ग्रह स्थिति एवं व्यापार

ग्रह स्थिति एवं व्यापार  

गोचर फल विचार मासारंभ में 2 अगस्त को भौमवती अमावस्या होने तथा बुध, गुरु, शुक्र व राहु का चर्तुग्रही योग सिंह राशि में होने से विभिन्न राजनैतिक मुद्दों में वृद्धि होने से टकराव की परिस्थितियां बनी रहेंगी। शासन की नीतियों का विरोध किया जाएगा जिससे किसी प्रमुख प्रदेश में हिंसक घटनाएं घटित होंगी तथा सत्ता परिवर्तन का योग बनेगा। 11 अगस्त को बृहस्पति का कन्या राशि में आना और 16 अगस्त को सूर्य का सिंह राशि में आकर शनि से दृष्टिगत होना राजनीतिज्ञों में आपसी टकराव के कारण कई स्थानों पर हिंसात्मक घटनाओं से जन धन की हानि का योग बनाएगा। बाढ़ इत्यादि प्राकृतिक प्रकोपों से नुकसान का भी योग बनाएगा। उत्तर पश्चिमी देशों में शासकीय परिवर्तन व युद्धमय स्थितियां बनेंगी। इस मास में आरंभ में बादल चाल और हल्की वर्षा का योग बनाता है परंतु मासांत में भारी वर्षा से कुछ प्रांतों में हानि का योग बनाएगा। गोचर ग्रह परिवर्तन व नक्षत्र वेध मासारंभ में 2 अगस्त को भौमवती अमावस्या है। इसी दिन सूर्य अश्लेषा नक्षत्र में आकर सर्वतोभद्रचक्र में अनुराधा नक्षत्र को वेधेगा। 4 अगस्त को गुरुवार के दिन चंद्र दर्शन 30 मुहूर्ती में होगा। 4 अगस्त को बुध ग्रह पू. फा. नक्षत्र में आकर अश्विनी नक्षत्र को वेधेगा। 5 अगस्त को केतु शतभिषा नक्षत्र के चतुर्थ चरण में आकर स्वाति नक्षत्र को वेधेगा। 11 अगस्त को गुरु कन्या राशि में प्रवेश करेगा। इसी दिन शुक्र पू. फा. नक्षत्र में आकर अश्विनी नक्षत्र को वेधेगा। 13 अगस्त को शनि मार्गी होगा। 15 अगस्त को बुध उ. फा. नक्षत्र में आकर रेवती नक्षत्र को वेधेगा। 16 अगस्त को सूर्य मघा नक्षत्र में आकर भरणी नक्षत्र को वेधेगा। भाद्रपद की संक्रांति 45 मुहूर्ती में होगी। 19 अगस्त को बुध कन्या राशि में प्रवेश करेगा। 22 अगस्त को शुक्र उ. फा. नक्षत्र में आकर रेवती नक्षत्र का वेध करेगा। 25 अगस्त को मंगल ज्येष्ठा नक्षत्र में आकर पुष्य नक्षत्र को वेधेगा। 26 अगस्त को गुरु ग्रह उ. फा. नक्षत्र के तृतीय चरण में प्रवेश करेगा। 30 अगस्त को सूर्य पू. फा. नक्षत्र में प्रवेश कर अश्विनी नक्षत्र का वेध करेगा। सोना व चांदी मासारंभ में 2 अगस्त को सोना व चांदी के बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 4 अगस्त को बाजारों में मंदी के बाद तेजी का रूझान ही दर्शाता है। 5 अगस्त से 10 अगस्त तक बाजारों में पूर्वरूख के चलते उतार-चढ़ाव का योग बनाएगा। 11 अगस्त को चांदी के बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 15 अगस्त को बाजारों में मंदी का रूख ही बनाएगा। 16 अगस्त को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 19 अगस्त को बाजारों में तेजी का माहौल बनाएगा। 22 अगस्त को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति ही बनाएगा। 25 अगस्त को बाजारांे में विशेषतया चांदी में तेजी का ही रूख बरकरार रखेगा। 26 अगस्त को बाजारों में मंदी का वातावरण ही बनाएगा। 28 अगस्त को बाजारांे में पूर्वरूख ही बनाएगा। 30 अगस्त को सोने के बाजारों में तेजी और चांदी के बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति ही बनाएगा। गुड़ व खांड़ मासारंभ में 2 अगस्त को गुड़ व खांड़ के बाजारांे में तेजी का वातावरण दर्शाता है। 4 अगस्त को बाजारों में तेजी का रूझान बनाएगा। 5 अगस्त को बाजारों में तेजी के बाद मंदी का माहौल बनाएगा। 11 अगस्त को बाजारों में तेजी का दायक ही बनाएगा। 13 अगस्त को बाजारांे में तेजी का ही योग बनाएगा। 15 अगस्त को बाजारों में तेजी का रूख ही बरकरार रखेगा। 17 अगस्त को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद मंदी का का रूझान ही बनाएगा। 22 अगस्त को बाजारों में कुछ तेजी की स्थिति ही बनाएगा। 25 अगस्त को बाजारों में तेजी में वृद्धि का कारक बनाएगा। 28 अगस्त को बाजारों में मंदी का वातावरण बनाएगा। 30 अगस्त को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। अनाजवान एवं दलहन मासारंभ में 2 अगस्त को जौ, चना, ज्वार, बाजरा इत्यादि अनाजों तथा मूंग, मौठ, मसूर, अरहर इत्यादि दलहन के बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 4 अगस्त को बाजारांे में पूर्वरूख बरकरार रखेगा। 5 अगस्त को तेजी के बाद 10 अगस्त तक बाजारों में कुछ मंदी का ही माहौल बनाएगा। 11 अगस्त को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 13 अगस्त को बाजारों में तेजी का ही रूझान बनाए रखेगा। 15 अगस्त को बाजारों में पूर्वरूख का माहौल ही बनाएगा। 16 अगस्त को बाजारों में तेजी का ही दायक बनाएगा। 19 अगस्त को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति को दर्शाता है। 22 अगस्त को बाजारांे में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 25 अगस्त को बाजारों में तेजी के बाद 28 अगस्त तक उतार-चढ़ाव का दायक ही बनाएगा। 30 अगस्त को जौ, चना, ज्वार, बाजरा इत्यादि अनाजवानों तथा मूंग, मौठ, मसूर, अरहर इत्यादि दलहन के बाजारों में पुनः तेजी का रूझान ही बनाएगा। घी व तेलवान मासारंभ में 2 अगस्त से 5 अगस्त तक बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 5 अगस्त से बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति को ही बनाएगा। 11 अगस्त को बाजारों में तेजी का रूख ही बनाएगा। 13 अगस्त को बाजारों में पूर्वरूख का माहौल ही बनाएगा। 15 अगस्त से लेकर 22 अगस्त तक उतार-चढ़ाव के बाद रूख तेजी की तरफ ही बनाएगा। 25 अगस्त को बाजारांे में तेजी में वृद्धि का कारक ही बनाएगा। 28 अगस्त को बाजारों में पूर्वरूख ही बरकरार रखेगा। 30 अगस्त को बाजारों में तेजी के बाद आगे कुछ मंदी का योग दर्शाता है। नोट: उपर्युक्त फलादेश पूरी तरह ग्रह स्थिति पर आधारित है, पाठकों का बेहतर मार्ग दर्शन ही इसका मुख्य उद्देश्य है। इसके साथ-साथ संभावित कारणों पर भी ध्यान देना चाहिए जो बाजार को प्रभावित करते हैं। कृपया याद रखें कि व्यापारी की सट्टे की प्रवृत्ति और निर्णय लेने की शक्ति में कमी तथा भाग्यहीनता के कारण होने वाले नुकसान के लिए लेखक, संपादक एवं प्रकाशक जिम्मेदार नहीं हैं।


श्रीकृष्ण विशेषांक  आगस्त 2016

फ्यूचर समाचार का वर्तमान अंक भगवान श्रीकृष्ण को समर्पित है। इस अंक में भगवान श्रीकृष्ण, उनसे सम्बन्धित कहानियां एवं श्रीमद् भगवद्गीता के महत्वपूर्ण व्याख्यानों को समाविष्ट किया गया है। महत्वपूर्ण आलेखों में सम्मिलित हैं: गीता के शब्दार्थों का मूल एवं वर्तमान, श्रीकृष्ण जी का भगवद् प्राप्ति संदेश, संक्षिप्त गीतोपनिषद् कृष्ण की रास लीला या जीवन रस लीला, कर्म का धर्म आदि। इसके अतिरिक्त पत्रिका के अन्य स्थायी स्तम्भों के अन्तर्गत अनेक विचारोत्तेजक आलेखों को संलग्न किया गया है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.