नक्षत्रों से आजीविका चयन और बीमारी का अनुमान

फ़रवरी 2013

व्यूस: 9463

आजीविका चयन का ज्योतिष में प्राचीन और सर्वमान्य नियम यह है की कर्मेश / दशमेश जिस ग्रह के नवांश घर में हो उस ग्रह के गुण धर्म के अनुसार व्यक्ति की आजीविका होगी। इसके अतिरिक्त ज्योतिष ग्रंथों और वृहत संहिता खंड एक के अनुसार १५ में उ... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यनक्षत्रभविष्यवाणी तकनीकव्यवसाय

ज्योतिष, वास्तु के माध्यम से रोग एवं ग्रह चिकित्सा

जनवरी 2006

व्यूस: 9265

ज्योतिष के माध्यम से रोग की प्रकृति, उसका प्रभाव तथा उसके कारणों का विश्लेषण किया जा सकता है। ज्योतिष और आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का गहरा संबंध रहा है। प्राचीन काल में वैद्यों को चिकित्सा पद्धति के साथ-साथ ज्योतिष विज्ञान का अध्य... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यवास्तुविविध

स्वास्थ्य ही धन है

अकतूबर 2008

व्यूस: 9052

स्वास्थ्य ही धन है -यह बात बचपन से ही हम अपने बुजुर्गों से सुनते आए हैं। ये सर्वथा उचित भी प्रतीत होता है। क्योंकि स्वस्थ शरीर ही स्वस्थ कार्य कर सकता है। जीवन में हस्तरेखाओं के अध्ययन, मनन एवं चिंतन करने का काफी सुअवसर मिला और ... और पढ़ें

स्वास्थ्यहस्तरेखा शास्रभविष्यवाणी तकनीक

डेंगू का रामबाण इलाज- गिलोय

अकतूबर 2010

व्यूस: 8564

गिलोय एक बहुत ही चमत्कारी औषधि है। इसे अमृता, गुर्च या छिन्नरूहा भी कहते हैं क्योंकि यह आत्मा तक को कंपकंपा देने वाले मलेरिया को भी छिन्न-भिन्न कर देती है।... और पढ़ें

स्वास्थ्यविविध

ब्राह्मी: बुद्धिवर्द्धक औषधि

नवेम्बर 2014

व्यूस: 8457

बुद्धिवर्द्धक होने के कारण उसे ब्राह्मी नाम दिया गया है। इसे जलबिम्ब भी कहते हैं क्योंकि यह प्रधानतः जलासन्न भूमि में पाई जाती है। संस्कृत में इसे मण्डूकपर्णी कहते हैं। ब्राह्मी के अन्य नामों में कपोतवंका, सोमवल्ली, सरस्व... और पढ़ें

स्वास्थ्यविविध

बालारिष्ट योग (आयु निर्णय)

अकतूबर 2012

व्यूस: 8440

बच्चे तथा उसके माता-पिता द्वारा किए गए पूर्व जन्म के दुष्कृत्यों से संचित शिशु की जन्मकालिक क्रूर ग्रह स्थिति आदि को रिष्ट या अरिष्ट कहा गया है। रिष्ट तथा अरिष्ट का अर्थ शब्दकोश के अनुसार शुभ और अशुभ है, किंतु आयु निर्णय में इसका ... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यकुंडली व्याख्याघरचिकित्सा ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीक

भवन निर्माण में शल्य निष्कासन

अकतूबर 2013

व्यूस: 8417

वेद सर्वविध ज्ञान और विज्ञान के प्राप्ति स्थान हैं। सभी प्रकार की विधाओं का उद्भव वेदों से ही हुआ है। वेद से अभिप्राय संपूर्ण वैदिक साहित्य से है। इसमें न केवल ऋक, यजु, साम और अथर्ववेद ही है अपितु शिक्षा, कल्प, व्याकरण, निरूक्त, छ... और पढ़ें

स्वास्थ्यवास्तुगृह वास्तुभूमि चयनव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

एड्स

मार्च 2010

व्यूस: 8383

‘एडस' एक लाइलाज बीमारी है जो विश्व के लिए एक चुनौती बनी हुई है। चिकित्सा विज्ञान को अभी तक इस बीमारी पर सफलता प्राप्त नहीं हुई है। आइए प्रस्तुत लेख द्वारा एडस के लक्षण, निदान, विभिन्न लग्नों में एड्स रोग की संभावना और उनके कारणों ... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायराशि

कुछ उपयोगी टोटके

अप्रैल 2013

व्यूस: 8074

शरीर की थकावट दूर करने के लिए - जो पैश्रम बहुत करते है तथा काफी यात्रा करते रहते है उनको चाहिए की सर्दियों में गर्म गुनगुने पानी से पैरों को धोकर कपडे से पोंछ कर सो जायें।... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायटोटके

शनि का सिंह राशि में प्रवेश : शुभ या अशुभ

जुलाई 2007

व्यूस: 8060

शनि १५ जुलाई २००७ को २८ बजकर ४५ मिनट पर कर्क से सिंह राशि में प्रवेश कर रहा है और ९ सितम्बर २००९ तक इसी राशि में रहेगा। कर्क राशि में अधिकांशत: शनि ने मानसिक कष्ट एवं तनावयुक्त वातावरण रखा। जिन किन्हीं जातकों की साढ़ेसाती... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगभविष्यवाणी तकनीक

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)