Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

टैरो डेक में कार्ड ‘दी मून’ 18 नंका कार्ड है। यह कार्ड मीन राशि द्वारा शासित है जो अनिश्चतता दर्शाता है। टैरो रीडिंग में जिस व्यक्ति के लिये यह कार्ड ‘‘दी मून’’ निकलता है उसको सावधान हो जाना चाहिये क्योंकि वह जिनके साथ काम करता है/करती है, जिनके बीच रहता है/रहती है वो सब कुछ वैसा ही नहीं है जैसा उसको दिखाई देता है। उसको उनसे धोखा मिल सकता है अर्थात देखने में कुछ और होता है और असलियत कुछ और होती है। जिसके लिये यह कार्ड टैरो रीडिंग के दौरान निकला है यह उसके लिये शुभ शकुन है, यह शुभ कार्ड है और अब उसके लिये अच्छा समय आ गया है कि कुछ रहस्यों से पर्दा उठने वाला है असलियत सामने आने वाली है। वह जिस अंधेरे में था वह अंधेरा अब छंट जायेगा और वह रोशनी में आ जायेगा सारा सच उसके सामने होगा और वह सोच समझ कर अपने कदम आगे बढ़ायेगा अर्थात वास्तविकता जानने के बाद वह उस धोखे से, धोखेबाजों से बच पायेगा, जिससे उसको बहुत नुकसान होने वाला था। ‘‘दी मून’’ कार्ड का प्राकट्य ही यह दर्शाता है कि अब आपके सम्मुख ऐसी परिस्थितियां स्वयं ही पैदा होंगी कि सारा अंधेरा छंट जायेगा और रोशनी में सच जगमगा के सामने आ जायेगा जैसे चंद्रमा की रोशनी में अंधेरा छट जाने के पश्चात सब कुछ रोशन हो जाता है। इस तरह इस कार्ड का प्राकट्य आपके लिये शुभ व शकुन का कार्ड है। यह कार्ड इंगित करता है कि आपका अच्छा समय आ गया है। मान लीजिए आप किसी के साथ पार्टनरशिप में बिजनेस कर रहे हैं और आप को उस पर बहुत विश्वास है, लेकिन अंदर ही अंदर वह आपसे विश्वासघात कर रहा है। वह व्यापार में आपको लाभ कम दिखाता है, वह स्वयं अपने लिये धन एकत्रित कर लेता है, वह उसका उपयोग स्वयं अपने लिये, अपने परिवार के लिये करता रहता है जिसका आपको पता भी नहीं है तो टैरो रीडिंग करवाने पर आपका ‘दी मून’ कार्ड निकलने पर आपके सामने स्वयं ही ऐसी परिस्थितियां आयेंगी कि सारा सच सामने आ जायेगा और आप आगे धोखा खाने से बच जायेंगे। अब मान लीजिए किसी महिला के अपने पति से संबंध अच्छे नहीं हैं। वह भरसक प्रयत्न करती है कि वह अपने पति के पसंद के अनुसार कार्य करे जिससे संबंध खराब न हो फिर भी उनमें मनमुटाव रहता है, हर छोटी सी बात को लेकर झगड़ा होता रहता है, उसको समझ में नहीं आता कि वह अपने दांपत्य जीवन को कैसे सुखी व खुशनुमा बनाये। ऐसी स्थिति में वह खुद को बहुत असहाय समझती है। इस परिस्थिति में अगर वह टैरो रीडर के पास जाकर टैरो रीडिंग करवाती है और रीडिंग के दौरान उक्त कार्ड ‘‘दी मून’’ प्रकट है तो उसके लिये शुभ होगा क्योंकि यह कार्ड इंगित करता है कि अब ऐसी परिस्थितियां आयेंगी कि सारे रहस्य से पर्दा उठ जायेगा और सारा सच सामने आ जायेगा, उनके बीच मन मुटाव का कारण भी साफ नजर आ जायेगा। जैसे अगर इसके पति के किसी और महिला से नाजायज संबंध हैं और इस कारण वह अपनी पत्नी को महत्व नहीं देता, कारण समझ में आने के बाद वह महिला अपने आगे के जीवन के लिये यथोचित कदम उठा सकती है और अपना जीवन सुधार सकती है। इसके लिये वह अपने माता-पिता, सगे संबंधियों से भी मदद ले सकती है। कानून का भी सहारा ले सकती है। इसी प्रकार कोई विद्यार्थी है और उसके माता-पिता परेशान हैं कि उसके परीक्षा परिणाम अच्छे नहीं आते, वे भरसक प्रयत्न करते हैं, उसका प्राईवेट ट्यूशन भी लगवा रखा है, ऐसी परिस्थिति में अगर वह टैरो रीडर के पास जाकर रीडिंग करवाते हैं और रीडिंग के दौरान उक्त कार्ड निकलता है तो यह इंगित करता है कि जल्दी ही ऐसी परिस्थितियां आयंेगी जिसमें उसकी असफलता का सच सामने आ जायेगा जैसे कि उसकी संगत अच्छी नहीं है, उसका पढ़ाई में मन नहीं लगता है उसे विषय पसंद नहीं है जैसे वह साइंस नहीं काॅमर्स या आर्ट विषय पढ़ना चाहता है आदि।

फेस रीडिंग विशेषांक  मार्च 2016

भविष्य कथन की महत्वपूर्ण पद्धतियां श्रष्टि के प्रारम्भ से ही इस धरा के विभिन्न हिस्सों में मौजूद रही हैं। प्रत्येक सभ्यता में किसी न किसी रूप में भविष्यवक्ता अथवा अन्तर्द्रष्टा भूत एवं भविष्य के विषय में किसी न किसी प्रकार से लोगों को अवगत कराते रहे हैं। भारत में भी इन विधाओं की समृद्ध विरासत रही है जहां हर काल में ज्योतिष, हस्तरेखा शास्त्र, अंक शास्त्र, मुखाकृति विज्ञान आदि पुष्पित-पल्लवित होते रहे हैं तथा इन्होंने लोगों के भविष्य को आकार देने में महती भूमिका अदा की है। फ्यूचर समाचार के इस वर्तमान विशेषांक में मुखाकृति विज्ञान पर विशेष जोर दिया गया है। इस विषय पर अनेक महत्वपूर्ण आलेख समाविष्ट किये गये हैं जिनमें से कुछ अति महत्वपूर्ण आलेख हैं: नैन अन्तःकरण के झरोखे हैं, बनावट के अनुसार भौहें तथा उनके फल, आंखे व्यक्तित्व का आईना, नाक की आकृति स्वभाव एवं भविष्य आदि। इन विशिष्ट आलेखों के अतिरिक्त पूर्व की भांति सभी स्थायी स्तम्भ मौजूद हैं जिनमें विज्ञ ज्योतिर्विदों के आलेखों को स्थान दिया गया है।

सब्सक्राइब

.