ग्रहों का राशि परिवर्तन किस राशि के लिए कैसा ?

ग्रहों का राशि परिवर्तन किस राशि के लिए कैसा ?  

व्यूस : 3144 | अकतूबर 2017

12 सितंबर को गुरु कन्या राशि से तुला राशि में आये हैं और राहु (स्पष्ट) ने 9 सितंबर को सिंह से कर्क राशि में प्रवेश किया है। 2017 में शनि 26 जनवरी को वृश्चिक से धनु में आये थे। 6 अप्रैल को शनि धनु राशि में वक्री हुए। पुनः 21 जून को वृश्चिक राशि में आए और 25 अगस्त को वृश्चिक राशि में मार्गी हुए तत्पश्चात 26 अक्तूबर को पुनः धनु राशि में जाएंगे। इस प्रकार सभी दीर्घकालिक ग्रहों का राशि परिवर्तन हुआ।

इसके कारण अधिकांश लोगों के जीवन में यह वर्ष काफी बदलाव और उथल-पुथल का रहा। 16 सितंबर 2017 से कालसर्प दोष भी भचक्र में स्थापित हो जाएगा जो कि 6 फरवरी 2018 तक रहेगा। आने वाले वर्ष में ग्रहों की स्थिरता रहेगी जिसके परिणामस्वरूप लोगों को कम कष्टों का सामना करना पड़ेगा। 20 अक्तूबर 2017 से कार्तिकादि नववर्ष शुरू हो रहा है।

आइये जानें कि बदलते ग्रहों का प्रभाव और यह नववर्ष संवत् 2074 विभिन्न राशियों के लिए कैसा रहेगा? मेष: मेष राशि के लिए अभी तक अष्टम ढैय्या चल रही थी। जिसकी वजह से वर्ष 2017 आपके व्यवसाय व स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी निराशाजनक रहा होगा, विशेष रूप से अप्रैल से अगस्त तक का समय। अब आपके लिए नवंबर 2017 से यह वर्ष अति उत्तम रहने वाला है।

इस समय स्वास्थ्य में स्थिरता रहेगी, व्यवसाय में वृद्धि होगी और मानसिक शांति मिलेगी। अचल संपत्ति व वाहन दोनों ही सुख प्राप्त होंगे। व्यावसायिक साझेदारी और वैवाहिक साझेदारी दोनों में ही लाभ मिलेगा। धार्मिक कार्यों में मन लगेगा व धार्मिक यात्राएं होंगी। शुभ समय का लाभ उठाएं। वृषभ : आने वाला यह वर्ष आपके लिए बाधाओं वाला हो सकता है।

अतः आप भावुकता में बड़े निर्णय न लें। अपने उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन पर प्रतिक्रिया न करें। ऐसा अक्सर हो जाता है कि आवेश में आकर हम नौकरी से त्यागपत्र दे देते हैं जिसके बाद हमें पछताना पड़ता है क्योंकि ऐसे समय में दूसरी नौकरी मिलना बहुत कठिन होता है। फलस्वरूप मानसिक रूप से अति कष्ट होता है क्योंकि दूसरों की गलतियों का हमें नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसे में धैर्य बनाए रखें।

साथ ही व्यवसाय में बड़े धन निवेश से बचें। सेहत का ध्यान रखें। कमर या जोड़ों में दर्द आदि की शिकायत बढ़ सकती है जिसके लिए आपको फिजियोथैरेपी की आवश्यकता पड़ सकती है। समय अनुकूल होने पर ये रोग स्वतः दूर हो जायेंगे। शनि की अष्टम ढैय्या प्रतिकूल परिणाम दे सकती है। अतः इसकी शांति के लिए प्रत्येक शनिवार को तेल का छाया दान करें।

मिथुन: आपकी राशि के लिए समय अच्छा चल रहा है।


For Immediate Problem Solving and Queries, Talk to Astrologer Now


सभी ग्रह अनुकूल हैं। ऐसे में बुद्धि, विवेक का प्रयोग लाभ देगा। मान-सम्मान बढ़ेगा। भाग्य का सहयोग कार्यों में मिलेगा। नौकरी में बदलाव के प्रयास सफल होंगे। अविवाहितों का विवाह तय हो सकता है। संतान सुख प्राप्त होगा। भूमि-भवन से जुड़ी योजनाएं पूर्ण होंगी। पिता को आय का लाभ मिलेगा। साझेदारी में सावधानी बरतें। जीवनसाथी से मतभेद उभर सकते हैं। शांति बनाए रखें। समय अच्छा है,समय का लाभ उठाएं।

कर्क: स्वयं के घर की कामना पूर्ण होगी। वाहन लेने को सोच रहे हैं तो यह समय उत्तम रहेगा। व्यवसाय में बढ़ोत्तरी होगी। नौकरी में पदोन्नति व स्थानांतरण होगा। घर से दूर कार्य करने वाले लोगों की घर वापसी होगी। समय उत्तम है, छात्रों को शुभता का लाभ मिलेगा। शनि छठे भाव से गोचर कर रहे हैं अतः शत्रुओं से सावधान रहें। दूसरों के विवादों में न पड़ें। अपने अधीनस्थों का मान-सम्मान करें, अन्यथा वे परेशानी का कारण बन सकते हैं।

राहु आपकी राशि पर गोचर कर रहे हैं, अतः मन थोड़ा विक्षिप्त रह सकता है। इसके लिए शिव मंत्र का जाप करें।

सिंह: सिंह राशि के लिए यह वर्ष 2017 काफी उतार-चढ़ाव का रहा है। व्यवसाय के क्षेत्र में स्थिरता नहीं रही होगी। साथ ही घर का वातावरण भी शांतिपूर्ण नहीं रहा होगा। लेकिन अब स्थिति में बदलाव आयेगा और परिस्थितियां मनोनुकूल बनेंगी। व्यवसाय की दृष्टि से भी समय अच्छा रहेगा।

विदेश यात्राएं व विदेश से संबंध स्थापित होंगे। नौकरी-पेशा लोगों का स्थानांतरण घर से दूर हो सकता है। संतान से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। यात्राओं व भौतिक सुख-सुविधाओं पर अत्यधिक व्यय होंगे। खर्चों पर नियंत्रण रखें। 

आपकी राशि के लिए पिछला वर्ष आर्थिक दृष्टिकोण से कमजोर रहा होगा जिसमें अब बदलाव आयेगा और आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी, लाभ बढ़ेंगे,व्यवसाय में वृद्धि होगी। यदि आप नया कार्य करना चाहते हैं तो यह समय शुभ है। परदेश में कार्यरत व्यक्ति घर वापस आ सकते हैं। वाहनों से लाभ होगा। लेकिन घर का माहौल थोड़ा अशांत हो सकता है। माता की सेहत का ख्याल रखें। जीवन-साथी से कलह हो सकती है। मित्रों से लाभ होगा। सामाजिक दायरा बढ़ेगा लेकिन उसमें अधिक समय व्यतीत न करें क्योंकि उसमें बहुत अधिक लाभ नहीं होगा। समय का सदुपयोग करें।

तुला: तुला राशि के जातकों के विशेष खर्च होंगे या धन विनियोजन होंगे। इसके कारण नगद की स्थिति थोड़ी कमजोर रहेगी। इस वर्ष में वित्तीय स्थिति सुदृढ़ होगी। व्यावसायिक क्षेत्र का विस्तार, नौकरी में बदलाव और प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों के लिए समय अनुकूल है। आशा से अधिक परिणाम प्राप्त होंगे। समय अच्छा है अतः सक्रिय रहें। मेहनत के अनुरूप लाभ होगा। विदेश से संबंध बढं़ेगे। विदेश क्षेत्रों से कार्य करने वालों के लिए समय अनुकूल है। आपकी शनि की साढ़ेसाती अब समाप्त हो गयी है अतः जो कार्य रूके हुए थे वे कार्य पूर्ण होंगे। साथ ही इस समय में विशेष प्रयास कर नये कार्य प्रारंभ किये जा सकते हैं।

यदि कोई कोर्ट केस चल रहा हो तो निर्णय आपके पक्ष में आने की संभावना है।

वृश्चिक: विदेश यात्राएं संपन्न होंगी। यदि पढ़ाई के लिए विदेश जाना है तो वर्ष उत्तम है। धार्मिक कार्यों में मन लगेगा व धार्मिक यात्राएं भी होंगी। अचल संपत्तियों में धन निवेश करेंगे। घर-परिवार में किसी का विवाह संपन्न होगा। वित्तीय दृष्टि से यह वर्ष अच्छा रहेगा लेकिन खर्च बढ़े रहेंगे। प्राॅपर्टी में निवेश लाभदायक रहेगा।


अपनी कुंडली में सभी दोष की जानकारी पाएं कम्पलीट दोष रिपोर्ट में


बड़े लोगों से संबंध बनेंगे और संबंधों का लाभ मिलेगा। प्रभावशाली लोगों के संपर्क में आने के अवसर मिलेंगे। आपका पिछला वर्ष खराब रहा होगा परंतु 2018 सुख-शांति का रहेगा। उतरती साढ़ेसाती है अतः शनि के उपाय करते रहेंगे तो लाभ मिलेगा। इससे रूकावटें कम आएंगी।

धनु: आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। कार्यों में बाधाएं आ सकती हैं। बड़े धन विनियोजन से बचें। व्यवसाय या नौकरी में बदलाव से पूर्व अच्छी तरह से सोच लें। नई नौकरी मिलने पर ही नौकरी छोडं़े। इसी प्रकार नया व्यवसाय शुरू होने पर ही दूसरा बंद करें नहीं तो दोनों समानांतर चलाएं। पाचनतंत्र और जोड़ांे में दर्द की समस्याएं हो सकती हैं।

शनि के लिए तेल का छाया दान करें और राहु के लिए शिव अभिषेक करें। गुरु आपके लाभ भाव से गोचर कर रहे हैं अतः आर्थिक लाभ होंगे, स्थिरता रहेगी और आर्थिक क्षेत्रों की बाधाएं कम होंगी। मानिसक कष्ट का अनुभव होने पर शनि मंत्र का जाप करें।

मकर: आपकी राशि पर साढ़ेसाती प्रारंभ होने जा रही है। पहला वर्ष अत्यंत दुखदायी हो सकता है।

व्यवसाय का खास ध्यान रखें। 2017 का बीता समय आपके लिए काफी खराब था। इस वर्ष में काफी उतार-चढ़ाव रहे होंगे। आपके सहयोगी आपको धोखा दे सकते हैं। विशेष रूप से हनुमान जी की आराधना करें, इससे यह कष्टकारी समय आसानी से निकल जायेगा। हो सके तो शनि शांति के लिए शनि अनुष्ठान कराएं। केवल आपकी राशि के लिए यह वर्ष सबसे अधिक नकारात्मक रहेगा।

यदि व्यावसायिक परेशानियां आयें तो हनुमान चालीसा व सुंदर कांड का नित्य पाठ करें। साथ ही तेल में अपनी छाया देखकर शनि मंदिर में दान करें। कुंभ: आपके लिए वर्ष 2017 अच्छा ही था लेकिन वर्ष 2018 उससे अधिक अच्छा रहेगा। यह वर्ष स्वास्थ्य और व्यवसाय के लिए अति उत्तम रहेगा। शत्रु पक्ष प्रबल हो सकते हैं।

लेकिन आप उनको पछाड़ते हुए आगे बढ़ते जाएंगे। रूकावटों का मुकाबला करते हुए समय का लाभ उठाएं। छात्रों के लिए समय अच्छा है। धर्म कर्म में आपकी रूचि बढ़ेगी। धार्मिक यात्राएं हो सकती हैं। शारीरिक रूप से आप ऊर्जावान महसूस करेंगे। एकादश शनि आपको तीव्र गति से लाभ देगा। शेयर आदि में भी निवेश कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

मीन: यदि आप नौकरी में बदलाव चाह रहे हैं तो समय उत्तम है।

व्यवसायियों को नया कार्य शुरू करने के अवसर मिलेंगे लेकिन मेहनत अधिक करने पर ही लाभ प्राप्त होगा। विदेश से संबंध बन सकते हैं। विदेश में कार्यरत व्यक्तियों का घर की ओर स्थानांतरण हो सकता है।

घर लेने की योजनाएं संपन्न होंगी या व्यावसायिक कार्यों के लिए संपत्ति में निवेश अनुकूल रहेगा। जिनका विवाह नहीं हुआ है उनका विवाह संपन्न होगा। जीवनसाथी को कार्यक्षेत्र में कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। संतान के इच्छुक दंपत्तियों की कामना पूर्ण होगी। छात्रों के लिए भी समय अच्छा है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

दीपावली विशेषांक  अकतूबर 2017

फ्यूचर समाचार का अक्टूबर का विशेषांक पूर्ण रूप से दीपावली व धन की देवी लक्ष्मी को समर्पित विशेषांक है। इस विशेषांक के माध्यम से आप दीपावली व लक्ष्मी जी पर लिखे हुए ज्ञानवर्धक आलेखों का लाभ ले सकते हैं। इन लेखों के माध्यम से आप, लक्ष्मी को कैसे प्रसन्न करें व धन प्राप्ति के उपाय आदि के बारे में जान सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण लेख जो इस विशेषांक में सम्मिलित किए गये हैं, वह इस प्रकार हैं- व्रत-पर्व, करवा चैथ व्रत, दीपावली एक महान राष्ट्रीय पर्व, दीपावली पर ‘श्री सूक्त’ का विशिष्ट अनुष्ठान, धन प्राप्त करने के अचूक उपाय, दीपावली पर करें सिद्ध विशेष धन समृद्धि प्रदायक मंत्र एवं उपाय, आपका नाम, धन और दिवाली के उपाय, दीपावली पर कैसे करें लक्ष्मी को प्रसन्न, शास्त्रीय धन योग आदि।

सब्सक्राइब


.