ग्रह स्थिति एवं व्यापार

ग्रह स्थिति एवं व्यापार  

गोचर फल विचार मासारंभ में 1 मई को सूर्य मंगल का राशि संबंध तथा केतु से द्विद्र्वादश योग में होना राजनीतिक नेताओं में परस्पर विरोधाभास और टकराव को बढ़ाकर राजनीति में आकस्मिक नया मोड़ लाएगा। बृहस्पति की शनि पर दृष्टि का होना किसी वरिष्ठ राजनीतिज्ञ के लिए अत्यंत कष्टकारी साबित होगा। 5 मई से 2 जून तक ज्येष्ठ मास में पांच मंगलवार का होना देश में हिंसक घटनाओं और पश्चिमी देशों के मध्य युद्धमय वातावरण बनाएगा तथा आम जनता में नए रोगों से भय व चिंता का माहौल बनाएगा। 3 मई को मंगल का वृष राशि में आकर समसप्तक योग में आ जाना आतंकी संगठनों को बढ़ाकर अशांतमय माहौल बनाएगा और देश की सुरक्षा प्रणाली के विषय पर सरकार को गंभीर रूख अपनाना पड़ेगा। 15 मई को सूर्य का वृष राशि में आकर मंगल से राशि संबंध व शनि से समसप्तक योग बनाना किसी प्रदेश में सत्ता परिवर्तन का योग बनाता है। इस मास में तेज गर्म हवाओं के साथ कुछ क्षेत्रों में खंड वर्षा का योग बनाता है। गोचर ग्रह परिवर्तन व नक्षत्र वेध मासारंभ में 2 मई को शुक्र मिथुन राशि में आएगा। 3 मई को मंगल वृष राशि में आकर बुध के साथ युति बनाएगा तथा शनि से समसप्तक योग बनाएगा। 4 मई को बुध रोहिणी नक्षत्र पर आकर अभिजित नक्षत्र को सर्वतोभद्रचक्र द्वारा वेधेगा। 8 मई को शुक्र आद्र्रा नक्षत्र में आकर पू. षा. नक्षत्र को वेधेगा। 10 मई को गुरु अश्लेषा नक्षत्र के दूसरे चरण में प्रवेश करेगा। 11 मई को सूर्य कृतिका नक्षत्र में आकर श्रवण, विशाखा व भरणी नक्षत्रों को वेधेगा। 15 मई को सूर्य वृष राशि में प्रवेश करेगा तथा मंगल व बुध से राशि संबंध बनाएगा तथा ज्येष्ठ संक्रांति 30 मुहूर्ती में होगी। 17 मई को मंगल रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर अभिजित नक्षत्र को तथा दक्षिण वेध से अश्विनी नक्षत्र को वेधेगा। 19 मई को बुध ग्रह वक्री गति में आ जाएगा तथा इसी दिन चंद्र दर्शन मंगलवार को 45 मुहूर्ती में होगा। 20 मई को शुक्र पुनर्वसु नक्षत्र में प्रवेश कर मूल नक्षत्र को वेधेगा। 21 मई को वक्री गति का बुध ग्रह अस्त हो जाएगा। 23 मई को राहु हस्त नक्षत्र के प्रथम चरण में तथा केतु उ. भा. के तृतीय चरण में प्रवेश करेगा। 25 मई को सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर अभिजित, स्वाति व अश्विनी नक्षत्रों को वेधेगा। 30 मई को शुक्र कर्क राशि में प्रवेश कर गुरु ग्रह के साथ राशि संबंध बनाएगा। सोना व चांदी 2 मई को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 3 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनाएगा। 4 मई को बाजारों में तेजी का रूझान बरकरार रखेगा। 8 मई को बाजारों में मंदी का माहौल बनाएगा। 10 मई को बाजारों में पुनः तेजी की लहर को चलाएगा। 11 मई को बाजारों में तेजी का वातावरण बनाएगा। 15 मई को बाजारों में आगे तेजी का रूख ही बरकरार रखेगा। 17 मई को बाजारों में तेजी की वृद्धि ही करेगा। 19 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद पूर्वरूख को बनाए रखने में सहायक होगा। 20 मई को बाजारों में कुछ मंदी का योग ही दर्शाता है। 21 मई को बाजारों में मंदी का माहौल ही बनाएगा। 23 मई को सोना-चांदी के बाजारों में पूर्वरूख को बरकरार रखेगा। 25 मई को चांदी के बाजारों में तेजी तथा सोने के बाजारों में पूर्वरूख ही बनाएगा। 30 मई को चांदी के बाजारों में मंदी का रूख बनाए रखेगा। गुड़ एवं खांड 2 मई को गुड़ व खांड के बाजारों में उतार-चढ़ाव की विशेष परिस्थिति बनेगी। 3 मई को बाजारों में कुछ तेजी का माहौल ही बनाएगा। 4 मई को बाजारों में पूर्वरूख का वातावरण बनाएगा। 8 मई को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 10 मई को बाजारों में पुनः तेजी के रूख को बनाएगा। 11 मई को बाजारांे में तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। 15 मई को बाजारों में तेजी की वृद्धि ही करेगा। 17 मई को गुड़ व खांड के बाजारों में तेजी का ही योग दर्शाता है। 19 मई को बाजारों में पुनः तेजी का माहौल ही बनाएगा। 21 मई को बाजारों में पूर्वरूख को बरकरार रखेगा। 22 मई को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 25 मई को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 30 मई को आगे बाजारों में तेजी की लहर को ही चलाएगा। अनाज व दलहन 2 मई को गेहूं, जौ, चना, ज्वार, बाजरा आदि अनाजवान तथा मूंग, मौठ, मसूर, अरहर इत्यादि दलहन के बाजारों में तेजी का वातावरण ही दर्शाता है। 3 मई को बाजारों में तेजी का रूख ही बनाएगा। 4 मई को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 8 मई को बाजारों में मंदी का माहौल बना देगा। 10 मई को बाजारों में कुछ तेजी का योग ही बनाएगा। 15 मई को बाजारों में तेजी की लहर चलाएगा। 17 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद पुनः तेजी का रूख ही बनाएगा। 19 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव का माहौल बनाएगा। 20 मई को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 21 मई को गेहूं, जौ, चना, ज्वार, बाजरा आदि अनाजों तथा मूंग, मौठ, मसूर अरहर इत्यादि दलहनों में तेजी का वातावरण बनाएगा। 30 मई को बाजारों में मंदी का योग ही दर्शाता है। घी व तेलवान 2 मई को घी व तेलवान के बाजारों में विशेषतया उतार-चढ़ाव की स्थिति बनाएगा। 3 मई को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 4 मई को बाजारों में तेजी की लहर को ही चलाएगा। 8 मई को बाजारों में मंदी का रूख बनाएगा। 10 मई को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 12 मई को बाजारों में पुनः तेजी का रूख ही बरकरार रखेगा। 15 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। 17 मई को बाजारों में तेजी का माहौल ही बनाएगा। 19 मई को बाजारों में पूर्वरूख को ही बरकरार रखेगा। 21 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति को बनाएगा। 23 मई को बाजारों में मंदी का योग ही दर्शाता है। 25 मई को बाजारों में तेजी का रूख ही बनाएगा। 30 मई को बाजारों में आगे तेजी की लहर को ही चलाएगा।


साईं विशेषांक  मई 2015

फ्यूचर समाचार का साँई बाबा विशेषांक विेश्व प्रसिद्ध आध्यात्मिक गुरु श्री शिरडी साँई बाबा से सम्बन्धित सर्ब प्रकार की जानकारी देता है। इस विशेषांक में आपको साँई बाबा के उद्भव, बचपन, आध्यात्मिक शक्तियाँ, महत्वपूर्ण तथ्य, सबका मालिक एक व श्रद्धा और सबुरी जैसी लोकप्रिय शिक्षाओं की व्याख्या, साँई बाबा के चमत्कार, विश्व प्रसिद्ध सन्देश, साँई बाबा की समाधि का दिन तथा शीघ्र ब्रह्म प्राप्ति आदि अनेक विषयों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। इसके अतिरिक्त महत्वपूर्ण व ज्ञानवर्धक लेख विवाह संस्कार, वास्तु परामर्श, फलित विचार, हैल्थ कैप्सूल तथा पंचपक्षी आदि को भी शामिल किया गया है। सत्यकथा, विचार गोष्ठी और ज्योतिष व महिलाएं इस विशेषांक के मुख्य आकर्षण हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.