अगर आप किसी मुकदमे में फंस गये हों तो क्या करें?

अगर आप किसी मुकदमे में फंस गये हों तो क्या करें?  

कोई भी जातक जब किसी मुकदमे में फंसता है तो न केवल उसके धन की क्षति होती है अपितु समय का भी व्यर्थ ही दुरूपयोग होता है। वह जातक मानसिक व शारीरिक दोनों रूप से दुख काटता है। अपने व्यवसाय या नौकरी में भी समय न देने की वजह से नुकसान उठाता है। पारिवारिक व सामाजिक उत्तरदायित्वों को भी पूर्ण नहीं कर पाता व दिन पर दिन इन्हीं उलझनों में फंसता चला जाता है और अपने जीवन को कठिनाइयों से परिपूर्ण मानने लगता है। कई बार देखा गया है कि जातक झूठे मुकदमों के चलते इतना परेशान हो जाता है कि अपनी जीवन लीला तक भी समाप्त कर लेता है। भगवान ऐसी परिस्थितियां किसी के साथ भी न बनायें। परंतु यह जीवन है। इसमें जातक जाने अनजाने अपने कर्मों के अनुरूप इन परिस्थ्तिियों में फंस जाता है। अगर आप भी इन्हीं परिस्थितियों में फंस गये हैं तो आप इन परिस्थितियों से निकलने के लिए क्या करें? - ज्योतिष शास्त्र के द्वारा जानें कि आप मुकदमों में कैसे फंस गये। - जब किसी जातक की कुंडली में मंगल व राहु की युति व कोई संबंध पाया जाता है तो जातक मुकदमों में फंसता है। - किसी भी तरह के मुकदमे में फंसने पर आप क्या करें? - सुबह स्नान व नित्यकर्म करने के उपरांत सूर्योदय के समय तांबे के बर्तन में जल व रोली मिला कर सूर्य को अघ्र्य दें तथा 9 बार ऊँ आदित्य नमः का जप करें व उस जल का तिलक माथे पर लगावें। इस क्रिया के उपरांत वहीं आसन पर बैठ हनुमान जी का ध्यान लगाकर तीन माला जप इस श्लोक का करें: दुर्गम काज जगत के जेते, सुगम अनुग्रह तुम्हारे तेते। लगातार 27 दिन तक यह प्रक्रिया करें अवश्य ही आपको मुकदमे से छुटकारा मिलेगा। -नौकरी में किसी तरह के झूठे इल्जाम लगने पर आप मुकदमे में फंस गये हांे तो क्या करें? मंगलवार की सायं को हनुमान जी को चमेली का तेल चढ़ावें व तुलसी के पत्तों की माला हनुमानजी के गले में डालें (केवल पुरुष जातक)। स्त्रियां माला को चरणों पर अर्पित करें। एक माला जप इस मंत्र का करें: ऊँ नमो भगवते रामदूतय मन ही मन मुकदमे से छुटकारा पाने की कामना करें। इस प्रक्रिया को 11 मंगलवार को करें अवश्य ही आप झूठे मुकदमे से छुटकारा पायेंगे। - आप दोषी नहीं हैं किंतु आपको सजा या जेल हो गई है तो ऐसी परिस्थिति में आप क्या करें? उत्तर दिशा की ओर मुख कर बैठें व प्रतिदिन 9 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें और भगवान हनुमान जी से मन ही मन अपने ऊपर आये कष्ट के निवारण की कामना करें, अवश्य ही आपके कष्टों का निवारण होगा। प्याज, मांस, मदिरा का प्रयोग न करें। - परिवार में व भाइयों में जमीन-जायदाद व कारोबार में बंटवारे के विवाद में मुकदमे में आप फंस गये हैं तो आप क्या करें? लगातार 9 मंगलवार हनुमान जी के मंदिर जा कर बजरंगबाण का पाठ करें। पाठ उपरांत हलवा पूरी का प्रसाद गरीबों के बच्चों में बांटें। फैसला शीघ्र होगा और मुकदमे से भी छुटकारा मिलेगा।


अंक ज्योतिष विशेषांक  जून 2015

फ्यूचर पाॅइंट के इस लोकप्रिय अंक विशेषांक में अंक ज्योतिष से सम्बन्धित लेख जैसे अंक ज्योतिष का उद्भव- विकास, महत्व और सार्थकता, गरिमा अंकशास्त्र की, अंक ज्योतिष एक परिचय, अंकों की विशेषताएं, अंक मेलापक: प्रेम सम्बन्ध व दाम्पत्य सुख, नाम बदलकर भाग्य बदलिए, कैसे हो आपका नाम, मोबाइल नम्बर, गाड़ी आपके लिये शुभ, मास्टर अंक, लक्ष्मी अंक भाग्य और धन का अंक, अंक फलित के तीन चक्र प्रेम, बुद्धि एवं धन, अंक शास्त्र की नजर में तलाक, कैसे जानें अपने वाहन का शुभ अंक इत्यादि शामिल किये गये हैं। इसके अतिरिक्त अन्य अनेक लेख जैसे अंक ज्योतिष द्वारा नामकरण कैसे करें, चमत्कारिक यंत्र, कर्मफल हेतुर्भ, फलित विचार, सत्य कथा, भागवत कथा, विचार गोष्ठी, पावन स्थल, वास्तु का महत्व, कुछ उपयोगी टोटके, ग्रह स्थिति एवं व्यापार आदि के साथ साथ व्रत, पर्व और त्यौहार आदि के बारे में समुचित जानकारी दी गई है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.