ज्योतिषीय व वास्तु उपायों का संबंध

अकतूबर 2010

व्यूस: 6638

प्रत्येक व्यक्ति में यह स्वभाविक इच्छा होती है कि मैं सदा सुखी, धनी व स्वस्थ रहूं। जब उसकी किसी भी इच्छा की पूर्ति नहीं होती तो वह विचलित हो जाता है। अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए वह ज्योतिषीय वास्तु उपायों का सहारा लेता है।... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायवास्तुसुखगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

कुछ उपयोगी टोटक

मई 2014

व्यूस: 6245

छोटे-छोटे उपाय हर घर में लोग जानते हैं, पर उनकी विधिवत् जानकारी के अभाव में वे उनके लाभ से वंचित रह जाते हैं। इस लोकप्रिय स्तंभ में उपयोगी टोटकों की विधिवत् जानकारी दी जा रही है।... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायविवाहसफलताटोटकेसंपत्ति

धन, पद और प्रतिष्ठा की हानि : कब और क्यों ?

जनवरी 2010

व्यूस: 6205

इस आलेख में लेखक ने अपनी प्रभावशाली कलम से उन योगों और दशाओं का विस्तृत वर्णन किया है जिनके कारण जातक के धन, पद व यश की हानि होती है।... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगदशाकुंडली व्याख्याघरग्रहभविष्यवाणी तकनीकव्यवसायगोचरसंपत्ति

वास्तु से संवारे अपना कैरियर

अप्रैल 2010

व्यूस: 5535

आजकल की तेज तर्रार जिंदगी में प्रत्येक माता-पिता अपने बच्चों के कैरियर के प्रति इतने सजग हो गए हैं कि, जैसे ही उनका लड़का या लड़की 10 वीं पास करते हैं वह उसके कैरियर के लिए ऐसी राहें तलाद्गाने लगते हैं कि, जिससे की उनके बच्चे को अच्... और पढ़ें

स्वास्थ्यवास्तुसुखगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारव्यवसायसंपत्ति

व्यापार वृद्धि एवं आर्थिक समृद्धि के टोटके

नवेम्बर 2015

व्यूस: 5488

1. व्यापार वृद्धि के लिए शनिवार को छोड़कर किसी भी दिन एक पीपल का पत्ता लेकर गंगाजल से धोकर, उस पर तीन बार ‘ऊँ’ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ लिख कर, पत्ते को पूजा स्थल पर रख लें, उसकी आराधना करें। नित्य धूप, अगरबत्ती की धूनी दें,... और पढ़ें

देवी और देवउपायटोटकेसंपत्ति

लक्ष्मी को प्रसन्न करने के अद्वितीय सूत्र

नवेम्बर 2014

व्यूस: 5446

दीपावली महापर्व है। अनेक संप्रदायों के लोग इस पर्व पर धन प्राप्ति हेतु लक्ष्मी की साधना करते हैं। धन त्रयोदशी से लेकर भैया दूज तक पांच दिन चलने वाला यह पर्व मां लक्ष्मी की शाश्वत कृपा प्राप्ति के लिए मनाया जाता है।... और पढ़ें

देवी और देवउपायपर्व/व्रतसंपत्ति

धनी व ऐश्वर्यशाली जीवन का राज छुपा है हस्तरेखाओं में

जुलाई 2008

व्यूस: 5399

भारतीय दर्शन में अध्यात्म और भौतिकता दोनों का समावेश है। इस दर्शन में कई ऋषियों ने आत्मा को प्रमुखता दी है, लेकिन चर्वाक जैसे ज्ञानी ने भौतिकवाद को महत्वपूर्ण माना। उनका कहना था कि धन ही जीवन का सबसे प्रमुख घटक है, बाकी सब कोरा है... और पढ़ें

हस्तरेखा शास्रभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

श्री यंत्र का आध्यात्मिक स्वरूप

जुलाई 2013

व्यूस: 5121

पूर्ण विधान से श्री यंत्र का पूजन जो एक बार भी कर ले, वह दिव्य देहधारी हो जाता है। दत्तात्रेय ऋषि एवं दुर्वासा ऋषि ने भी श्री यंत्र को मोक्षदाता माना है। इसका मुख्य कारण यह है कि मनुष्य शरीर की भांति, श्री यंत्र में भी 9 चक्र होते... और पढ़ें

उपायअध्यात्म, धर्म आदिसंपत्तियंत्र

वास्तु सम्मत अस्पताल

अकतूबर 2010

व्यूस: 4724

अस्पताल एक ऐसा स्थल है जो समाज के लिए स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करता है। अतः ऐसे संस्थान का निर्माण वास्तु के नियमों के अनुसार होना चाहिए जिससे बीमार व्यक्ति यथाशीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकें। इससे डॉक्टर और मरीज दोनों को लाभ ह... और पढ़ें

स्वास्थ्यवास्तुभवनसुखव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

लक्ष्मी कृपा के ज्योतिषीय आधार

नवेम्बर 2013

व्यूस: 4641

दीपावली महापर्व की परंपरा कब से प्रारंभ हुई है यह बताना व जानना प्रायः दुष्कर है इस दीपावली पर्व परंपरा का इतिहास अलग-अलग ढंग से प्राप्त होता है। हमारी भारतीय संस्कृति वेद प्रधान है। वेदों को लेकर पौराणिक साहित्य में ब्रह्म की चर्... और पढ़ें

ज्योतिषदेवी और देवसंपत्तियंत्र

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)