नक्षत्रों से आजीविका चयन और बीमारी का अनुमान

नक्षत्रों से आजीविका चयन और बीमारी का अनुमान  

आजीविका चयन का ज्योतिष में प्राचीन और सर्वमान्य नियम यह है कि कर्मेश/दशमेश जिस ग्रह के नवांश घर में हो उस ग्रह के गुण धर्म के अनुसार व्यक्ति की आजीविका होगी। इसके अतिरिक्त ज्योतिष ग्रंथों और वृहत-संहिता खंड-एक के अध्याय 15 में उल्लेख के अनुसार जन्म नक्षत्र और कर्म नक्षत्र के अनुसार आजीविका, व्यापार या सर्विस चुनने में सफलता जल्दी मिलती है। तदनुसार बालक पढ़ाई करें। इनके विषयों की पढ़ाई से सफलता मिलेगी। यहां नक्षत्रों के अनुसार योग्य आजीविका का वर्णन, संक्षेप में किया जा रहा है। (1) अश्विनी नक्षत्र: खिलाड़ी, सेनापति, डाक्टर, वाहन का व्यापार, शिक्षक। इंग्लैंड के प्रिन्स चाल्र्स और श्री अर्जुन सिंह, भू. पू. मंत्री भारत सरकार का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 2. भरणी नक्षत्र: ब्लड बैंक, पैथोलाजिस्ट या अनाज व्यापारी, कार्यालय मैनेजर। अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिन्टन का जन्म नक्षत्र यही है। 3. कृतिका नक्षत्र: फायनेन्स कार्य (बैंकर), बर्तन, क्राकरी व्यापारी, चार्टर्ड अकाउन्टेंट आदि। मंत्री शरद पवार का जन्म नक्षत्र यही है। 4. रोहिणी नक्षत्र: व्यापार, टैªवल एजेन्सी, पायलट, किसान, खनिज व्यापार, डेयरी संचालक, विज्ञान प्रोफेसर। रूस के भू. पू. राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन का जन्म नक्षत्र यही था। 5. मृगशिरा नक्षत्र: कपड़ा व्यापार, संगीतज्ञ, आफिस कार्य, जेलर, साफ्टवये र इजं ीनियर, अधिकारी-जज। श्री दलाई लाला का जन्म इसी नक्षत्र का है। 6. आद्र्रा नक्षत्र: पुलिस विभाग, वकील, राजनेता, दवाई व्यापार, डाॅक्टर। 7. पुनर्वसु नक्षत्र: अभिनेता, चित्रकार, माडल, फैन्सी वस्तु व्यापार, ईमानदार, धार्मिक नेता, फायनेन्स मैनेजर-बैंकर/मैनेजर। 8. पुष्य नक्षत्र: गेहूं, चावल, किराना व्यापार, राजनीति, पानी के व्यापारी, इंजीनियर तेल/लोहा प्रोडक्शन-व्यापार, सर्जन डाॅक्टर, फायनेन्स 9. अश्लेषा नक्षत्र: आयुर्वेद डाक्टर, दवा व्यापार, आर्टीफीशियल चीजों का व्यापार, डाक्टर, गायक जैसे: लता मंगेशकर का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था, इंग्लैंड की महारानी एलीजाबेथ और प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह, फायनेन्स एक्सपर्ट का जन्म भी इसी नक्षत्र में हुआ था। 10. मघा नक्षत्र: व्यापार, मिलिट्री सर्विस, पुलिस सर्विस, बड़े शहर में व्यापार- इलेक्ट्रानिक वस्तुओं का व्यापार। मंगलम बिड़ला-व्यवसाय, फिल्म लाईन- धर्मेंद्र अभिनेता और पूर्व क्रिकेटर अजहरुद्दीन, गृहमंत्री पी. चिदंबरम का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 11. पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र: अभिनेता, संगीतकार, तेल व कपड़ा व्यापार, फैन्सी अंडरगारमेन्ट का व्यापार, बुटिक व्यापार-फिल्म अभिनेता राजेश खन्ना और दिलीप कुमार का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ, खिलाड़ी पी.टीऊष् भी इसी नक्षत्र की देन है। 12. उत्तरा फालगुनी नक्षत्र: अधिकारी वर्ग- आई. ए. एस आदि, अच्छे राजनेता, अनाज व्यापार, डेयरी व्यवसाय, धार्मिक गुरु। श्री मुरारी बापू का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 1 3 . ह स्त नक्ष्त्र: वहन प्रडक्श्न/व्यापार रजनेता , अभिनेता, कमीशन एजेन्ट, अकाउंट्स लाईन-प्रोपर्टी डीलर, बिल्डर। प्रमोद महाजन पूर्व मंत्री और भू. पू. मुख्य मंत्री मायावती का जन्म इसी नक्षत्र का है। 14. चित्रा नक्षत्र: ज्वेलर, फैशन डिजाइनर, गायक-संगीतकार, चार्टर्ड अकाउन्टेंट, वकील, फायनेन्स मैनेजर, सेल में अधिकारी। प्रसिद्ध वकील डाॅ. सुब्रमनियम स्वामी का जन्म नक्षत्र यही है। 15. स्वाति नक्षत्र: वाहन व्यापार, होटल-रेस्टोरेंट व्यापार, कान्टैªक्टर, हाटे ल-मैनजे मटंकार्से , शयेर व्यापार। फिल्म कलाकार अमिताभ बच्चन का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था, प्रसिद्ध वकील राम जठे मलानी का जन्म नक्षत्र भी यही है। 16. विशाखा नक्षत्र: कपड़ा मन्यफुक्चर, वाहन मन्यफक्चर, व्यापार, फायनेंस मैनेजर, बैंक सर्विस, चना/ उड़द, तिलहन, विदेश व्यापार, एडवोकेट, न्यायाधीश। आर. पीगोय नका और रतन टाटा का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 17. अनुराधा नक्षत्र: मिलिट्री, पुलस सर्विस, आई. पी. एस अधिकारी, आर्मी में कैप्टन, मेजर, राजनेता, टैªवल एजेंट, ऐंकर। पूर्व पुलिस अधिकारी किरन बेदी और क्रिकेटर कपिल देव का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था, प्रियंका गांधी भी इसी नक्षत्र में जन्मी थी। 18. ज्येष्ठा नक्षत्र: वकील, मिलिट्री, पुलिस अधिकारी, खानदानी व्यवसाय, म्यूजक एक्सपटर्, डये री का व्यवसाय। क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का जन्म नक्षत्र यही है। 19. मूल नक्षत्र: डाक्टर, दवाई, व्यापार, फल व्यवसाय, खेती से लाभ। इलेक्ट्रानिक वस्तुओं का व्यापार। 20. पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र: इंजीनियर, डेयरी व्यवसाय, संगीतज्ञ, अधिकारी। अरविंद, मफतलाल, धीरूभाई अंबानी जैस बड़े व्यवसायी का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. शंकरदयाल शर्मा भी इसी नक्षत्र में जन्मे थे। 21. उत्तराषाढ़ा नक्षत्र: राजनेता, पहलवान, ट्रासं पार्टे व्यवसाय, वनस्पति प्रोफेसर, फारेस्ट आफिसर। क्रिकेटर सुनील गावस्कर का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 22. श्रवण नक्षत्र: उद्योगपति, धार्मिक, सोशल संस्थाओं का लीडर या इन वस्तुओं का व्यापार। फिल्म अभिनेता रजनीकांत, शाहरूख खान, शत्रुघ्न सिन्हा और मेधा पाटकर, समाजसेवी का जन्म इस नक्षत्र में हुआ था। 23. धनिष्ठा: मिलिट्री सर्विस, लोहे का व्यापार, पुलिस सर्विस। अभिनेता सुनील दत्त का जन्म नक्षत्र यही है। 24. शतभिषा: डेयरी व्यवसाय, इंजीनियर, इलेक्ट्रानिक वस्तुओं का व्यापार। इंग्लैंड की प्रिंसेस डायना का जन्म नक्षत्र भी यही था। 25. पूर्वा भाद्रपद - धार्मिक नेता, प्रोफेसर, शिक्षा विभाग में कार्य, फिल्म अभिनेता। फिल्म अभिनेत्री रेखा का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 26. उत्तरा भाद्रपद - ज्वेलर, अधिकारी, प्रोफेसर, वकील, फिल्म कलाकार। हेमामालिनी और माधुरी दीक्षित का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था तथा बिल गटे ्स, अमेि रकी कप्ं यटू र साॅफ्ट वेयर के मालिक का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। 27. रेवती नक्षत्र - परफ्यूम व्यापार, रत्न व्यवसाय, फिल्म कलाकार। देवानंद, फिल्म अभिनेता तथा मेनका गांधी, पूर्व मंत्री और अरूण शौरी, पूर्व मंत्री का जन्म इसी नक्षत्र में हुआ था। भाग्येश जिस नक्षत्र में होता है वह आजीविका चयन में मुख्य होता है। इसी प्रकार दशम स्थान की राशि जिस नक्षत्र में होती है वह भी व्यवसाय/सर्विस की कारक होती है। ज्यातष शास्त्र म भगवान श्री विष्णु के शरीर के अंगों पर नक्षत्रों की उत्पत्ति वर्णित है। भगवान ने उन्हें उत्पन्न करके अपने ही शरीर के विभिन्न अंगों में उनके निवास में स्थान दिया। वेद-पुराणों में यह भी वर्णन आया है कि राजा दक्ष प्रजापति की सत्ताईस कन्याएं थीं। वही हमारे नक्षत्र हैं। उन सत्ताईस कन्याओं का विवाह चंद्रमा से किया गया था। चंद्रमा प्रति दिन प्रत्येक नक्षत्र पत्नी के घर रहता आया है। आज भी चंद्रमा प्रत्येक नक्षत्र पर इसी प्रकार भ्रमण करता है।


नक्षत्र विशेषांक  फ़रवरी 2013

फ्यूचर समाचार पत्रिका के नक्षत्र विशेषांक में नक्षत्र, नक्षत्र का ज्योतिषीय विवरण, नक्षत्र राशियां और ग्रहों का परस्पर संबंध, नक्षत्रों का महत्व, योगों में नक्षत्रों की भूमिका, नक्षत्र के द्वारा जन्मफल, नक्षत्रों से आजीविका चयन और बीमारी का अनुमान, गंडमूल संज्ञक नक्षत्र आदि ज्ञानवर्धक आलेख सम्मिलित किए गए हैं। इसके अतिरिक्त हिंदू मान्यताओं का वैज्ञानिक आधार, वास्तु परामर्श, वास्तु प्रश्नोतरी, यंत्र समीक्षा/मंत्र ज्ञान, गुण जेनेटिक कोड की तरह है, दामिनी का भारत, तारापीठ, महाकुंभ का महात्म्य, लालकिताब के टोटके, लघु कथाएं, जसपाल भट्टी की जीवनकथा, बच्चों को सफल बनाने के सूत्र, अंक ज्योतिष के रहस्य, मन का कैंसर और उपचार व हस्तरेखा आदि विषयों पर गहन चर्चा की गई है। विचारगोष्ठी में वास्तु एवं ज्योतिष नामक विषय पर चर्चा अत्यंत रोचक है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.