बेशकीमती ऐतिहासिक‘रवि’ देवालय

अप्रैल 2015

व्यूस: 2459

तकरीबन तीन सौ वर्षों तक बिहार, बंगाल व झारखंड क्षेत्र में शासन सत्ता स्थापित कर अपने गौरवनामा का परचम लहराने वाला पालवंश भारतीय कला संस्कृति के अभ्युदय काल के स्वरूप का स्पष्ट दिग्दर्शन है। इस युग में जहां एक ओर तथागत और उ... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

जैन धर्म के दो अविस्मरणीय स्थल

अप्रैल 2016

व्यूस: 2336

पारसनाथ यह संसार नश्वर है। यही कारण है कि इस दुनिया-जहान में जो आता है एक न एक दिन उसका जाना सुनिश्चित है, परंतु एक ही पर्वत क्षेत्र में किसी धर्म-संप्रदाय के बीस महात्माओं को निर्वाण प्राप्त होना निश्चय ही उसकी प्रतिष्ठा-प... और पढ़ें

देवी और देवस्थानविविधमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

सर्वकल्याणकारिणी हैं लक्ष्मी स्वरूपा माँ पद्मावती

अकतूबर 2016

व्यूस: 2286

आदि अनादि काल से धर्म सम्मत रहे भारतवर्ष में सनातन देवी-देवताओं के पूजन क्रम में धन की अधिष्ठात्री देवी विष्णु प्रिया लक्ष्मी जी की आराधना विभिन्न अभीष्टों की पूर्ति के लिए की जाती है। इतिहास गवाह है कि वैदिक कालीन त्राय मह... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

राहु-केतु पीड़ा निवारक तक्षक तीर्थ

दिसम्बर 2010

व्यूस: 2126

काल सर्प योग राहु और केतु के माध्यम से बनता है। राहु को सर्प का मुख एवं केतु सर्प की पूंछ माना गया है। सांपों का भारतीय संस्कृति से बहुत गहरा संबंध है।... और पढ़ें

स्थानउपायअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

सरोवर

मार्च 2016

व्यूस: 2059

पवित्र नदियों के बारे में तो सभी जानते हैं। लेकिन पवित्र सरोवर के बारे में सभी को बहुत कम पता है। सरोवर को हम तालाब या कोई कुंड नहीं कह सकते सरोवर को हम झील कह सकते हैं। भारत में अनगणित झीले हैं लेकिन उनमें से केवल पांच का ही म... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

यहां सबकी भरती है झोली

नवेम्बर 2017

व्यूस: 1943

पवित्र, पुनीत और ऐतिहासिक मगध की धरती प्रारंभ काल से ही ऋषि-मुनि, साधक-संत, दरवेश, सूफी संत और फकीरों की साधना स्थली से भरा-पूरा है। आज भी इस पूरे क्षेत्र में एक से बढ़कर एक ऐसे-ऐसे स्थान हैं जहां दवा से ज्यादा दुआ का असर है... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थलयात्रा

सर्वकल्याणक श्री पंचमुखी हनुमान जी

जून 2016

व्यूस: 1940

संसार भर के वीरों में अद्वितीय, ज्ञानियों में सर्वश्रेष्ठ, अष्टसिद्धि के स्वामी श्री रामभक्त हनुमान की आराधना प्राचीन काल से लेकर आज तक संपूर्ण भारतीय प्रायद्वीप में निर्बाध रूप से जारी है जो भक्तों के कल्याणार्थ इस भू-धरा प... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

देश के प्रमुख शनि धाम

जून 2016

व्यूस: 1882

शनि का नाम जपने से अनेक कष्टों का शमन होता है। शनि शांति का अनुष्ठान यदि शनि मंदिरों में जाकर किया जाए तो उसका प्रभाव शीघ्र होता है। शनि के सिद्ध स्थलों की जानकारी प्रायः कम ही लोगों को होती है। इस आलेख में कुछ प्रसिद्ध शनि धामो... और पढ़ें

देवी और देवस्थानग्रहमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

शिव शक्ति आराधना का फलदायी केंद

जुलाई 2016

व्यूस: 1859

युगों-युगों से भारतभूमि को शृंगारित करने वाली शिवप्रिया गंगा देश की पहचान है और इसके तट पर तीर्थों का बाहुल्य है। अटूट जनास्था और धार्मिक आस्था, विश्वास की प्रतीक बनी मातृरूपा मां गंगा के तट पर जयादातर शैव तीर्थ, शक्ति तीर्थ... और पढ़ें

देवी और देवस्थानअध्यात्म, धर्म आदिमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

मन्नत प्राप्ति का जाग्रत केंद्र: भगवती स्थान

दिसम्बर 2016

व्यूस: 1822

मन्नत प्राप्ति का जाग्रत केंद्र भगवती स्थान कालीपीठ को कोई भक्त ‘तारापीठ’ से तो कोई कोलकाता के ‘दक्षिणेश्वर’ अथवा ‘कालीघाट’ से जोड़ता है पर इसकी महिमा भी इस क्षेत्र में कुछ कम नहीं। भक्तों का एक विशाल वर्ग मातृ आराधना में तन-मन स... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)