Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

ममता, जया और गोगोई के लिए शुभ रहा १३ अंक

ममता, जया और गोगोई के लिए शुभ रहा १३ अंक  

ममता, जया और गोगोई के लिए शुभ रहा 13 अंक अंक गुरु अशोक भाटिया आम तौर पर अशुभ माना जाने वाला अंक 13 ममता बनर्जी, जयललिता और तरुण गोगोई के लिए शुभ रहा। 13 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हुए जो इन नेताओं की किस्मत चमका गए। पश्चिम बंगाल में 34 साल पुरानी कम्युनिस्ट पार्टी के लाल गढ़ को ढहाने वाली ममता के लिए 13 अंक बेहद शुभ रहा। ममता ने अखिल भारतीय तृणमूल कांगेस की स्थापना 1998 में की थी और 13 साल बाद उनकी पार्टी ने विधान सभा चुनाव में जबर्दस्त जीत हासिल की। इसके अलावा अंग्रेजी वर्तनी के अनुसार ममता बनर्जी के नाम में भी 13 अक्षर हैं। साथ ही, उनके लोकप्रिय नारे 'मां, माटी, मानुष' में भी अंग्रेजी वर्तनी के अनुसार 13 अक्षर हैं। तरूण गोगोई ने भी हैटट्रिक मारी और लगातार तीसरी बार असम के मुखयमंत्री बने। यही 13 अंक जयललिता को तमिलनाडु के मुखयमंत्री पद का ताज पहना गया। अंक शास्त्रीय विश्लेषण के अनुसार 1 और 3 को जोड़ें तो 4 होता है जो प्रगति का प्रतीक है। 13 मई, 2011 का मूलांक और भाग्यांक 4 है। अंक 4 वाला यह वर्ष शनिवार को आरंभ हुआ था जिसका अंक 8 है। 4, 6 और 8 अंक के मूलांक व भाग्यांक वालों को इस वर्ष लाभ प्राप्त होगा। ममता बनर्जी का भाग्यांक 8 है, जयललिता का मूलांक 6 है और तरुण गोगोई का भाग्यांक 6 है। इसलिए यह वर्ष इन सबके लिए लाभदायक है। पश्चिम बंगाल का स्थापना दिवस 26 जनवरी, 1950 है। इससे उसका मूलांक 8 है और भाग्यांक 6 है जो ममता के भाग्यांक का मित्र है। इसलिए ममता को वहां लाभ प्राप्त हुआ। वहीं तमिलनाडु का स्थापना दिवस 1 जनवरी, 1956 है जिसका भाग्यांक 6 है जो जयललिता के मूलांक का मित्र है। असम का स्थापना दिवस 26 जनवरी, 1950 है। इससे असम का मूलांक 8 है जो तरुण गोगोई के भाग्यांक का मित्र है। अंक 13 जबर्दस्त ऊर्जा वाला अंक है। इस ऊर्जा को अगर सही चैनल और सिस्टम मिले तो नतीजे बहुत अच्छे मिलते हैं। अंक 13 में वायु तत्व प्रधान है। इसके होने की वजह से इन लोगों के कभी सत्ता में तो कभी बाहर रहने की संभावना रहती है। इस साल शनि काफी अच्छी स्थिति में है। जयललिता को जीत के बाद भी थोड़े कष्ट सहने पड़ सकते हैं। वहीं तरुण गोगोई की कुंडली में शनि स्वग्रही है और अपने परम मित्र शुक्र के साथ बैठा है। इनके बढ़िया योग बन रहे हैं। इससे सिद्ध होता है कि व्यक्ति के जीवन में अंकों का काफी महत्व है। व्यक्ति चाहे जाने-अनजाने में कुछ भी करता है, अंकों का प्रभाव उसके जीवन को अवश्य प्रभावित करता है। मूलांक, भाग्यांक और नामांक का व्यक्ति के जीवन के हर पहलू से संबंध है।

अंको का जीवन मे स्थान  जुलाई 2011

इस विशेषांक में ज्योतिष से संबंधित सारी जिज्ञासाओं का जीवन पर प्रभाव जैसे-नामांक, मूलांक, भाग्यांक का जीवन पर प्रभाव अंकों द्वारा विवाह मेलापक, मकान, वाहन, लॉटरी, कंपनी नाम का चयन कैसे करें के समाधान की कोशिश की गई हैं

सब्सक्राइब

.