प्राचीन समय में अनेक व्यक्ति अपने मकानों पर यंत्र लिखते थे। वे वैज्ञानिक थे या यों ही शुभ मानकर लिख लिया करते थे यह कुछ कहा नहीं जा सकता। उन्होंने उन यंत्रों का नामकरण पंद्रीया यंत्र, बीसा यंत्र, चैंतीसा यंत्र, तथा चालीसा यंत्र आदि के रूप में किया था। दीपावली के पावन पर्व पर अपने घरों की दीवारों पर तथा बही खातों पर तथा तिजोरी इत्यादि पर ऐसे यंत्रों का प्रतिवर्ष नवीनीकरण कर लिया जाता है। हम यहां नौ यंत्र दे रहे हैं। जो अंक जिस मनुष्य का हो (अंग्रेजी तारीख के जन्मानुसार अंक) उसे अपना मानकर कागज, दीवार पर सुंदर अंक लिखना चाहिए। इन यंत्रों को लकड़ी के तख्त पर, टीन की प्लेटों पर भी लिखा जा सकता है। अपनी आर्थिक शक्ति के अनुसार इन्हें ताम्रपत्र, रजत (चांदी), स्वर्ण आदि के पत्तों पर भी अंकित कराया जा सकता है। धातु पर अंकित यंत्र आदि को नित्य नियमपूर्वक धो-पोंछकर लाल चंदन को घिस कर अनार की कलम से लेखन किया जाय तो यंत्र का फल विशेष उत्तम और शुभकारी हो जाता है। नित्य नियमपूर्वक अपने इष्टदेव का पूजन करने वाले मनुष्य को इस यंत्र प्रक्रिया को अपने पूजा-अनुष्ठान में अवश्य शामिल करना हितकारी होगा। पूजन करते समय इन यंत्रों को गंधाक्षत, पुष्प आदि से कदापि न ढांपिये, क्योंकि इससे अंकों का स्वरूप बिगड़ जायेगा और विकृत हो जायेंगे जो अभिष्ट नहीं है। अब हम चमत्कारिक यंत्र पं. राजेंद्र शर्मा अंकों के नौ यंत्रों को लिख रहे हैं जो 1 से 9 अंक तक के संबंध में है। जिनका जन्म किसी भी माह की अंग्रेजी तारीख 1, 10, 19 और 28 को हुआ है उनके लिए अंक 1 का यंत्र- पूजन अनुष्ठान का यंत्र 4 19 16 7 14 9 10 13 11 12 15 8 17 6 5 18 धारण करने का यंत्र 4 9 2 3 5 7 8 1 6 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 2, 11, 20 और 29 को हुआ है उनके लिए 2 का यंत्र - पूजन अनुष्ठान का यंत्र 2 17 14 5 12 7 8 11 9 10 13 6 15 4 3 16 धारण करने का यंत्र 7 2 9 8 6 4 3 10 5 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 3, 12, 21 और 30 को हुआ है उनके लिए 3 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 9 24 21 22 19 14 15 18 16 17 20 13 22 11 10 23 धारण करने का यंत्र 10 5 12 11 9 7 6 13 8 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 4, 13, 22 और 31 को हुआ है उनके लिए 4 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 7 22 19 10 17 12 13 16 14 15 18 11 20 9 8 21 धारण करने का यंत्र 13 8 15 14 12 10 9 16 11 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 5, 14, 23 को हुआ है उनके लिए 5 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 5 20 17 8 15 10 11 14 12 13 16 9 18 7 6 19 पूजन अनुष्ठान का यंत्र 5 20 17 8 15 10 11 14 12 13 16 9 18 7 6 19 पूजन अनुष्ठान का यंत्र 5 20 17 8 15 10 11 14 12 13 16 9 18 7 6 19 पूजन अनुष्ठान का यंत्र 3 18 15 6 13 8 9 12 10 11 14 7 16 5 4 17 धारण करने का यंत्र 11 6 13 12 10 8 7 14 9 जनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 7, 16, 25 को हुआ है उनके लिए 7 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 1 16 13 4 11 6 7 10 8 9 12 5 14 3 2 15 धारण करने का यंत्र 14 9 16 15 13 11 10 17 12 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 8, 17 26 को हुआ है उनके लिए 8 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 8 23 20 21 18 13 14 17 15 16 19 12 21 10 9 22 धारण करने का यंत्र 12 7 14 13 11 9 8 15 10 जिनका जन्म अंग्रेजी माह की तारीख 9, 18 27 को हुआ है उनके लिए 9 का यंत्र पूजन अनुष्ठान का यंत्र 6 21 18 9 16 11 12 15 3 14 17 10 19 8 7 20 धारण करने का यंत्र 8 3 10 9 7 5 4 11 16 ये यंत्र साधारण नहीं हैं। इन यंत्रो में दर्शाए गए अंक साधारण न होकर धार्मिक मंत्रों को दर्शाने वाले अंक हैं। यह यंत्र पूर्ण रूप से चमत्कारिक है व आजमाए हुये हैं। आप भी इन्हें उपयोग कर अपने जीवन को उन्नति के शिखर पर ले जा सकते हैं। पूजन अनुष्ठान के यंत्र को कागज या पूजा घर की दीवार पर अंकित करें। धारण वाले यंत्र को लाॅकेट या अंगूठी में अंकित करा सकते हैं।


डिप्रेशन रोग एवं ज्योतिष विशेषांक  September 2017

डिप्रेशन रोग एवं ज्योतिष विशेषांक में डिप्रेशन रोग के ज्योतिषीय योगों व कारणों की चर्चा करने हेतु विभिन्न ज्ञानवर्धक लेख व विचार गोष्ठी को सम्मिलित किया गया है। इस अंक की सत्य कथा विशेष रोचक है। वास्तु परिचर्चा और पावन तीर्थ स्थल यात्रा वर्णन सभी को पसंद आएगा। टैरो स्तम्भ में माइनर अर्कानाफाइव आॅफ वांड्स 64 की चर्चा की गई है। महिलाओं के पसंदीदा स्तम्भ ज्योतिष एवं महिलाएं में इस बार भी रोचक लेख सम्मिलित किया गया है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.