आग्नेयकोण (दक्षिण-पूर्व) में रसोईघर क्यों

भोजन जीवन की मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है। भोजन पंचमहाभूतों से बने प्राणी को ऊर्जा प्रदान करता है। भोजन जितना अच्छे वातावरण में तैयार किया जाता है उसका लाभ उतना ही मनुष्य को प्राप्त होता है। अग्नि भोजन को पकाने में सहायक ... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जून 2006

व्यूस: 2407

नैर्ऋत्य (दक्षिण-पश्चिम) में भारी निर्माण क्यों

प्रकृति के अंदर दो प्रकार की शक्तियां पायी जाती हैं, एक है सकारात्मक तथा दूसरी है नकारात्मक। इनमें से व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि प्राप्त करने में सकारात्मक शक्ति सहायता करती है। इसके विपरीत नकारात्मक शक्ति व्यक्ति के अं... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जुलाई 2006

व्यूस: 2422

गया शहर का वास्तु

गया शहर का वास्तु

प्रमोद कुमार सिन्हा

शक्तिशाली एवं समृद्ध शहरों की उन्नति के कारणों का जब हम अध्ययन करते हैं तो पाते हैं कि उन शहरों का निर्माण वास्तु के सिद्धांतों के अनुरूप है। अतः किसी भी राष्ट्र, शहर या प्रांत के विकास एवं प्रगति में उसके वास्तु का अनुक... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

फ़रवरी 2015

व्यूस: 2519

ईशान में पूजाघर क्यों

ईशान में पूजाघर क्यों

रश्मि चतुर्वेदी

भारतीय संस्कृति में नियमित पूजा करने का विधान है। पूजा करने से व्यक्ति के मन एवं मस्तिष्क दोनों ही एकाग्र होते हैं। जीवन में रचनात्मक विकास के लिए मानसिक संतुलन अत्यावश्यक है। व्यक्ति के मस्तिष्क में विचारों का प्रवाह लगातार... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

मई 2006

व्यूस: 2391

शयन की दिशा का वैज्ञानिक आधार

दिन भर की थकान के बाद दो घड़ी अच्छी नींद की चाह सभी को होती है, आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में समय से सोना भले ही मुश्किल हो लेकिन सही दिशा का चयन कर अच्छी नींद ली जा सकती है। नींद आने में कौन से कारक प्रभावी होते हैं, जानने के लिए... और पढ़ें

वास्तुग्रहवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

दिसम्बर 2006

व्यूस: 2431

व्यावसायिक वास्तु दोष एवं उपाय

फैक्ट्री, दुकान या कार्यालय या सार्वजनिक स्थल जैसे बैंक, अस्पताल, मंदिर, रेलवे स्टेशन, सिनेमा हाॅल, रेस्टोरेंट आदि व्यावसायिक वास्तु के अंतर्गत आते हैं। इन स्थानों का प्रमुख उद्देश्य धन कमाना या समाज की सेवा करना होता है। व्याव... और पढ़ें

उपायवास्तुहस्तरेखा सिद्धान्तवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

दिसम्बर 2016

व्यूस: 2573

पूर्व दिशा में स्थित गृह/भूखंड

वास्तु में दिशाएं सबसे महत्वपूर्ण विषय हैं। बिना दिशाओं को जाने हुए हम वास्तु सि(ांतों के आधर पर किसी मकान, भवन आदि के दोषों का पता नहीं लगा सकते। दिशाएं मनुष्य के शरीर में हृदय की तरह हैं। हृदय मनुष्य के शरीर का सबसे महत्वपूर्ण... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

जून 2016

व्यूस: 2485

वास्तु दोष से बढ़ता है कर्ज

कई बार कर्ज पर कर्ज चढ़ता जाता है और जीवन में तनाव घिर आता है, ऐसा वास्तु दोष के कारण भी संभव है। यदि छोटे-छोटे उपाय कर लिए जाएं तो कर्ज के बोझ को कम किया जा सकता है, कैसे आइए जानें...... और पढ़ें

वास्तुहस्तरेखा सिद्धान्तवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

दिसम्बर 2006

व्यूस: 2473

वास्तु सम्मत प्लाॅट

प्रश्नः- पंडित जी नमस्कार ! मैं एक प्लाॅट का नक्शा संलग्न कर रहा हूँ। इसमें एक कुआं है तथा पुराना घर भी बना हुआ है। अभी कुछ साल तक मैं इस घर को ऐसे ही रखना चाहता हूँ, फिर तोड़ कर बनायेंगे। कृप्या बतायें कि क्या मैं यह प्लाॅट खरीद स... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

अप्रैल 2016

व्यूस: 2418

ईशान का कटाव - धन व स्वास्थ्य का रिसाव

पिछले दिनों पंडित जी ग्रीन पार्क एक्सटेन्शन, दिल्ली में वास्तु निरीक्षण के लिये गये। वहाँ कोठी का पुनः निर्माण हो रहा था। वहाँ पहुँचने पर घर के मालिक ने बताया कि जब से इस इमारत का निर्माण शुरु किया है तब से ही पंैसे की तंगी हो... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

दिसम्बर 2015

व्यूस: 2444

परिवार के मुखिया का शयन कक्ष दक्षिण में क्यों?

ब्रह्मांड का संचालन करने वाली प्रकृति अपने उदयकाल से लेकर आज तक एक अनुशासनबद्ध तरीके से गतिमान है। इसी प्रकार की अनुशासित दिनचर्या वैदिक ऋषियों ने मनुष्य के लिए बनाई थी, जिसमें प्रातः काल जगने से लेकर सोने तक का समय निर्धार... और पढ़ें

वास्तुभविष्यवाणी तकनीकवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएंवास्तु के सुझाव

अकतूबर 2006

व्यूस: 2571

उत्तर-पश्चिम बढ़ने के दुष्परिणाम

कुछ समय पूर्व पं. जी ने कानपुर के श्री नारायण तिवारी जी के घर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई मुख्य वास्तु दोष सामने आये। विजय जी का कहना था कि इस घर में आने के बाद उनकी आर्थिक स्थिति खराब रहने लगी है। पैसों की तंगी हम... और पढ़ें

वास्तुवास्तु परामर्शवास्तु दोष निवारणवास्तु पुरुष एवं दिशाएं

सितम्बर 2015

व्यूस: 2567

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope