कहीं आपके घर की सीढ़ियां तो आपकी परेशानियों का कारण नहीं?

Vastu tips for Stairs: घर में सीढ़ियां बनवाते वक्त वास्तु के सिद्धांतों को हर हाल में अपनाएं। घर के इस हिस्से को अधिकतर नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है जबकि पूरे घर की समृद्धि में यह महत्वपूर्ण भाग निभाती है।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु के सुझाव

जून 2022

व्यूस: 1969

वास्तु सीखें

वास्तु सीखें

प्रमोद कुमार सिन्हा

प्रश्न- भवन में पूर्व दिशा का क्या महत्व है? उŸार- वास्तु शास्त्र का मुख्य आधार ज्योतिष शास्त्र है। जिस प्रकार ग्रहों के अनुकूल और प्रतिकूल प्रभाव मानव जीवन पर पड़ते हंै उसी प्रकार ग्रह अपने शुभ और अशुभ प्रभाव से वास्तु की दिशाओं क... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जनवरी 2012

व्यूस: 3829

औद्योगिक संस्थान एवं फैक्ट्री

उद्योग किसी भी राष्ट्र की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होते हैं। औद्योगिक प्रगति से न सिर्फ किसी देश की आर्थिक स्थिति का पता चलता है वरन् उद्योग लाखों लोगों की आजीविका के साधन भी होते हैं। मालिक, कामगार एवं अन्य स्टाफ की समृद्धि उद्योग की ... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

अप्रैल 2015

व्यूस: 3787

वास्तु के अनुसार होटल रेस्तरां एवं रिसोर्ट

वर्तमान समय में होटल व्यवसाय में काफी तेजी से प्रगति हुई हैं। होटल, रेस्तरां या रिसोर्ट का उपयोग शहरी जीवन शैली का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुका हैं।... और पढ़ें

वास्तुभवन

जनवरी 2013

व्यूस: 3373

मंदिर के पास घर का निषेध क्यों?

वातावरण में सूक्ष्म तरंगे विद्यमान रहती हैं। व्यक्ति जिस प्रकार का आचार, विचार एवं व्यवहार करता है, उसके चारों तरफ उसी प्रकार का वातावरण बनता है। यह वातावरण अपने माध्यम से व्यक्ति को कभी उत्साह और कभी उमंग के रूप में महसूस होता है... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

मार्च 2006

व्यूस: 4431

वास्तु का स्वास्थ्य पर प्रभाव

कुछ समय पूर्व पं. जी श्री मनोहर सेठ के घर वास्तु निरीक्षण के लिये गये। वहां पर उनसे बातचीत करते हुए पता चला कि पिछले कुछ समय से वे काफी परेशान हैं। घर के सभी सदस्यों में तनाव रहता है, कर्यालय में भी वरिष्ठ अधिकारियों से मन-मुटाव र... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

मई 2015

व्यूस: 3805

वास्तु सम्मत भवन

वास्तु सम्मत भवन

गोपाल शर्मा

कुछ समय पहले पंडित जी का अमेरिका के टेक्सास राज्य की राजधानी ह्यूस्टन में जाना हुआ। वहां एक परफ्यूम व्यापारी श्री रफीक मैहराली के आग्रह पर उनके घर जाने पर पता चला कि जब से वह इस फ्लैट में आये हैं... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जुलाई 2015

व्यूस: 3799

फैक्ट्री के आग्नेय कोण का कटना उत्पादन एवं धन की समस्या

कुछ समय पहले पंड़ित जी को नरेला इंड्रस्ट्रियल एरिया में सचदेवा जी द्वारा बुलाया गया, उनकी फैक्ट्री भरसक प्रयत्न के बावजूद ठीक नहीं चल रही थी। इन्जेक्शन माॅल्डिंग की सारी भारी मशीनें बेसमेन्ट में लगी थीं तथा ग्राउंड फ्लोर पर पैकिंग ... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

अप्रैल 2015

व्यूस: 3825

पूर्व/उत्तर-पूर्व में वास्तु दोष

हाल ही में पंडित गोपाल शर्मा जी कलकत्ता के एक प्रसिद्ध प्रकाशक के बंगले का वास्तु निरीक्षण करने गए। निरीक्षण करते समय उन्होंने पंडित जी को बताया कि व्यापार में पैसे की कमी नहीं है... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जुलाई 2011

व्यूस: 3967

रत्नदीप स्थापना

रत्नदीप स्थापना

सतीश उपाध्याय

भवन निर्माण पूर्णतः वास्तु शास्त्र सम्मत हो ऐसा संभव नहीं हो सकता। वास्तु में कुछ न कुछ दोष अवश्य ही रह जाता है। जो शास्त्रों के सूत्रों में बतलाया गया है उस प्रकार बदलाव अवश्य करवायें और कुछ बदलाव संभव नहीं हो पाये, तो या नहीं कर... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु के सुझाव

नवेम्बर 2017

व्यूस: 6652

वास्तु सीखें

वास्तु सीखें

प्रमोद कुमार सिन्हा

डाइनिंग रूम पश्चिम दिशा में सबसे अच्छा माना जाता है। दूसरा अच्छा स्थान उत्तर एवं पूर्व दिशा को माना जाता है। अगर रसोईघर दक्षिण-पूर्व में हो तो भोजन कक्ष रसोईघर के पूर्व या दक्षिण की ओर बनाएं।... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 3665

वशिष्ठ संहिता के अनुसार अध्ययन कक्ष पश्चिम में प्रशस्त क्यों?

मनुष्य के जीवन में अध्ययन का विशेष महत्व है। अध्ययन की विशेषता यह है कि यह बुद्धि के कोष को ज्ञान से युक्त करता है। ज्ञान व्यक्ति को सद् एवं असद् में जो भिन्नता है, उससे परिचित कराता है। वास्तुशास्त्र के आर्षग्रंथों में वृहत् संहि... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

नवेम्बर 2015

व्यूस: 4699

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)