास एवं वास्तु, पिरामिड एवं वास्तु, अस्पताल, सिनेमा घर एवं होटल के वास्तु नियम, वास्तु में जल ऊर्जा का स्थान

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.