Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

जस्टिस (न्यायाधीश)

जस्टिस (न्यायाधीश)  

टैरो डेक में यह कार्ड मेजर अरकाना का कार्ड नंबर 11 है। टैरो सेशन में जिस व्यक्ति के लिए यह कार्ड निकलता है वह उस व्यक्ति विशेष की विशेषता बताता है। यह कार्ड उस व्यक्ति विशेष को रिप्रेजेन्ट करता है अतः कार्ड जिसके लिए निकला है वह व्यक्ति चाहे पुरुष हो या महिला, बच्चा हो या बूढ़ा बहुत न्यायप्रिय होगा। वह हमेशा न्यायिक बात करेगा चाहे उसमें उसका नुकसान ही क्यों न हो रहा हो। वह अपने लाभ के लिए दूसरों का नुकसान नहीं होने देगा। ऐसा व्यक्ति अपने सगे-संबंधियों, मित्रों के लिए कुछ हद तक कटुता का पात्र भी बन जाता है क्योंकि जब दो पक्षों में न्याय की बात करनी हो, तब वह सही का साथ देगा। चाहे जिसका वह विरोध कर रहा है अर्थात् जो गलत है वह चाहे उसका कोई अपना ही क्यों न हो, ऐसे में उनसे पुराने संबंध कितने भी अच्छे क्यों न हों उनमें गांठें पड़ जाती हैं जो फिर आसानी से नहीं खुलतीं बल्कि और अधिक पक्की होती जाती हैं और समय के साथ उनमें दरारें पड़ती जाती हैं और संबंधों में दूरियां बढ़ती जाती हंै। मान लीजिए दो मित्रों या दो सहेलियांे में बहुत गहरी दोस्ती है और दोनों में से किसी एक का किसी व्यक्ति या स्त्री से किसी बात पर मन-मुटाव हो गया हो तो वह अपने की सहायता मांगेगा। इस पर उसका मित्र पूरी बात सुनने के बाद सही राय देगा। अगर टैरो सेशन में न्यायाधीश का कार्ड निकला है यानि जस्टिस तो वह बिल्कुल न्यायप्रिय बात करेगा। अगर उसके मित्र की गलती है और सामने वाला व्यक्ति ठीक है तो वह अपने मित्र की गलती निकालेगा चाहे इसमें उसका अपना मित्र नाराज ही क्यों न हो जाये और उससे उसके संबंध टूट ही क्यों न जायंे या उनके संबंधों में प्रेम की जगह घृणा ले ले, एक लंबी दरार आ जाय पर वह हमेशा न्यायिक बात करेगा व उस पर ही अड़ा रहेगा। इसी तरह यदि किसी सास व बहू में झगड़ा हो जाये तो ऐसे में पति की स्थिति बहुत नाजुक हो जाती है कि वह पत्नी का साथ दे या मां का। एक का साथ दे तो दूसरा नाराज हो जाता है, ऐसे में यदि टैरो सेशन में इस व्यक्ति का कार्ड जस्टिस निकलता है तो वह पति हमेशा सत्य का साथ देगा यानी मां व पत्नी में से जो सच्चा है वह उसी का साथ देगा व दूसरे की गलती बतायेगा इससे चाहे उसके संबंध पत्नी से खराब हांे अथवा उसकी मां नाराज हो जाये वह ऐसा करते समय अपने भविष्य के विषय में कुछ नहीं सोचता बल्कि सत्य पर अडिग रहता है। ऐसा व्यक्ति अपने कार्यालय, व्यापार सभी जगह न्याय व सत्य पर अडिग रहता है। सत्यता के नियमों का पालन करता है व हर स्थान पर बैलेंस बनाने की कोशिश करता है। इसमें कभी-कभी वह अपने बाॅस को भी नाराज कर बैठता है तथा अपने बाॅस के कोप का पात्र बन जाता है, इस कारण कभी-कभी उसे बहुत हानि उठानी पड़ती है। बाॅस कई बार बदले की भावना से उसे बिना गलती के भी गलत ठहरा सकता है, सबके सामने उसका अपमान कर सकता है जिससे इसको काफी जिल्लत का सामना करना पड़ता है। अगर बाॅस बद्दिमाग हुआ तो न्याय की बात करने वाले को नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है। नौकरी चले जाने पर उसके घर में भी क्लेश हो सकता है, उसके घर का माहौल भी बिगड़ सकता है, उसकी पत्नी, बच्चे, माता-पिता सब परेशान हो जाते हैं। इससे उसके पारिवारिक जीवन पर बहुत असर पड़ता है। इतना सब कुछ होने पर भी वह न्याय करना नहीं छोड़ता क्योंकि यह उसके व्यक्तित्व की विशेषता है।

लक्ष्मी विशेषांक  नवेम्बर 2015

देवी लक्ष्मी को हर प्रकार का धन एवं समृद्धि प्रदायक माना जाता है। आधुनिक विश्व में सबकी इच्छा आरामदेह एवं विलासितापूर्ण जीवन जीने की होती है। प्रत्येक व्यक्ति कम से कम मेहनत में अधिक से अधिक धन कमाने की अभिलाषा रखता है इसके लिए देवी लक्ष्मी की कृपा एवं इनका आशीर्वाद आवश्यक है। दीपावली ऐसा त्यौहार है जिसमें देवी लक्ष्मी की पूजा अनेक तरीकों से इन्हें खुश करने के उद्देश्य से की जाती है ताकि इनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सके। फ्यूचर समाचार के वर्तमान अंक में प्रबुद्ध लेखकों ने अपने सारगर्भित लेखों के द्वारा देवी लक्ष्मी को खुश करने के अलग अलग उपाय बताए हैं जिससे कि देवी उनके घर में धन-धान्य की वर्षा कर सकें, अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करें तथा पदोन्नति दें। बहुआयामी महत्वपूर्ण लेखों में सम्मिलित हैं: पंच पर्व दीपावली, लक्ष्मी प्राप्ति के अचूक एवं अखंड उपाय, दोष तंत्र- निरंजनी कल्प, लक्ष्मी को खुश करने के उपाय, दीपावली पर धन प्राप्त करने के अचूक उपाय, श्री वैभव समृद्धिदायिनी महालक्ष्मी अर्चना योग, क्यों नहीं रुकती मां लक्ष्मी, लक्ष्मी प्राप्ति के लिए विभिन्न प्रयोग, दीपावली के 21 उपाय एवं 21 चमत्कार आदि। इसके अतिक्ति कुछ स्थायी काॅलम के लेख भी उपलब्ध कराए गये हैं।

सब्सक्राइब

.