(13 लेख)
उपरत्न : गुण एवं पहचान

अकतूबर 2007

व्यूस: 34484

रत्न न केवल आभूषणों की ही शोभा बढाते है। बल्कि इनमे दैविक शक्ति भी विद्यमान होती है। रत्नों की संख्या काफी बड़ी है। परंतु ८४ रत्नों को ही मान्यता प्राप्त है। ९ मुख्य रत्न क्रमश: माणिक्य, मोती, मूंगा, पन्ना, पुखराज, हीरा, नीलम, गोमे... और पढ़ें

ज्योतिषटैरोरत्न

श्री राम जय राम जय जय राम एक तारक मंत्र

आगस्त 2011

व्यूस: 28065

जीवन कों बाधाओं से पारा लगाने के लिए जिसने “राम” नाम का सहारा लिया. उसे कभी निराशा का सामना नहीं करना पड़ा. राम नाम बड़ा चमत्कारी मंत्र है. भगवान राम सभी बाधाओं से मुक्त करने वाले देव है. इस लेख में दिया गया सात शब्दों का तारक मंत्र... और पढ़ें

देवी और देवमंत्र

स्वप्न और शुभाशुभ फल विचार

जून 2012

व्यूस: 18888

स्वप्न दमित इच्छाओं की परिणति हैं, यह सत्य हैं। परन्तु मिथ्या यह भी नहीं है की उनमें भविष्य सूचक अनेक प्रत्यक्ष और परोक्ष संकेत छिपे हुए हैं। यदि उन्हें भलीभांति समझा और जाना जा सके तो कितने ही प्रकार से लाभान्वित हुआ जा सकता हैं।... और पढ़ें

ज्योतिषसपने

कन्या विवाह का अचूक उपाय

मार्च 2014

व्यूस: 13680

जन्म पत्रिका में संयम और बौद्धिकता से यदि तलाशा जाये तो ग्रह-नक्षत्रों के ऐसे अनेक संयोग मिल जाएंगे जो लड़कियों का विवाह करवाने, न करवाने अथवा विलंब आदि से करवाने के संकेत देते हैं।... और पढ़ें

ज्योतिषविवाह

टोटका विज्ञान अंधविश्वास नहीं है

फ़रवरी 2015

व्यूस: 5889

टोटका वह विज्ञान है जिसके संतुलित, समयबद्ध और निरन्तर प्रयोग करते रहने से समस्याओं का निराकरण संभव हो सकता है। जो बातें हमारा कार्य सिद्ध करवा देती हैं तथा हमारी समझ से बाहर हैं, उन्हें हम अलौकिक, गुह्य आदि कह देते हैं। अलौकिक अ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायभविष्यवाणी तकनीकटोटके

योग निद्रा - अनिद्रा का सटीक उपाय

अप्रैल 2015

व्यूस: 5647

अनिद्रा के कारण शरीर के अन्य अवयवों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ने लगता है और शरीर में परिणाम स्वरूप अन्य अनेकों रोग पनपने लगते हैं ।... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायचिकित्सा ज्योतिष

बीज मंत्रो से रोगों का निदान

अकतूबर 2014

व्यूस: 3467

बीज मंत्रों से अनेक रोगों का निदान सफल है। आवश्यकता केवल अपने अनुकूल प्रभावशाली मंत्र चुनने और उसका शुद्ध उच्चारण से मनन-गुनन करने की है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदिमंत्र

उद्योग धन्धे क्यों बंद हो जाते हैं

दिसम्बर 2014

व्यूस: 2232

उद्योग के प्रारम्भ और उसके फलने-फूलने को लेकर देखा जाए तो मूलतः तीन बातें सामने आती हैं- धन, जोखिम और श्रम अर्थात् व्यक्ति के पास उचित धनराशि हो, उसके पास काम करने का जोश और जोखिम उठाने का धैर्य हो और सबसे ऊपर श्रम करने के ... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

ज्योतिष के छः महादोष एवं रत्न चयन

फ़रवरी 2006

व्यूस: 1892

जन्मकुंडली में यदि कोई दोष घटित होता है तो उसके फलस्वरूप प्रगति एवं फल प्राप्ति में कई बाधाएं आती हैं। यदि उसके निदान के लिए उपयुक्त रत्न, उपरत्न आदि धारण किए जाएं तो दोष का प्रभाव कम हो जाता है। प्रस्तुत है इस विषय पर विस्तृ... और पढ़ें

ज्योतिषरत्नभविष्यवाणी तकनीक

लाल किताब एवं रत्न चयन

फ़रवरी 2006

व्यूस: 1178

किसी कुंडली में ग्रह यदि बलवान हों, लाल किताब की भाषा में कहें तो यदि वे अपने पक्के घरों में स्थित हों, तो उनसे संबंधित रत्न चयन किया जा सकता है। लाल किताब सदैव उच्च अर्थात शतप्रतिशत शक्तिशाली ग्रहों के रत्न धारण करने पर बल... और पढ़ें

ज्योतिषरत्नलाल किताब

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)