कालसर्प एवं द्वादश ज्योतिर्लिंग

मार्च 2013

व्यूस: 12509

कालसर्प योग की जन्मांग में उपस्थिति मात्र से जनसामान्य के मन में आतंक और भय की भावना उदित हो जाती हैं। कालसर्प योग से पीड़ित जन्मांग वाले जातकों का संपूर्ण जीवन अभाव अनवरत अवरोध, निरंतर असफलता, संतानहीनता, वैवाहिक जीवन में अनेक कष... और पढ़ें

ज्योतिषदेवी और देवस्थानउपायज्योतिषीय योगरत्नघरलाल किताबमंत्रग्रहमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

लक्ष्मी प्राप्ति के सरल उपाय

अकतूबर 2014

व्यूस: 12494

करें लक्ष्मी जी को प्रसन्न यदि आपकी जन्मपत्रिका में धन योग लक्ष्मी योग कमजोर है, हमेशा आर्थिक समस्याएं बनी रहती हैं और हमेशा शिकायत रहती है कि हमने तो इतने सारे उपाय किये कुछ नहीं हुआ इसका अर्थ है कि आपके पूर्व जन्मान... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रतसंपत्ति

बांसवाड़ा का प्राचीन माँ त्रिपुरा सुंदरी मंदिर

दिसम्बर 2014

व्यूस: 12493

वाग्वर शक्ति पीठ मां त्रिपुरा सुंदरी का यह सुरम्य स्थल ‘तरताई माता’ (तुरंत फल देने वाली माता) के नाम से विख्यात है। माँ त्रिपुरा तुरंत फल देने वाली ‘तरताई माता’ के रूप में अपने कई भक्तजनों को अपना शुभाशीर्वाद देकर लाभान्वित कर च... और पढ़ें

देवी और देवस्थानमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

धनदायक अचूक उपाय

नवेम्बर 2014

व्यूस: 12471

धनदायक अचूक उपाय

संजय बुद्धिराजा

पुराणों में लिखित दीपावली की रात के अन्य नाम हैं - दिव्यरजनी, महानिशा, कालरात्रि, महाकृष्णा। ये रात तंत्र, मंत्र, साधना हेतु अति उत्तम रात हंै। वैसे तो दीपावली का पूर्ण दिन ही विभिन्न प्रकार की साधनाओं व उपासनाओं के लिये अति उतम... और पढ़ें

देवी और देवउपायपर्व/व्रतसंपत्ति

धन प्राप्ति

अकतूबर 2014

व्यूस: 12312

धन प्राप्ति

फ्यूचर पाॅइन्ट

प्रश्न: धन, संपत्ति एवं वैभव प्राप्त करने हेतु ज्योतिष, वास्तु एवं तंत्र-मंत्र के अनुभूत एवं कारगर उपायों का विस्तारपूर्वक वर्णन करें?... और पढ़ें

देवी और देवउपाययंत्र

शाबर मंत्र: परिचय

जुलाई 2014

व्यूस: 12119

शाबर मंत्र: परिचय

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

शाबर मंत्र आम ग्रामीण बोल-चाल की भाषा में ऐसे अचूक एवं स्वयंसिद्ध मंत्र हैं जिनका प्रभाव अचूक होता है। शाबर मंत्र शास्त्रीय मंत्रों की भांति कठिन नहीं होते तथा ये हर वर्ग एवं हर व्यक्ति के लिए प्रभावशाली हैं जो भी इन... और पढ़ें

ज्योतिषदेवी और देवमंत्र

भगवत प्राप्ति का सहज साधन

फ़रवरी 2011

व्यूस: 11993

भगवत प्राप्ति के लिए चाहिए भगवान से मिलने की ललक और उसे पाने की रीति है- भक्ति जिसका अर्थ है भगवान की उपासना, सेवा और शरण्यता। प्राप्ति साधनों के विस्तार का उल्लेख किया गया है इस लेख में।... और पढ़ें

देवी और देवविविध

दश महाविद्या

अकतूबर 2010

व्यूस: 11895

दश महाविद्या

फ्यूचर पाॅइन्ट

आद्याशक्ति की उपासना ग्रहों के अनिष्ट परिणामों से रक्षा कर सकती है। सभी लोगों विशेषकर ज्योतिष फलादेश देने वालों को तो शक्ति उपासना बहुत शक्ति प्रदान करती है। महाकाली, महासरस्वती, महालक्ष्मी, नवदुर्गा, दशविद्या, गायत्री अनेक रूपों ... और पढ़ें

देवी और देवविविध

मौन व्रत

आगस्त 2010

व्यूस: 11746

मौन व्रत

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

मौन व्रत अपने आप में अनूठा व्रत है। इस व्रत का प्रभावी दीर्घगामी होता है। प्राचीन समय में हमारे ऋषि-मुनि मौन व्रत तथा सत्य भाषण के कारण ही वाक् सिद्ध थे। वाणी की कर्कशता दूर करने का सरल उपाय... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

गौऊ माहात्म्य

मार्च 2013

व्यूस: 11457

गौऊ माहात्म्य

श्रीकृष्ण शर्मा

ज्योतिष में गौऊ महिमा- ज्योतिष में गोधूली का समय विवाह के लिए सर्वोत्तम माना जाता हैं। यदि यात्रा के प्रारम्भ में गाय सामने पड़ जाये अथवा बछड़े को दूध पिलाती हुई सामने दीख जाये तो यात्रा सफल हो जाती हैं।... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदि

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)